PM Modi का सुरक्षा घेरा तोड़ने वाला निकला नन्हा प्रशंसक, कहा- मोदी भगवान की तरह

ज़रूर पढ़ें

पीएम मोदी का रोड शो जब हुबली (कर्नाटक) से गुजर रहा था, उस समय एक बच्चा सुरक्षाकर्मियों को मात देकर पीएम मोदी की तरफ माला लेकर बढ़ गया लेकिन उसे तुरंत रोका गया

पीएम मोदी (Prime Minister Narendra Modi) बीते गुरुवार को 26वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव का उद्घाटन के लिए कर्नाटक (Karnataka) पहुंचे. यहां प्रधानमंत्री (PM Modi) के खतरनाक सुरक्षा घेरा को एक व्यक्ति द्वारा तोड़ने का वीडियो सामने आया था. पूरे देश में खलबली मच गई. कर्नाटक (Karnataka) के हुबली में पीएम मोदी (PM Modi) को फूलों की माला पहनाने का प्रयास किया गया. हालाँकि एसपीजी (SPG) के जवानों ने पीएम तक पहुँचने से पहले हीं अपनी बुद्धिमता दिखाई.

- Advertisement -

पीएम मोदी को पहनना चाहता था माला

बता दें कि सुरक्षा घेरा पार करने वाले जिस शख्स की बात हो रही थी. दरअसल वो छठी क्लास में पढ़ने वाले एक बच्चा है. घटना के वक़्त पीएम मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के साथ चल रहे सुरक्षाकर्मियों (SPG) ने तत्काल बच्चे के हाथ से माला को ले लिया. ऐसे में बच्चे और उसके परिवार वालों से पुलिस ने पूछताछ की.

SPG सुरक्षा तोड़ने वाले की हुई पहचान

12 जनवरी को पीएम मोदी (Prime Minister Narendra Modi) का रोड शो जब हुबली (कर्नाटक) से गुजर रहा था, उस समय पीएम मोदी (PM Modi) कार से बाहर थे. वह लोगों का अभिवादन करते आगे बढ़ रहे थे. तभी अचानक से एक बच्चा सुरक्षाकर्मियों को मात देकर पीएम मोदी (PM Modi) की तरफ माला लेकर बढ़ गया लेकिन उसे तुरंत रोका गया. बता दें कि यहां जब पीएम मोजी एयरपोर्ट से रेलवे स्पोर्ट्स ग्राउंड जा रहे थे तभी ये हादसा हुआ था.

पुलिस ने की पूछताछ

बता दें बच्चे का नाम कुणाल धोंगडी है. बच्चे का कहना है कि वो प्रधानमंत्री (PM Modi) का बहुत बड़ा प्रशंसक है. बता दें कि एसपीजी (SPG) सुरक्षा को भेद कर प्रधानमंत्री मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के निकट जाने वाले बच्चे और उसके परिवार से पुलिस ने पूछताछ की जहाँ सारा सच बाहर आया.

- Advertisement -

प्रधानमंत्री ने भी बढ़ाया हाथ

छठी कक्षा में पढ़ने वाला बच्चा कुणाल पीएम मोदी (PM Modi) के काफी करीब पहुंच गया था. बच्चे को करीब आता देख प्रधानमंत्री मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने माला लेने के लिए अपना हाथ उसकी ओर बढ़ाया. लेकिन तभी सुरक्षाकर्मियों ने अपने धर्म का पालन करते हुये बच्चे को तुरंत दूर कर दिया. एसपीजी अधिकारियों ने कुणाल के हाथ से माला ली और बच्चे को तत्काल वहां से दूर कर दिया. इस बिच फूलों की माला को पीएम की कार के अंदर रख दिया.

पीएम मोदी तक पहुँचने वाले बच्चे ने क्या-क्या कहा

कर्नाटक (Karnataka) के हुबली में पीएम मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को फूलों की माला पहनाने की कोशिश करना वाले बच्चे ने पुलिस के पूछताछ में अपना कारन बताया। उसने ऐसा क्यों किया? उसके मन में प्रधानमंत्री (Prime Minister Narendra Modi) को लेकर क्या विचार हैं. उसने स्पष्टता से साड़ी बाते रखी.

‘प्रधानमंत्री को माला पहनने गया था’

उसने कहा, “मैं पीएम मोदी को माला पहनाने गया था, मैंने न्यूज में सुना था कि मोदी जी आएंगे, इसलिए मेरा मन मचल गया था और मैं परिवार के सदस्यों के साथ वहां गया था, मोदी जी अपनी कार में जा रहे थे, हम चाहते थे कि मेरे चाचा के ढाई साल का बेटा आरएसएस का यूनिफॉर्म पहनकर उन्हें माला पहनाए.”

‘पीएम ने हमें नहीं देखा तो आगे बढ़ा’

कुणाल ने आगे बताया कि रोड शो के दौरान पीएम मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की नजर हमारी ओर नहीं पड़ी. इसके बाद मुझे लगा कि उनकी कार आगे बढ़ी जाएगी. इसके बाद मैं खुद बैरिकेंडिंग से बाहर निकल हाथ में माला लेकर दौड़ पड़ा. कुणाल ने कहा कि वहां कतार में खड़े सभी लोगों की सुरक्षा जांच की गई थी.

‘मोदी का प्रशंसक हूँ’

कुणाल ने कहा, “मैं मोदी का बहुत बड़ा प्रशंसक हूं… वह एक अच्छे इंसान हैं, भगवान की तरह… मुझे खुशी है कि मैं उनके पास माला ले जा सका और उन्हें बहुत करीब से देख सका.”

कुणाल और परिवार से पूछताछ के बाद क्या हुआ?

घटना के बाद पुलिस ने बच्चे के और उसके पूरे परिवार से पूछताछ की. यहां पुलिस सभी दृष्टता से जाँच करते हुये सभी को छोड़ दिया. कुणाल के दादा जो कि घटनास्थल पर उनके साथ थे. उन्होंने कहा कि पुलिस ने हमलोगों से पूछताछ की और जब उन्हें लगा कि हम बेकसूर हैं तो पुलिस ने हमें छोड़ दिया.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...