Udaipur Murder Case: Kanhaiyalal sahu के परिवार का रो रो कर हुआ बुरा हाल, बिलखते हुये पत्नी ने माँगा इन्साफ

ज़रूर पढ़ें

कन्हैयालाल का शव निकलने के दौरान उनकी पत्नी ओर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया. पत्नी खुद को संभाल नहीं पा रही थी, इसके साथ हीं परिवार लगातार पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगा रहा है

नूपुर शर्मा के समर्थन में स्टेटस डालने को लेकर दो दरिंदों ने उदयपुर में एक टेलर की निर्मम हत्या कर दी. आरोपियों ने दुकानदार का गाला काट दिया. इस घटना की खबर हर कोई स्तब्ध है.

- Advertisement -

फिलहाल दोनों हीं आरोपी गिरफ्तार हैं जहाँ पुलिस की कार्यवाई चल रही है. वहीँ आज हीं मृतक कन्हैया लाल का पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया गया जहाँ बड़ी संख्या में लोग जुटे थे.

इस बिच पुलिस और परिवार के बिच एक नोक झोक भी हुई जहाँ परिवार को पुलिस ने घर के पास हीं अंतिम संकर करने को कहा था लेकिन इस बात के लिए राजी नहीं हुये, परिवार के साथ भरी संख्या में लोग समर्थन के लिए खड़े थे जिसके बाद पुलिस ने अशोक नगर श्मशान घाट पर अंत्येष्टी की मंजूरी दे दी.

यहां कन्हैयालाल के लिए देशभर से न्याय की गूंज उठ रही है, वहीँ अंतिम संस्कार में जिस तरीके से जनसमर्थन उमड़ा वो बेहद भावुक पल था.

- Advertisement -

इस बिच कन्हैयालाल का शव निकलने के दौरान उनकी पत्नी ओर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया. पत्नी खुद को संभाल नहीं पा रही थी, इसके साथ हीं परिवार लगातार पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगा रहा है.

कन्हैयालाल साहू की पत्नी ने कहा, ‘आरोपियों को फांसी दो, आज उसने हमें मारा है, कल दूसरों को मारेगा.’

कन्हैयालाल की पत्नी यशोदा ने आगे बताया कि 10-15 दिनों से धमकी दिया जा रहा था. मार देंगे-काट देंगे की धमकी लगातार मिल रही थी. धमकी देने वाले घर और दुकान दोनों जगह आते थे.

मृतक की पत्नी ने कहा कि धमकी देने वाले ज्यादातर दुकान पर ही आते थे। फोन पर भी धमकी देते थे. एक बार दुकान पर क औरत और जेंट्स मुस्लिम लिवास में भी धमकी देने आए थे.

यहां आंसू पोछते हुये, खुद को जैसे तैसे सँभालते हुये पत्नी यशोदा ने कहा कि कन्हैयालाल ज्यादा बातें घर में जिक्र नहीं करते थे. एक बार घर पर एक जेंट्स आया और धमकी देकर गया कि मार देंगे-काट देंगे.

कन्हैयालाल की पत्नी ने कहा कि अशोक गहलोत जी और पीएम नरेंद्र मोदी जी हमारे पति को मारने वाले को मारो. तभी ये लोग सुधरेंगे. पुलिस वाले से कंप्लेन के बाद उन्होंने दुकान खोली थी. दुकान पर दो लोग राजीव और ईश्वर जी काम करते थे. परिवार में कन्हैयालाल अकेले कमाने वाले थे. परिवार में ननद, सास और बच्चे हैं. दोनों बच्चे अभी पढ़ रहे हैं.

उनके मुताबिक उनकी शादी को 21-22 साल हो गए है, जहाँ कन्हैयालाल पिछले 10 साल से दुकान चला रहे थे.

कन्हैयालाल की भांजी ने कहा कि हमारे घर से मामा जी को आज मारा गया है, कल किसी और के घर से मारा जाएगा. इसलिए हत्यारों को हर हाल में फांसी की सजा होनी चाहिए.

इसके साथ हीं दुखी परिवार ने कहा कि अगर आरोपी को तत्काल सख्त सजा नहीं मिली तो लोगों की हिम्मत बढ़ जाएगी. आरोपी को ऐसी सजा दी जाए जिसके बाद किसी की हिम्मत ना हो कि वह ऐसी वारदात को अंजाम दे. राजस्थान के खाद्य मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने भी आरोपियों को सख्त सजा देने की मांग की है.

मौजूदा समय में कन्हैयालाल साहू की निर्मम हत्या पर जमकर राजनीती हो रही है, लेकिन परिवार इस सबसे परे न्याय की गुहार लगा रहा है. यहां विपक्ष निशाना साधते हुये राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुये फ़ैल सरकार बता रही है. यहां कहा गया कि राजस्थान में कानून का राज नहीं बल्कि ऐसे आरोपियों का राज है.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...