स्वामी प्रसाद मौर्य होंगे गिरफ्तार? हिन्दू देवताओं और ब्राह्मणों पर अमर्यादित बयान वायरल

ज़रूर पढ़ें

स्वामी प्रसाद मौर्य ने हिन्दू देवी-देवताओं समेत ब्राह्मणों पर अमर्यादित टिप्पणी की है. सोशल मीडिया पर उनकी गिरफ़्तारी की मांग तेज हो गई है

सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य बीते कुछ महीनों से लगातार हिन्दू धर्म पर बयानबाजी कर रहे हैं. सपा नेता सबसे पहले रामचरितमानस पर विवादित बयान दे चुके हैं. जहाँ उन्होंने रामचरितमानस को बकवास बताया था. बीते दिन स्वामी प्रसाद मौर्य उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में गांधी भवन में संविधान व आरक्षण संरक्षण सेना के बैनर तले आयोजित कार्यक्रम में मुख्या अतिथि के रूप में शामिल हुए. उन्हें जैसे ही बोलने का मौका दिया गया वो एक बार फिर सनातन धर्म का अपमान करने से पीछे नहीं हटे. अब सपा नेता ने कहा है कि हिंदू एक फारसी शब्द है जिसका मतलब होता है चोर, नीच, अधम. इसके साथ ही उन्होंने हिन्दू देवी देवताओं समेत ब्राह्मणों पर अमर्यादित टिप्पणी की है. सोशल मीडिया पर उनकी गिरफ़्तारी की मांग तेज हो गई है.

- Advertisement -

हिन्दू देवता पर उगला जहर

सोशल मीडिया पर सपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्या का बयान वायरल हो रहा है. इंटरनेट पर उनकी गिरफ्तारी की बात की जा रही है. जहाँ लोगों ने आरोप लगाया है की स्वामी प्रसाद मौर्य के बयान से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है. दरअसल हिन्दू धर्म में ब्रह्म देवता को सृष्टि के सर्जक माना जाता है. ऐसे में स्वामी प्रसाद मौर्य का वो बयान वायरल हो रहा है जिसमें वो सनातन धर्म के देवता श्री ब्रह्मा पर अमर्यादित बयान दे रहे हैं. सपा नेता ने यहां कहा कि, ब्रह्म देवता द्वारा वर्ण व्यवस्था का जिक्र करते हुए कहा कि कोई मुँह से पैदा हो रहा है, कोई बाहू से तो कोई जांघ से पैदा हो रहा है वहीँ कोई पैर से पैदा हुआ. लगता है ब्रह्मा के शरीर में चार-चार जगह पैदा होने वाली अलग अलग थी.

ब्राह्मणों पर दिया विवादित बयान

स्वामी प्रसाद मौर्या ने आगे कहा कि, ब्राह्मण धर्म को हिंदू धर्म कहा क्यों गया? क्योंकि 1931 की जातीय जनगणना में ब्राह्मण की आबादी साढ़े तीन प्रतिशत थी. यहां उन्होंने ये बताने की कोशिश कि की साढ़े तीन फीसदी आबादी वाला ब्राह्मण इस अनुसार अल्पसंख्यक हो जाता. सपा नेता ने आरोप लगाया की इन्होने अपने को बहुसंख्यक बनाए रखने के लिए क्षत्रिय को जोड़ा, शूद्रों को जोड़ा. ताकि ये बहुसंख्यक बने रहे. स्वामी प्रसाद मौर्य ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि इनकी चालबाजी समझो. इसीलिए हम जिसको हिंदू धर्म मानते हैं वह हिंदू धर्म है ही नहीं. अगर हिंदू धर्म होता तो सबको बराबर का दर्जा दिया जाता. इसके बाद ही सपा नेता ने ब्रह्म देवता के वर्ण व्यवस्था का जिक्र कर हिन्दू देवता पर अपमानजनक बयान दे दिया. फ़िलहाल सोशल मीडिया पर स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ आक्रोश देखा जा रहा है जबकि उन्हें गिरफ्तार करने के लिए यूपी पुलिस को टैग भी किया जा रहा है. योगी सरकार से भी स्वामी प्रसाद मौर्य को गिरफ्तार करने का आग्रह किया जा रहा है.

फ़ारसी में हिन्दू शब्द का मतलब समझाया

स्वामी प्रसाद मौर्या ने आयोजित कार्यक्रम में अपना भाषण शुरू किया तो सबसे पहले हिन्दू राष्ट्र पर हमला बोला. यहां सपा नेता ने कहा कि जिसको तुम हिंदू राष्ट्र बोलते हो वह भारत राष्ट्र पहले से स्थापित है. यह भारत कभी भी न हिंदू राष्ट्र था, न हिंदू राष्ट्र है और न हिंदू राष्ट्र रहेगा. कभी नहीं रहेगा. वहीँ उन्होंने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा की हिन्दू धर्म कैसे कैसे है? सच पूछिए तो हिन्दू धर्म का फ़ारसी शब्द क अर्थ ही कुछ और है. उन्होंने यहां कहा कि हिन्दू में फ़ारसी शब्द का मतलब है चोर, नीच, अधम.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...