Icecream खाकर आप भी बन सकते हैं करोड़पति, हो जायेंगे मालामाल

ज़रूर पढ़ें

Typing बहुत स्लो होने लगी और बाद में इसपर विचार किया गया और फिर कई लोगों ने Typing स्पीड बढ़ाने के लिए कुछ न कुछ प्रयोग किए, लेकिन सबसे सफल मॉडल QWERTY के रूप में ही सामने आया

जानिए बाज को कैसे मिलती है दो जिंदगियां? कीबोर्ड में ए बी सी दी क्यूं होते हैं उलटे पुल्टे? और आइस्क्रीम टेस्ट करके कैसे एक व्यक्ति बना करोड़पति?
इन सभी सवालों का जवाब देते हैं फैक्ट्स के साथ.

- Advertisement -
5 FACTS

बाज़ की दो जिंदगी

बाज़ की दो जिंदगी

पक्षियों में बाज की ऐसी प्रजाति है, जहाँ दूसरे पक्षियों के बच्चे धीमी आवाज निकलना शुरू करते हीं हैं, उस वक़्त बाज अपने चूजे को पंजे में दबोच कर सबसे ऊंचा उड़ जाती है.

लेकिन क्या आप जानते हैं बाज के पास दो जिंदगियां होती है, जी जनाब बिलकुल सही सुन रहे हैं आप.

- Advertisement -

70 से 100 सालों तक जीवित रहने वाला बाज जब 40 साल का होता है तो उसके पंख उसका साथ छोर देतें है, नाख़ून बिलकुल कमजोर हो जातें हैं, जबकि चोंच भी शिकार करने मदद नहीं करती.

संघर्ष करने वाले बाजनके पास दो विकल्प होता है, की या तो उसे ये मान लेना चाहिए की वो बूढ़ा हो चूका है और उसे मौत का इंतजार करना चाहिए और दूसरा की वो अपना नाख़ून और चोंच तोड़ कर नए का इंतजार करे.

जहाँ उसे नए नाख़ून समेत चोंच मिलते हैं, इसके बाद वो अपने नए पंखो के लिए उसे नोच नोच कर काट देता है.

6 महीने कड़े दर्द के बाद बाज़ के नए पंख आ जातें हैं जिसके बाद वो बचे हुये जीवन को जी सकता है.

Keyboard में A,B,C,D उलटे पुल्टे क्यूं होते हैं?

Keyboard में A,B,C,D उलटे पुल्टे क्यूं होते हैं?

आज के आधुनिक दुनिया में लैपटॉप जैसे गैजेट्स का जमकर इस्तेमाल हो रहा है, लेकिन कई बार दिमाग में आया की Typewriter के Keyboard भी A,B,C,D फॉर्मेट एक लाइन में क्यूं नहीं आती?

तो आपको बता दें की पहले कीबोर्ड डिज़ाइन ऐसे हीं किया गया था, लेकिन ऐसे में काम करते वक़्त हाथ को बिलकुल सामने रखना पड़ता था.

जिसके वजह से टाइपिंग बहुत स्लो होने लगी और बाद में इसपर विचार किया गया और फिर कई लोगों ने Typing स्पीड बढ़ाने के लिए कुछ न कुछ प्रयोग किए, लेकिन सबसे सफल मॉडल QWERTY के रूप में ही सामने आया.

इससे टाइप करने में भी आसानी होने लगी वहीँ काम जल्दी खत्म होने लगे. तभी से कीबोर्ड में A,B,C,D फॉर्मेट इधर उधर है.

Icecream चखने पर इस शख्स को मिलते है करोड़ों रुपये

ecream चखने पर इस शख्स को मिलते है करोड़ों रुपये

आइस्क्रीम किसे पसंद नहीं है, बच्चे हो या बुजुर्ग हर वर्ग को आइस्क्रीम के दीवाने हैं, खाने के पहले हो या खाने के बाद आइसक्रीम किसी भी हाल में लोग खा हीं लेते हैं.

लेकिन अगर हम आपको कहें कि आइक्रीम टेस्ट करके एक व्यक्ति आज करोड़ों कमा रहा है तो क्या आपको विश्वास होगा?

तो मिलिए ये हैं 1942 में जन्मे अमेरिका के जॉन हेरिसेंस आइक्रीम के ड्रेयर्स निर्माता कम्पनी में काम करते हैं, यहां जॉन एक ऑफिसियल टेस्टर हैं.

JOHN HORRISON

इनका काम तरह तरह के आइस क्रीम को टेस्ट करके बताना है की वो स्वाद में कैसी है , कौन सा इंक्रिडिएंट्स ज्यादा या कम है.

यहां इसी के लिए कंपनी उन्हें करोड़ो की पेमेंट करती है, कंपनी में 5 घंटे के शिफ्ट के दौरान वो करीब 60 तरह की आइसक्रीम रोज चखने का काम करते रहे हैं.

दुनियाभर में मैग्गी के पैकेट एक दिन में बिकते हैं इतने

नियाभर में मैग्गी के पैकेट एक दिन में बिकते हैं इतने

मैग्गी की दीवानगी किसी से भी छुपी नहीं है, दुनिया में मैग्गी खाने वालों की तादाद दिन बा दिन बढ़ती चली जा रही है.

ये दुनिया का एक अकेला ऐसा प्रोडक्ट जिसके 120 मिलियन पैकेट एक दिन बिकते हैं.

जितना वक्त आप इस ख़बर को पढ़ने में लगा रहे हैं उतने वक़्त में करीब 2 हजार पैकेट खुल चुके होते हैं.

यहां तक कि अकेले भारत देश में भी मैगी की ख़पत लाखों करोड़ों की आंकी जाती है.

Google पर 1 मिनट के अंदर हीं क्या हो जाता है?

Google पर 1 मिनट के अंदर हीं क्या हो जाता है?

‘Google’ की गूगली दुनिया को बहुत मदद करती है, हम और आप जब भी किसी सवाल पर आतंक जातें है तो सबसे पहले गूगल भैया का सहारा लेते हैं.

इंटरनेट जगत में गूगल का जादू सातवें आसमान पर होता है.

आपको बता दें की दुनिया की सबसे बडी खोज करने वाली Website Google पर सिर्फ 1 मिनट के अंदर 20 लाख सवालों के जवाब ढूँढे जाते हैं.

गूगल के नाम आप में अनोखा है, बता दें की गूगल की ही तरह दुनिया में 250 से ज्यादा सर्च इंजन मौजूद हैं.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...