PM मोदी के इस इशारे से घबराया विपक्ष! सदन में सोनिया गाँधी को करना पड़ा ये

ज़रूर पढ़ें

संसद में विशेष सत्र के पहले दिन PM मोदी ने देश को कई बड़े सन्देश दिए हैं जिसके बाद विपक्ष प्रधानमंत्री के सस्पेंस से संशय में हैं. वहीँ सत्र के दौरान सोनिया गाँधी की एक एक्शन पर कांग्रेस सवालों के घेरे में हैं

18 से 22 सितंबर तक संसद का विशेष सत्र चलने वाला है. सोमवार को इस सत्र के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मीडिया से बात की. इस दौरान पीएम मोदी ने देश को कई बड़े सन्देश दिए. उन्होंने साफ़ कहा कि ये सत्र छोटा जरूर है लेकिन इसकी अहमियत बहुत बड़ी है. 5 दिनों तक चलने वाले विशेष सत्र में कई बड़े और ऐतिहासिक फैसले लिए जायेंगे। वहीँ पीएम ने आज पुराने सदन में सत्र की शुरुआत में संसद की 75 वर्षीय यात्रा पर चर्चा की. आज प्रधानमंत्री मोदी का रूख अलग नजर आया जहाँ उनकी कई मुख्य बातों ने विपक्ष को परेशान कर दिया है. लोकसभा में पीएम के संबोधन के बाद कांग्रेस से अधिरंजन चौधरी के बोलने की बारी आई. इस बिच सोनिया गाँधी ने कुछ ऐसा कर दिया जिसके बाद कांग्रेस निशाने पर गई है.

- Advertisement -

पीएम मोदी के संबोधन में बड़ा सस्पेंस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज विशेष सत्र के पहले दिन काफी एक्टिव मोड में दिखे। सुबह 10:30 बजे प्रधानमंत्री ने मिडिया से मुखातिब होते हुये हर किसी को हैरान कर दिया. इसके बाद सदन के अंदर उनका 50 मिनट का भाषण भी काफी चर्चा में रहा. गौर करने वाली बात ये है कि विशेष सत्र पर पीएम ने स्पष्ट कहा की हर मायने में यह ऐतिहासिक होने वाला है. ऐसे में अबतक विपक्ष को भी कोई अंदाजा नहीं है की विशेष सत्र में क्या बड़े निर्णय हो सकते हैं. पीएम ने इशारों में ये हिंट देते हुए कहा कि ‘मैं सभी आदरणीय सांसदों से आग्रह करता हूं कि ये छोटा सत्र है, ज्यादा से ज्यादा समय सत्र को मिले। उमंग के वातावरण में मिले, रोने धोने के लिए बहुत समय होता है करते रहिए.

पीएम की मुख्य बातें

पीएम ने मीडिया से मुखातिब होते हुए जानकारी दी की कल से विशेष सत्र की शुरुआत नए संसद भवन में होगी। खासतौर पर प्रधानमंत्री ने बताया की ऐसा इसलिए क्यूंकि कल (19 सितंबर) गणेश चतुर्थी है. वहीँ प्रधानमंत्री मोदी ने आज संसद में 50 मिनट तक सम्बोधित किया। यहां प्रधानमंत्री बीते 75 वर्षों के इतिहास पर संक्षेप में चर्चा कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा, ‘सदन ने कैश फॉर वोट और 370 को भी हटते देखा है। वन नेशन वन टैक्स, जीएसटी, वन रैंक वन पेंशन, गरीबों के लिए 10% आरक्षण भी इसी सदन ने दिया। इसी के साथ प्रधानमंत्री ने कई फैसलों का जिक्र किया जिसने देश की तर्रकी में बहुत बड़ी भूमिका निभाई है. पीएम ने ये भी कहा कि साल 2047 तक भारत को एक विकसित राष्ट्र बना देंगे. पीएम मोदी ने G-20 की सफलता और चंद्रयान-3 पर भी अपने विचार रखे.

सोनिया ने अधिरंजन को बिच में क्यों टोका?

प्रधानमंत्री मोदी के आज सदन में दिए भाषण की चर्चा पूरे देशभर में जमकर होने लगी. पीएम जब सदन में बोलने लगे तब विपक्ष उनकी बातों के मायने ढूंढने लगा. चुकी पहले ही पीएम ये हिंट दे चुके हैं की इस बार सदन में बहुत बड़े निर्णय लिए जायेंगे। बता दें कि प्रधानमंत्री के बाद सदन में अधिरंजन चौधरी के भाषण शुरू हुई. यहां लोकसभा में कांग्रेस नेता ने कहा कि, ‘हम तो यह चाहते हैं कि आज की हालत में संसद में ऐसी परंपरा चालू करें कि विपक्ष के लिए एक दिन हो. उस दिन सिर्फ विपक्ष बोले. तभी बगल में बैठी सोनिया गाँधी ने उन्हें महिला आरक्षण की याद दिला दी. इसके बाद अधिरंजन ने तुरंत सोनिया गाँधी के कहे अनुसार महिला आरक्षण विधेयक को पारित करने की बता कही.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...