सपने क्यों आते हैं? नींद के दौरान आखिर कैसा होता है महसूस

ज़रूर पढ़ें

वैज्ञानिक अध्ययन कहता है कि हर व्यक्ति को नींद के दौरान रोजाना दो-तीन बार सपने आते हैं 

सोते हुए आपने कई बार सपने (Dreams) देखे होंगे. उनमे से कुछ आपको याद होंगे कुछ आप भूल गए होंगे. लेकिन आपने कभी सोचा है कि ये सपने आखिर आते कहाँ से हैं. और इसके पीछे क्या वजह है. नींद का सपने से क्या कनेक्शन है. वैज्ञानिक अध्ययन कहता है कि हर व्यक्ति को नींद के दौरान रोजाना दो-तीन बार सपने आते हैं.

- Advertisement -

सपने क्या होते हैं?

सपने (Dreams) में मूल रूप से ऐसी कहानियां और चित्र होते हैं जो हमारा दिमाग सोते समय बनाता है. वे सजीव हो सकते हैं. सपने आपको कई भावनाएं भी महसूस कराता है.आपके सपने आपको खुश, उदास या डरा हुआ भी महसूस करा सकती हैं. कई बार आपको वो भ्रामक या पूरी तरह तर्कसंग यानि बिना किसी लॉजिक लग सकते हैं.

सपने कैसे आते हैं?

वैज्ञानिक शोध में एक मत के अनुसार व्यक्ति की मानसिक स्थिति सोते समय अलग होती हैं. ऐसे में उसी से संबंधित स्वप्न (Dreams) उसे दिखाई देते हैं. उदाहरण के लिए यदि व्यक्ति सोते समय भूखा है या प्यासा है, तो उसे भोजन और पानी के विषय में सपने (Dreams) दिखाई देंगे.

दबी हुई भावनाएं

एक दूसरे विचार के अनुसार जो इच्‍छाएँ हमारे जीवन में पूरी नहीं हो पाती हैं, वे सपनों (Dreams) में पूरी हो जाती हैं. हमारे मन की दबी भावनाएँ अक्सर सपनों में पूरी हो जाती हैं. सपनों (Dreams) के द्वारा मानसिक तनाव भी कम हो जाता है.

सपने देखते समय होता है परिवर्तन

एक मनुष्य को जब सपने (Dreams) दिखाई देते हैं, तब आँखों की गति तेज हो जाती है. मस्तिष्क से पैदा होने वाली तरंगों की बनावट में अंतर आ जाता है. शरीर में कुछ रासायनिक परिवर्तन होते है. इन सब परिवर्तनों के अध्ययन से निश्चित है कि सपने दिखाई देने का अपना महत्व है.

गहरे हिप्पोकैम्पस

सपने का सारा कनेक्शन दिमाग से हैं. मस्तिष्क के अंदर टेम्पोरल लोब के अंदर गहरे हिप्पोकैम्पस की याद रखने, कल्पना करने और सपने देखने की हमारी क्षमता में एक केंद्रीय भूमिका होती है.

सपने का कारण

सपने का सबसे बड़ा कारन तनाव होता है. अक्सर काम का तनाव अन्य तमाम तनाव लोगों की नींद पर बुरा असर करता है. ऐसे में नींद के अधूरेपन के बीच व्यक्ति को जब भी गहरी और भरपूर नींद आती है. ऐसे समय में रैपिड आई मूवमेंट (REM) नींद की स्टेज बढ़ जाती है. इसकी वजह से व्यक्ति को अधिक गहरे सपने आते हैं और कई बार ये सपने बहुत डरावने होते हैं.

सुधारें दिनचर्या

तनाव लेना, काम का अत्यधिक बोझ, शराब वगैरह पीना और हेल्दी लाइफस्टाइल ना होना सपने (Dreams) का एक कारण है. ऐसे में जरूरी है कि हम अपनी दिनचर्या सुधारें.

- Advertisement -

Latest News

अनंत अंबानी और राधिका मर्चेंट कब आये करीब? कैसे शुरू हुआ प्यार का सफर?

अनंत अंबानी और राधिका मर्चेंट गुजरात की ग्रैंड प्री-वेडिंग बैश जामनगर में 1-3 मार्च तक चलेगा। ऐसे में अंबानी...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...