उमरान मालिक की सफलता की कहानी

ज़रूर पढ़ें

आज के समय में क्रिकेट जगत में कई सारे उभरते सितारों को देखा जाता है, जहां वे अपने प्रदर्शन से  देश का नाम रोशन कर रहे हैं और आगे बढ़ते हुए युवा वर्गों को भी प्रेरित करने का काम कर रहे हैं। ऐसे में आज हम आपको एक उभरते हुए क्रिकेटर के बारे में जानकारी देने वाले हैं ताकि आप भी उनके जीवन परिचय से प्रेरित होकर आगे बढ़ सके। सब्ज़ी और फल बेचने वाले के बेटे ने कैसा अपना नाम इतिहास के पन्नो में किया शुमार ?  कैसे आईपीएल में रचा इतिहास  ….. इस वीडियो में आज हम बात करेंगे उमरान मालिक के बारे में कितना मुश्किल रहा उनका सफर किन किन परेशानियों का करना पड़ा सामना ? आप सभी का स्वागत है हमारे चैनल क्रिकेट ग्लोब में !!!

- Advertisement -


आज मलिक का नाम किसी भी परिचय का मोहताज नहीं है जहां उन्होंने आईपीएल मैचों में अपना बेहतरीन प्रदर्शन देते हुए लोगों का ध्यान आकर्षित किया है। वे आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद टीम के 1 मुख्य तेज गेंदबाज हैं जिनकी गेंदबाजी के बदौलत आज वे क्रिकेट की दुनिया में लोगों का प्यार प्राप्त कर पा रहे हैं और लगातार सफलता की सीढ़ियों को चढ़ते हुए भारत का नाम रोशन कर रहे हैं।

उमरान का जन्म 22 नवंबर 1999 को श्रीनगर में हुआ था। वे एक  मध्यमवर्गीय परिवार से आते हैं जहां उनके पिता का नाम अब्दुल मलिक है। उनके पिता की एक फलों की दुकान है जिस पर वे दिन रात मेहनत करते हैं। शुरुआत में उन्हें ऐसा नहीं लगा था कि वे एक अच्छे क्रिकेटर बन सकते हैं लेकिन जब उन्हें एक बार क्रिकेट में दिलचस्पी उत्पन्न हुई तो उसके बाद से ही उमरान मलिक ने  पीछे मुड़कर नहीं देखा और आज वे सबसे तेज गेंदबाजी करने वाले गेंदबाजों में से एक है।
उमरान को पढ़ना कभी भी रास नहीं आया था।  उन्होंने अपने दसवीं तक की पढ़ाई पूरी की और उसके बाद उन्होंने पूरा फोकस क्रिकेट की ओर लगा दिया था। ऐसे में आगे की पढ़ाई पूरी करना अब उनके लिए मुश्किल था।मलिक को बचपन से ही क्रिकेट खेलने का बहुत शौक था और इस वजह से ही उन्होंने अपना ज्यादा ध्यान पढ़ाई पर नहीं लगाया था। उन्होंने अपनी बहुत ही छोटी उम्र में ही क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था जहां वे बड़े खिलाड़ियों के साथ रहकर लगातार अच्छा खेल खेलते रहे और जिस वजह से उन्हें परिवार वालों की डांट का सामना करना पड़ता था लेकिन उन्होंने कभी भी क्रिकेट का साथ नहीं छोड़ा था।

