फांसी की सजा सुनाने के बाद क्यों पेन की निब तोड़ देते हैं जज? जानिए अनजाने फैक्ट्स

ज़रूर पढ़ें

फांसी की सजा सुनाने के बाद क्यों पेन की निब तोड़ देते हैं जज? आखिर नीले रंग का ही क्यों है Facebook? तो चलिए इन सभी सवालों का जवाब देते हैं फैक्ट्स के साथ

फांसी की सजा सुनाने के बाद क्यों पेन की निब तोड़ देते हैं जज? आखिर नीले रंग का ही क्यों है Facebook? तो चलिए इन सभी सवालों का जवाब देते हैं फैक्ट्स के साथ.

- Advertisement -

FACT 1
वैज्ञानिको के शोध के मुताबिक सुबह 3:00 से 4:00 बजे के बीच आपका शरीर सबसे कमज़ोर होता हैं. यही कारण है कि ज़्यादातर लोगों की नींद में मृत्यु इसी समय होती हैं.

सुबह 3:00 से 4:00 बजे के बीच आपका शरीर सबसे कमज़ोर

FACT 2
दोस्तों आपने कई फिल्में, टीवी सीरियल या कभी सुना जरूर होगा की जज कोई भी फांसी की सजा सुनाने के बाद अपनी कलम की नीव तोड़ देते हैं, अब सवाल उठता है भला ऐसा क्यों?

तो दोस्तों फांसी की सजा सुनाकर जज द्वारा पेन की निब इसलिए तोड़ दी जाती है, क्यूंकि इस पेन से किसी का जीवन खत्म हुआ है तो इसका दोबारा प्रयोग ना हो.

- Advertisement -

निब तोड़ने के बाद खुद जज को भी ये अधिकार नहीं होता कि वह अपने फैसले की समीक्षा करे य फैसले को बदल सके या दुबारा विचार की कोशिश कर सकते हैं.

जज कोई भी फांसी की सजा सुनाने के बाद अपनी कलम की नीव तोड़ देते हैं

FACT 3
दोस्तों क्या आप जानते हैं एक मामूली एक्स-रे करवाने से भी शरीर को कितनी हानि होती है, जी हाँ आपको कई बार एक्स रे करने की जरुरत पड़ी होगी, लेकिन आपको बता दें आप जब भी एक्सरे करवाते हैं, वहां उसकी भरपाई करने में एक वर्ष का समय लग जाता है.

एक मामूली एक्स-रे करवाने से भी शरीर को हानि होती है

FACT 4
दोस्तों क्या आप जानते हैं की आखिर केले को कभी फ्रीज़ में क्यों नहीं रखा जाता, दरअसल केले को कभी भी फ्रिज में इसलिए नहीं रखा जाता, क्योंकि यह हमेशा गर्म वातावरण में ही उगता है इसी फ्रिज में रखने से यह खराब हो जाता है।

केले को कभी भी फ्रिज में इसलिए नहीं रखा जाता

FACT 5
क्या आपने कभी सोचा है कि Facebook के नीले रंग में रंगे होने के पीछे क्या कारण है? हम बताते हैं दरअसल Facebook के CEO and Founder मार्क जुकरबर्ग (Mark Zuckerberg) को कलर ब्लाइंडनेस की बीमारी है. उन्हें हरे और लाल रंग में अंतर पता नही लगता इसी कारण फेसबुक का रंग नीला रखा गया है.

Facebook के नीले रंग में रंगे

FACT 6
दोस्तों आजतक आपने कई अजीबो गरीब फरमान के बारे में सुना होगा लेकिन यहां आप ये जानकर हैरान हो जायेंगे की दुनिया में एक देश ऐसा भी है जहाँ आप बाथरूम के फ्लश का उपयोग रात के 10 बजे के बाद नहीं कर सकते.

जी हाँ दोस्तों, स्विट्जरलैंड में रात 10 बजे के बाद आप टॉयलेट में फ्लश नहीं कर सकते चाहे वो आपका अपना घर ही क्यों न हो क्योंकि सरकार इसे ध्वनि प्रदूषण मानती है.

FACT 6
दोस्तों आजतक आपने कई अजीबो गरीब फरमान के बारे में सुना होगा लेकिन यहां आप ये जानकर हैरान हो जायेंगे की दुनिया में एक देश ऐसा भी है जहाँ आप बाथरूम के फ्लश का उपयोग रात के 10 बजे के बाद नहीं कर सकते.

FACT 7
दोस्तों, आप जानकर हैरान हो जायेंगे की दुनिया में एक ऐसी जगह भी है जहाँ खेती दीवारों पर होती है. जी हाँ चौंकिए मत ये बिलकुल सच है.

दरअसल दोस्तों एक इजराइल में खेती लायक जमीन की काफी कमी होने कारण वहा ‘वर्टीकल फार्मिंग’ की जाती है.

इसका सीधा मतलब है कि इजराइल यहाँ धान और गेहू के साथ-साथ सब्जियां भी दीवारों पर उगाई जाती है.

‘वर्टीकल फार्मिंग’

FACT 8
दोस्तों आपने कई बार गौर किया होगा की आपके घर में या आसपास में जो मक्खियां होती हैं उस पर अगर आप किसी चीज से हमला करते हे तो वह हमले से पहले ही उड़ जाती है.

दरअसल ऐसा इसलिए क्योकि मक्खियां को अपने पर आनेवाले जोखिम की जानकारी 100 मिलीसेकंड में पता चल जाती है.

मक्खियां को अपने पर आनेवाले जोखिम की जानकारी 100 मिलीसेकंड में पता चल जाती है

FACT 9
दोस्तों, आप जानकर हैरान हो जायेंगे की जहाँ दुनिया के रेस्टुरेंट में बेटर के रूप में इंसानो की जगह धीरे धीरे रोबोट ले रहे हैं वहीँ इस रेस में बंदरों की एंट्री हो चुकी है.

जी हां दोस्तों, जापान की राजधानी टोक्यो में एक ऐसा रेस्टोरेंट है जहां बंदर वेटर के रूप में काम करते हैं. इन बंदरों को अपने वेतन के रूप में केले दिये जाते हैं.

रेस्टुरेंट में बेटर के रूप में बंदरों की एंट्री

FACT 10
दोस्तों क्या आप जानते हैं कि मुंबई में हर रोज 75 लाख लोग ट्रेन में सफर करते हैं, जो कि इतनी जनसंख्या दुनिया के सबसे अमीर देश स्विट्ज़रलैंड की जनसंख्या के तकरीबन बराबर है.

मुंबई में हर रोज 75 लाख लोग ट्रेन में सफर करते हैं
- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...