अखिलेश यादव (akhilesh yadav) ने योगी की पुलिस को कहा ‘बद्तमीज’, जनसभा में सपा प्रमुख के व्यवहार पर उठे सवाल

ज़रूर पढ़ें

ए पुलिस वालों, ऐ पुलिस, ऐ पुलिस वालों… क्यों कर रहे हो ये तमाशा, ऐ तुमसे ज्यादा बदतमीज कुछ नहीं हो सकता, क्यों ऐसा कर रहे हो भाई. ये लगता है बीजेपी वाले करवा रहे हैं. ये बीजेपी वालों ने रेड कार्ड इश्यू किए थे, याद है कि नहीं…

उत्तरप्रदेश में विधानसभा चुनाव के दो चरण पर मतदान हो चुके हैं, इस बिच सभी पार्टियां अपने अपने तरीके से जनता को भरोसा दिलाने में लगे हैं की वो दूसरी पार्टियों से किस कदर अलग हैं.

- Advertisement -

प्रदेश को लुभाने का भी कार्य बेहद जोश से पूरा हो रहा है. इस बिच चुनावी रैलियों के कतार बीते बुधवार से हीं एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है, जिसमे समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के बिगरे बोल साफ़ नजर आ रहे हैं.

AKHILESH YADAV UP

अमर्यादित भाषा का परिचय देते हुये अखिलेश यादव ने ऐसी जुबान बोल दी है, की जनता उन्हें जमकर लताड़ रही है.

दरअसल साइकिल वाले बबुआ तीसरे चरण के मतदान से पहले कन्नौज के तिर्वा विधानसभा क्षेत्र में मां अन्नपूर्णा देवी मंदिर परिसर में सपा मुखिया अखिलेश यादव की जनसभा लगी थी, उनके स्वागत के लिए सपा नेताओं ने खूब जोड़दार जोश दिखाया। ऐसा लगा जैसे उन्हें आज ही अखिलेश बबुआ सत्ता में अगर आये तो उन्हें मंत्रिमण्डल में बिठा देंगे.

- Advertisement -

लेकिन जिस तरीके से सपा मुखिया ने पुलिस की वर्दी पर अपनी बदज़ुबानी जाहिर की उसने उनकी मानसिकता पर सवाल खड़ा करता है, इस जनसभा में भाई साहब यूपी की जिम्मेदार पुलिस को ए पुलिस कहकर समोधित करते हैं जिसके बाद अखिलेश यादव कहते नजर आएं, ए पुलिस वालों, ऐ पुलिस, ऐ पुलिस वालों… क्यों कर रहे हो ये तमाशा, ऐ तुमसे ज्यादा बदतमीज कुछ नहीं हो सकता, क्यों ऐसा कर रहे हो भाई. ये लगता है बीजेपी वाले करवा रहे हैं. ये बीजेपी वालों ने रेड कार्ड इश्यू किए थे, याद है कि नहीं…


दरअसल अखिलेश यादव की तिर्वा की रैली में पार्टी के कुछ सपा कार्यकर्ता बैरीकेडिंग तोड़कर मंच तरफ बढ़ने की कोशिश करने लगें, जहाँ जाहिर तौर पर पुलिसकर्मी जिनकी वहां ड्यूटी लगी है, वो सुरक्षा के लिहाज से शांति बनाये रखने के लिए उन्हें रोकेंगे। ऐसे में पुलिसकर्मियों ने उन्हें संभालने के लिए डंडा उठाया.

AKHILESH YADAVSP LEADER

अखिलेश यादव मंच से हीं बिना सोचे समझे पुलिसकर्मियों को बद्तमीज कह दिया, फिर क्या अखिलेश यादव के इस अमर्यादित भाषा पर चारो तरफ से उनकी आलोचना होने लगी.

जहाँ एक तरफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश में अपनी कानून व्यवस्था और पुलिसकर्मियों को सशक्त बनाने के लिए अपराधियों पर सिकंजा कसने के लिए उन्हें सम्मानपूर्वक सम्बोधन करते हैं वहीँ दूसरी तरफ अखिलेश यादव के बिगड़े बोल.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...