नवरात्रि के दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा, जानिए पूजा की पूरी विधि

ज़रूर पढ़ें

23 मार्च 2023 में चैत्र नवरात्रि (Navratri) का दूसरा दिन हैं. जिसमे दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती हैं. माँ ब्रह्मचारिणी को माँ दुर्गा का दूसरा रूप कहा जाता हैं

चैत्र नवरात्रि (Navratri) की शुरुआत हो चुकी हैं. नवरात्रि (Navratri) के नौ दिनों तक माता के अलग-अलग स्वरुप की पूजा की जाती हैं. आज 23 मार्च 2023 में चैत्र नवरात्रि (Navratri) का दूसरा दिन हैं. जिसमे दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती हैं. माँ ब्रह्मचारिणी को माँ दुर्गा का दूसरा रूप कहा जाता हैं. और फिर शारदीय नवरात्रि हो या फिर चैत्र नवरात्रि (Navratri) दोनों के दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की ही पूजा होती हैं. चलिए जानते हैं माँ ब्रह्मचारिणी के बारे में और साथ ही पूजा की विधि.

माँ दुर्गा का दूसरा रूप ब्रह्मचारिणी

माँ ब्रह्मचारिणी माँ दुर्गा का दूसरा रूप हैं. और नवरात्रि (Navratri) के दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की पूजाकी जाती हैं. माँ का ये स्वरूप ज्ञान, बुद्धि और विवेक के साथ-साथ शक्ति देने वाला माना जाता है. साथ ही ये भी मान्यता है कि जो लोग अपने कौशल को बढ़ाना चाहते हैं, उन्हें इस दिन माता के इस स्वरूप की जरूर पूजा करनी चाहिए. क्योंकि, मां ब्रह्मचारिणी के पूजन से कौशल बढ़ता है. मानसिक विकास के साथ दिमाग को शांति भी मिलती हैं.

माँ ब्रह्मचारिणी की ऐसे करे पूजा

माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा में आपको बहुत  ही तपस्या करनी पड़ेगी. पूजा के दौरान सबसे पहले सुबह उठ कर स्नान करके, साफ जगह पर चौकी रख कर माता की पूजा करनी चाहिए. पूजा के अंदर माता को  फूल, अक्षत, चंदन, फल, रोली, लौंग, पान और सुपारी को अर्पित करनी चाहिए. साथ ही भोग लगाते वक़्त माता के प्रसाद में उन्हें शक्कर से बनी वस्तु चढ़ाई जानी चाहिए.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...