रिश्ते में कभी बर्दाश्त नहीं करनी चाहिए ये 6 चीजें, पड़ेगा भविष्य पर असर

ज़रूर पढ़ें

कभी कभी पार्टनर आपके कम्फर्ट को भूल जातें हैं, ऐसे में सीमाओं को लांघते हुये कई बातें होती हैं जो आपके मानसिक तनाव का कारण बन जाता है. किसी भी रिश्ते में शारीरिक, भावनात्मक या मानसिक समस्याएं इस बात की ओर इशारा करती हैं कि कि ये सभी समस्याएं आपके व्यक्तिगत विकास में बाधा पैदा कर रही हैं

एक गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड के रिश्ते हो या पति पत्नी के आपको अपने पार्टनर के साथ ईमानदार होना बहुत जरुरी है. एक बेहतर रिलेशनशिप में कई चीजे बर्दाश्त के बाहर चली जाती है लेकिन ऐसे में आपको अपने लिए एक बड़ा कदम उठा लेना चाहिए.

- Advertisement -

कभी कभी पार्टनर आपके कम्फर्ट को भूल जातें हैं, ऐसे में सीमाओं को लांघते हुये कई बातें होती हैं जो आपके मानसिक तनाव का कारण बन जाता है. किसी भी रिश्ते में शारीरिक, भावनात्मक या मानसिक समस्याएं इस बात की ओर इशारा करती हैं कि कि ये सभी समस्याएं आपके व्यक्तिगत विकास में बाधा पैदा कर रही हैं, खासकर तब, जब आपका पार्टनर सही तरीके से सहयोग नहीं कर रहा हो.

शिकायतें, रूठना मानना ये तो एक जोड़े के बिच आम बात है लेकिन क्या आप कुछ बड़े मुद्दे को भी जाने दे रहे हैं और फिर आपको तकलीफ हो रही है. तो ये खबर आपके लिए हैं, जहाँ आपको बताएंगे कि आखिर वो ऐसी बातें क्या हैं जिसे आपको एक रिलेशन में बर्दाश्त नहीं करनी चाहिए.

(1) पार्टनर के व्यहवहार पर अपना कंट्रोल करना

- Advertisement -

अगर आप एक दूसरे से प्यार करते हैं तब आपको एक दूसरे पर पूरा भरोसा भी होना चाहिए.

इसी तरह से शकी पार्टनर के साथ रहना भी बेहद तकलीफ़देह होता है. हर बात पर शक, टोका-टाकी करना रिश्ते में चिड़चिड़ापन पैदा कर देता है. शक करने से बेहतर है कि अपने मन के वहम को बात करके दूर कर लें.

आपको आपका पार्टनर कहीं आने जाने के लिए मना कर रहे, आपके दोस्तों से आपको मिलने पर कण्ट्रोल कर रहे हैं. या फिर आपको बार बार रोका टोकि करते हैं तब आपको समझ जाना चाहीए और अलर्ट होना चाहिए कि ये आपके रिश्ते में आगे जाकर जहर का काम करेगा.

ऐसे में आपको अगर बार बार ये साबित करना पड़ता हैं कि आप अपने पार्टनर से कितना प्यार करते हैं तो ये आप दोनों के रिश्ते के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं.

आपको ऐसे परिस्थितियों में अपने पार्टनर से साफ़ करना होगा की ये चीजे आपको परेशां करती है. चूंकि कई बार आप सही करते हैं लेकिन आपको अपने पार्टनर से झूठ बोलना पड़ता है क्यूंकि उसे वो चीज पसंद नहीं है.

(2) नशे की आदत

नशा करना कभी भी किसी के लिए लाभदायक नहीं रहा, लेकिन लोग ये जानते हुये भी की ये कितना खतरनाक और जानलेवा हो सकता है वो शराब, सिगरेट और तमाम तरीके की नशे की लत लगते हैं. इसके बिना एक भी दिन गुजरना कई लोगो के लिए सजा बन जाता है.

आपको बता दें की नशे की लत लगाने के चलते आप दोनों के बिच इंटिमेसी पर बुरा असर पड़ेगा. सेक्स लाइफ की रफ़्तार धीमी पड़ जाएगी.

ऐसे में आपको अपने पार्टनर से बैठ्घकर बात करनी चाहिए। भविष्य की योजना पर उनका ध्यान केंद्रित कीजिये. आप उन्हें बताइये की आपकी उनका ये व्यहवहार किस कदर आपको प्रभवित करता है.
साथ हीं उन्हें सुझाव दे की इसे कम करने के लिए वो हर दिन दिन धीरे धीरे कम कम मात्रा में नशे का सेवन करें फिर आखिरी दिन अपने आप हीं उनकी लत छूट जाएगी.

