Delhi के Jahangirpuri में फिर हुई पत्थरबाजी, कई गाड़ियों में भी तोड़फोड़. इलाके में फैला तनाव

ज़रूर पढ़ें

महज एक महीने पहले 16 अप्रैल को दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में हनुमान जयंती के दिन बहुत बड़ी हिंसा फैली थी. आरोपियों की धर पकड़ से लेकर पुलिस ने बेहद गंभीरता से तनाव को कम किया

महज एक महीने पहले 16 अप्रैल को दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में हनुमान जयंती के दिन बहुत बड़ी हिंसा फैली थी. आरोपियों की धर पकड़ से लेकर पुलिस ने बेहद गंभीरता से तनाव को कम किया.

- Advertisement -

वहीँ लगभग दर्जनों आरोपियों की गिरफ़्तारी भी हुई लेकिन इस हिंसा कि आग अभी बुझी भी नहीं थी की एक और चौकाने वाला मामला देलगी के जहांगीरपुरी से हीं आ गई. यहां दिल्ली के महिंद्रा पार्क थाना इलाके के जहांगीरपुरी में मंगलवार रात को जमकर पथराव हुआ, इसी दौरान गाड़ियों के शीशे भी टूटे हैं.

STONE PELTING TOOK PLACE AGAIN IN JAHANGIRPURI, DELHI

रिपोर्ट्स के मुताबिक पत्थरबाजी की यह घटना जहांगीरपुरी के जे ब्लाक में हुई है। पथरबाजी को लेकर बताया गया कि असामाजिक तत्वों ने पथराव के दौरान गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की गई.

इस घटना का वीडियो भी जमकर वायरल हो रहा है जहाँ दो पक्षों में जमकर पथरबाजी की जा रही है. फिलहाल पुलिस लगातार मामले की जांच और स्थानीय लोगों से पूछताछ में जुटी हुई है. इस घटना के बाद से हीं एक बार और इलाके में दहशत का माहौल फ़ैल चूका है.

- Advertisement -

डीसीपी उषा रंगनानी का इस पथरबाजी वाली लेकर साफतौर पर कहना है कि इस घटना का कोई सांप्रदायिक एंगल नहीं है. दोनों ही गुट एक ही समुदाय से संबंध रखने वाले हैं. इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ है.

DCP USHA RANGNANI

पुलिस ने बताया कि इस मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया गया है. घटना में शामिल अन्य लोगों को भी जल्दी ही पकड़ लिया जाएगा.

इस बीच दिल्ली पुलिस कि ओर से जहांगीरपुरी में पथराव और हिंसा के बाबत बयान जारी किया गया है. उत्तर पश्चिम की डीसीपी उषा रंगनानी के मुताबिक, मंगलवार रात करीब पौने ग्यारह बजे महेंद्र पार्क पुलिस स्टेशन में जहांगीरपुरी के जे ब्लॉग में पथराव की काल की जानकारी दी गई थी.

वहीं, पहुंची पुलिस को जांच में पता चला कि जहीर अपने कुछ दोस्तों के साथ समीर और सोहेब को ढूंढ़ने आया था. इन दोनों के साथ जहीर की कुछ दिन पहले बहस हुई थी. वीडियो में ये सभी शराब के नशे में दिखाई दे रहे हैं.

यहां पर जब कोई नहीं मिला तो इन्होंने कुछ पत्थर गाड़ियों पर फेंक दिए, जिसमें कुछ गाड़ियों के शीशे टूट गए.

मौजूदा समय में इलाके के लोग सुरक्षा की बात कह रहे हैं, वहीँ हर किसी को एक महीने पहले की हिंसा याद आ चुकी है. जहाँ जहांगीरपुरी छावनी में तब्दील हो गया था. वहीँ देशभर में हंगामा भी मचा था.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...