- Advertisement -

उमरान ने बहुत ही मेहनत के साथ विकेट जगत में अपना कदम रखा है। लेकिन बहुत ही कम लोगों को मालूम है कि उनकी पारिवारिक स्थिति बिल्कुल भी अच्छी नहीं थी। जहां उनके पिता को लगातार परिवार का पालन पोषण करने के लिए कड़ा संघर्ष करना पड़ रहा था और उनकी आर्थिक स्थिति में किसी भी प्रकार का सुधार नजर नहीं आ रहा था। ऐसे में बचपन में मलिक भी अपने पिता की मदद करने के लिए उनके साथ फल बेचने जाया करते थे। यही वजह भी है कि उमरान मलिक ने अपने घर की आर्थिक स्थिति को देखते हुए अपनी पढ़ाई को बीच में ही छोड़कर ज्यादा से ज्यादा ध्यान क्रिकेट की ओर लगा दिया था ताकि परिवार की स्थिति सही की जा सके और उन्हें आर्थिक संबल प्रदान किया जाए।वैसे तो बचपन से ही उन्होंने क्रिकेट की शुरुआत की थी लेकिन अब वे इसे अपने करियर के रूप में आगे बढ़ाना चाहते थे और उन्होंने रणधीर सिंह से मुलाकात की जो एक कोच होने के साथ-साथ रणजी ट्रॉफी क्रिकेटर भी रह चुके थे। ऐसे में रणधीर सिंह उनकी गेंदबाजी देखकर बहुत खुश हुए क्योंकि उनकी गेंदबाजी बहुत ही सधी हुई और तेज गति की थी जिस वजह से ही उन्हें अंडर-19 क्रिकेट टीम में शामिल होने का बेहतरीन मौका प्राप्त हुआ था।

लगातार उमरान मलिक के बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए आईपीएल मैचों में उन्हें खेलने का मौका प्राप्त हुआ। जहां उनको हैदराबाद सनराइजर्स ने 4 करोड़ रुपए देकर खरीद लिया था। इसके बाद उन्होंने दुबई में अपना पहला आईपीएल मैच खेलकर डेब्यू किया था जो कि कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ था। इस मैच में भी लोगों की प्रशंसा प्राप्त हुई थी जहां उन्होंने 24 गेंदों में महज 27 रन ही दिया था लेकिन उन्होंने विकेट लेने में कामयाबी हासिल नहीं की थी।
उन्हें अपनी पहली कामयाबी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ प्राप्त हुई थी जब वे अपनी जानी-मानी रफ्तार के साथ बल्लेबाजी  कर रहे थे और ऐसे में उनकी गेंदबाजी की  गति 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार रिकॉर्ड की गई थी।

अब तक क्रिकेट जगत में कई ऐसे गेंदबाजों ने अपनी प्रतिभा दिखाई है जिनकी गेंदबाजी की रफ्तार बहुत ज्यादा थी लेकिन पिछले कुछ दिनों से उमरान मलिक का नाम सबसे तेज गेंदबाजों की लिस्ट में शुमार हो चुका है जहां उन्होंने हाल ही में आईपीएल के मैचों में 157 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी की है और इसके अलावा यह भी माना गया कि दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ 20 ओवर में, जो उन्होंने चौथी गेंद डाली थी वह आईपीएल में होने वाले सबसे तेज गेंदबाजी के नाम से शामिल हो चुकी है।
जिसके बाद ही उन्होंने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया है जब  चेन्नई सुपर किंग के खिलाफ उन्होंने 154 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी की थी लेकिन हाल ही में की गई गेंदबाजी उनके करियर की सबसे तेज गेंदबाजी के नाम से जानी जाएगी।  सबसे बड़ी बात अपने प्रदर्शन के कारन टी-20 वर्ल्ड कप में भी उमरान मालिक टीम का हिस्सा बन सकते है  …… हलाकि अबतक इन्होने भारतीय टीम के लिए डेब्यू नहीं किया बावजूद इसके इनके प्रशंषको की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है   ….. आने वाला समय में भी देखना काफी दिलचस्प होगा अपनी गेंदबाज़ी  से कितने लोग इतने मुरीद होते जायेंगे।

टोटल नेटवर्थ की बात करे तो अपने उम्दा  क्षमता की बदौलत ही उमरान मलिक ने एक जबरदस्त कामयाबी हासिल की है जहां वे लगातार युवा वर्ग को प्रेरित करते हुए नजर आते हैं। ऐसे में उनकी कुल संपत्ति 5 करोड़ रुपए बताई जाती है जहां उनकी वार्षिक आय लगभग 4 करोड रुपए है।

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...