PM मोदी की टक्कर में कौन? राहुल, ममता, नीतीश और केजरीवाल की क्या है रणनीति

ज़रूर पढ़ें

लोकसभा चुनाव 2024 में है. ऐसे में विपक्ष का दावा है की इसपर महागठबंधन होगा और मोदी लहर खत्म हो जाएगी, जबकि प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार पर भी घमासान मचा हुआ है

2024 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी (BJP) के लिए पीएम मोदी (Prime Minister Narendra Modi) एक महबूत इक्का साबित हो सकते हैं. इसलिए पार्टी का पूरा खेल मोदी के इर्द गिर्द चल रहा है. लेकिन वहीँ विपक्ष का दावा है की इसपर महागठबंधन होगा और मोदी (PM Modi) लहर खत्म हो जाएगी, जबकि प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार पर भी घमासान मचा हुआ है.

- Advertisement -

विपक्ष में प्रमुख कई चेहरे

लोकसभा चुनाव 2024 में है. ऐसे में विपक्ष जहां एकजुट होकर मोदी सरकार को गिराने का दावा करती है. हालाँकि जब इनसे पूछो की भाई विपक्ष का पीएम फेस कौन होगा? तब सन्नटा पसर जाता है. हालाँकि सुगबुगाहट सुनाई देती है.

कांग्रेस पार्टी से राहुल गाँधी, बिहार से नितीश कुमार , उत्तरप्रदेश से अखिलेश यादव, महाराष्ट्र से उद्धव ठाकरे और शरद पवार, दिल्ली से अरविन्द केजरीवाल बंगाल जायेंगे तो ममता दीदी और अगर ज्यादा कहेंगे तो केसीआर भी लिस्ट में शामिल हो जाते हैं. पीएम मोदी के खिलाफ खुद को विपक्ष की पिक्चर में लीड रोल के लिए इन सभी का नाम आ जाता है.

नितीश कुमार गठबंधन के प्रधान मंत्री पद का चेहरा?

ऐसे में सबसे पहले बात बिहार से शुरू करते है. चुकी उत्तरप्रदेश और बिहार राजनीती चर्चा के विषय में सबसे अहम् माना जाता है. वहीँ बिहार विधानसभा चुनाव 2025 को लेकर सियासी सरगर्मी तेज हो गई है. ‘सुशासन’ बाबू बिहार राज्य के मुख्यमंत्री नितीश कुमार (Nitish Kumar) हैं.

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक महागठबंधन के सात दलों की ओर से 25 फरवरी को बिहार में प्रस्तावित एकजुता रैली में जेडीयू 2024 के चुनाव के लिए गठबंधन के प्रधान मंत्री पद के चेहरे के रूप में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के नाम की घोषणा कर सकता है. हालाँकि दावा है की कई अन्य दाल पूरा सहयोग करने के लिए आगे आ रहे हैं. महागठबंधन के सूत्रों ने बताया सत्तारूढ़ सहयोगी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने भी इस कदम का समर्थन किया है.

राहुल गाँधी भी सक्रीय

इसके अलावा कांग्रेस (Congress) जो बीजेपी (BJP) के बाद दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है. सबसे बड़े विपक्षी दल के नेता होने के नाते राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) की चर्चा हो रही है. भारत जोड़ो यात्रा को सबसे अहम् कदम बताया जा रहा है. माना जा रहा है की राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) पीएम फेस रह सकते हैं.

ममता से लेकर केजरीवाल और अखिलेश

अब बात ममता दीदी की करें तो उनकी बंगाल में मजबूत पकड़ है अब सवाल है की क्या उनकी अन्य राज्यों में पकड़ है? टीएमसी से मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी (Mamta Banerjee) को लेकर उनकी पार्टी का दावा है की दीदी जननेता की छवि है और गरीबों की हितैषी हैं.

वहीँ अरविन्द केजरीवाल (Arvind Kejriwal) हैं जो हाल हीं में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thakre) से मुलाकात की. अब सवाल है की दोनों में कौन सी खिचड़ी पक रही है.

2024 के लोकसभा चुनाव में कौन सी गुगली खेली जाएगी. जबकि इस बिच शरद पवार (Sharad Pawar) का भी नाम आ रहा है, की उनके मन में आखिर इन दोनों की मुलाकात को लेकर क्या योजना है. और क्या शरद पवार ही पीएम फेस के रुप में नजर आएंगे?

वहीँ अगर यूपी की तरफ रुख करें तो समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) यूपी की सत्ता से बाहर निकल कर पीएम फेस की लिस्ट में शामिल हैं.

आकंड़ों पर एक नजर

अब कुछ आकड़ों पर गौर करें तो साल 2014 के भारतीय आम चुनाव में, भाजपा ने 282 सीटों पर जीत हासिल की, जिससे एनडीए को 543 सीटों वाली लोकसभा में 336 सीटों की संख्या मिली. 14वें प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र दामोदर दास मोदी को चुना गया.

साल 2019 में भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) ने 353 सीटें जीतीं। और इस बार भी पीएम मोदी प्रधानमंत्री बनें रहें। अब इंतजार 2024 के लोकसभा चुनाव पर टिक गई है. देखना होगा की बीजेपी इस बार सत्ता बचा पाती है या महागठबंधन का जादू दिखेगा.

उठते हैं ये सवाल

  1. एकजुटता का दावा करने वाली विपक्ष किस नतीजे पर पहुंचेगी?
  2. हमेशा सक्रीय और एक्टिव रहने वाली बीजेपी को हराने के लिए महागठबंधन किस हद तक कोम्प्रोमाईज़ करेगी?
  3. क्या इसका फायदा विपक्ष को होगा या फिर बीजेपी कोई नई चाल चल देगी?
- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...