राहुल गाँधी के भारत जोड़ो यात्रा से बढ़ेगा कोरोना संक्रमण? भीड़ ने खोला कांग्रेस का सच

ज़रूर पढ़ें

भारत जोड़ो यात्रा का काफिला हज़रत निजामुद्दीन रुका, जहाँ राहुल गाँधी ने यहां चादर चढ़ाई। इस भीड़ को लेकर फ़िलहाल चिंता बनी है कि कहीं एक बार फिर भारत कोरोना संक्रमण की चपेट में न आ जाए

भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) के तहत राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) अपने काफिले के साथ दिल्ली (Delhi) पहुंचे हुए है. देश में कोरोना (Corona) संक्रमण के डर के बिच राजधानी में कांग्रेस (Congress) नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पूर्व कांग्रेस (Congress) अध्यक्ष के चल रही पदयात्रा का जमकर स्वागत किया. हालाँकि यात्रा में कोरोना (Corona) संक्रमण का खौफ देखने को नहीं मिला. कोविड (Covid-19) नियम की धज्जियाँ उड़ते देखा गया. यहां बीते दिनों से लगातार स्वास्थ्य मंत्रालय देश में आगाह कर रही है कि कोरोना वायरस (Corona Virus) का संक्रमण बढ़ सकता है. चीन (China) में मौजूदा स्थिति बहुत खतरनाक दिखाई दे रहा है. बता दें कि भारत जोड़ो यात्रा का काफिला हज़रत निजामुद्दीन रुका, जहाँ राहुल गाँधी ने यहां चादर चढ़ाई. फ़िलहाल भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) का काफिला आईटीओ तक पहुँच चुकी है.

- Advertisement -

पदयात्रा को नहीं रोकेगी कांग्रेस

चीन (China) के नए वेरिएंट के मामलें गुजरात (Gujrat) और ओडिशा (Odisha) में मिल चुके हैं. इसको लेकर केंद्र सरकार भी सतर्क दिखें. लेकिन इन सब के बिच कांग्रेस (Congress) का कहना है की मोदी सरकार (Modi Government) की कोरोना (Corona) के लिए ये ताजा एडवाइजरी सिर्फ भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) को रोकने की साजिश है. जिसे कांग्रेस नहीं रोकेगी. इसी वजह से भीड़ को लेकर सवाल है की क्या भारत में एक बार फिर कोरोना से स्थिति बदतर हो जाएगी? बीजेपी (BJP) ने भी कांग्रेस (Congress) पर हमला बोलते हुये कहा की भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) से कोरोना का खतरा बढ़ सकता है.

कांग्रेस की यात्रा बढ़ा सकती है मुश्किलें

- Advertisement -

कांग्रेस (Congress) नेता के कई बड़े दिग्गज भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) में आज शामिल हुये. राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) के नेतृत्व में पदयात्रा दिल्ली (Delhi) में जब पहुंची तब कांग्रेस (Congress) की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गाँधी भी जुडी. इसके साथ हीं प्रियंका गाँधी और रोबर्ट वाड्रा भी साथ आएं. हालाँकि कांग्रेस (Congress) के भारत जोड़ो यात्रा ने देश में एक नई चिंता को जन्म दिया है. चीन समेत अन्य देशों में कोरोना (Corona) के नए वेरिएंट ने अपना पांव पसार चुकी है. जिससे भारत भी अछूता नहीं है.

ऐसे में भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) में जिस तरीके से भीड़ बिना मास्क के आगे बढ़ रही है वो खुद कांग्रेस (Congress) के दावें का पर्दाफाश करती है. स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने चिट्ठी लिखकर भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) को लेकर उसे रोकने या कोविड नियम को फॉलो करने की बात कही थी. जिसपर कांग्रेस (Congress) की तरफ से ये पुख्ता किया गया की सभी कांग्रेसी मास्क लगाए रहेंगे. हालाँकि असलियत इसके बिलकुल उलट दिखा.

दिल्ली में 9 दिनों का ब्रेक

भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) कन्याकुमारी से होते हुए अब दिल्ली (Delhi) पहुँच चुकी है. 107 दिनों से राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) कांग्रेस (Congress) की ताकत दिखाने की कोशिश कर रहे हैं. इस बिच बीजेपी (BJP) कई बार हमला बोलते हुये भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) को सुपरफ्लॉप बताती है. बता दें कि 24 दिसंबर (शनिवार) रात से कांग्रेस (Congress) का भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) का काफिला दिल्ली (Delhi) में 9 दिन के रेस्ट पर रहेगी. जिसके बाद 3 जनवरी को गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर से उत्तर प्रदेश में यात्रा की एंट्री होगी.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...