(3) आपको अलग महसूस कराना

अगर आपके पार्टनर को आपका किसी भी रिश्तेदार, दोस्त या किसी प्रियजनों के साथ उठना बैठना पसंद नहीं है. उसे आपको लेकर शक होता है और आप उनकी इस चाहत को पूरा करते हुये लोगो से दूर रहते हैं तब आपको संभल जाना चाहिए.

वे आपके दिमाग को उन चीजों से भर देंगे, जो धीरे-धीरे आपको दूसरों से अलग करने के लिए प्रेरित करेंगी। हमेशा याद रखें कि आपके पास अपना व्यक्तिगत जीवन है और अगर आपका साथी इसका सम्मान नहीं कर सकता है, तो वह आपके साथ रहने के लायक नहीं है.

आपकी सोच विचार और आपके लॉयल होने के बाबजूद उसको नहीं सराहता तो ये आपके लिए खतरे की घंटी है, ऐसे में तुरंत आपको ऐसे रिश्ते से दूर करना चाहिए.

(4) इमोशनल ब्लैक मेलिंग

कई पार्टनर्स की आदत होती है कि वो अपनी बात मनवाने के लिए इमोशनल ब्लैक मेलिंग का सहारा लेती हैं.

वो आपको रो रोकर कई बातें कहेंगे, वो या तो बच्चों को हथियार बनाती हैं या फिर सेक्स के समय पार्टनर पर दबाव डालते हैं. और आपके ना मानाने पर सेक्स से मन कर दें.

अगर आपके पार्टनर की यही प्रविर्ती है तो इसे आगे बढ़ने से आपको तुरंत रोक देना चाहिए. इस तरह की बातें आप भले हीं नजरअंदाज कर रहे हैं, पर आगे चलकर यही चीजे आपके रिश्ते को कमज़ोर बनाती हैं.

एक दूसरे के प्रति सम्मान की भवन खत, हो जाती है, इसलिए इस विषय चाहिए की आप अपने अपर्टनर से बैठकर बात करें और अपनी हर बात को साफ़ तौर पर सामने रख दने ताकि कभी आगे जाकर आप दोनों कोई गिला शिकवा ना रहे.

(5) दूसरों की दख़लअंदाज़ी

अक्सर ऐसा होता है कि आप अपने पार्टनर से झगड़ा करते हुये किसी और को भी साथ में शामिल कर लेते हैं, ये एक रिश्ते में बर्बादी का सबसे बड़ा कारन बन जाता है.

मन मुताब के बिच कई बार पार्टनर पर भरोसा न करके कई बार दूसरों पर ज़्यादा भरोसा करना यते रिश्ते को तोड़ सकता है.

आप अगर अपने पार्टनर के साथ ना बैठकर किसी दूसरे के पास उनसे सलाह-मशविरा लेते हैं और अपने सीक्रेट्स और पर्सनल बातें भी उनसे शेयर कर लेते हैं. तो ये आपके आने वाले जीवन में खतरा पैदा. ऐसा करने से आपके पार्टनर को तो तकलीफ होगी हीं इसके साथ साथ आपके पार्टनर के लिए सामने वाला व्यक्ति जजमेंटल हो जायेगा.

ऐसे में आपकी प्रतिष्ठा पर भी आंच आ सकती है. यहां दूसरों का हस्तक्षेप कई बार परिस्थितियों को और भी जटिल कर देता है. अगर कोई समस्या है या आपसी मतभेद है, तो ख़ुद ही आगे बढ़कर पार्टनर से बात करें, न कि किसी अन्य व्यक्ति के पास अपनी समस्या लेकर जाएं.

(6) बेईमानी/एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर

रिश्ते की डोर लॉयल्टी यानि ईमानदारी पर निर्भर करती है. एक दूसरे के प्रति प्यार के साथ साथ भरोसा बाहर चीजे होती हैं. लेकिन कोई अगर आपके भरोसे का नाजायज़ फ़ायदा उठाता रहे और आप आंखें मूंद लें यह सोचकर कि रिश्ता टूट जाएगा, तो आप गलत हैं.

सबसे पहली बात आपको समझनी होगी कि अगर आपके पार्टनर आपसे प्यार करते तो वो किसी और के साथ रिश्ते में नहीं आते. और ऐसे रिश्ते में रहना आप खुद के साथ गलत कर रहे हैं. अपने आपको सजा देने के बजाए आपको अपनी आज़ादी का चुनाव करना चाहिए.

अगर आप एक बार माफ़ कर देंगे तो उनकी यह सोच बन सकती है कि मैं चाहे जो भी करूं, उसे बर्दाश्त कर लिया जाएगा, क्योंकि मेरे बिना उसका गुज़ारा नहीं हो सकेगा. ऐसे में आपको एक बड़ा कदम उठान चाहिए, जहाँ बेहतर होगा, पार्टनर के इस भ्रम को तोड़ें और ख़ुद को भी भ्रमित होने से रोकें.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...