रुपेश पांडेय (RUPESH PANDEY) की कट्टरपंथियों ने की हत्या, वहीँ शफी अहमद ने हनुमान मंदिर में भगवान की मूर्तियों पर पत्थर से किया वार

ज़रूर पढ़ें

एक तरफ पूरे देश में रुपेश पांडेय की इन्साफ की जंग लड़ी जा रही है, जहाँ परिवार सहित हिन्दू धर्म से जुड़े लोग और अन्य छात्र संध ने रुपेश कुमार पांडेय की माँ के साथ खड़े होने के साथ साथ झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (HEMANT SOREN) से मामले पर एक्शन लेने की मांग कर रहे हैं

झारखण्ड के हजारीबाग में 17 साल के हिन्दू बच्चे की हत्या कर दी गई थी. माँ सरस्वती के विसर्जन में कट्टरपंथियों ने रुपेश कुमार पांडेय कि पिट पीटकर हत्या कर दी थी. ये मामला झारखण्ड सहित पूरे देश में आक्रोश की वजह बन गई. हिन्दू धर्म समेत कई अन्य समुदाय के लोगो ने रुपेश पांडेय के हक़ और न्याय के लिए कर रहे हैं.

- Advertisement -


इन सब में हजारीबाग के बरही थाना क्षेत्र के उसी इलाके से एक सनसनी फैलाने वाली खबर सामने आई है जहाँ रुपेश की हत्या की गई थी. जहाँ एक मुस्लिम युवक शफी अहमद ने हनुमान मंदिर में भगवान की मूर्ति को पत्थर से मारने का संगीन अपराध किया है.

इस मुस्लिम युवक के घटिया हरकत ने एक बार फिर झारखण्ड सरकार और वहां की क़ानूनी सवाल खड़ा करता है.

एक तरफ पूरे देश में रुपेश पांडेय की इन्साफ की जंग लड़ी जा रही है, जहाँ परिवार सहित हिन्दू धर्म से जुड़े लोग और अन्य छात्र संध ने रुपेश कुमार पांडेय की माँ के साथ खड़े होने के साथ साथ झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (HEMANT SOREN) से मामले पर एक्शन लेने की मांग कर रहे हैं.

- Advertisement -

जबकि 12 फरवरी को हीं एक और घटना सामने आई है जिसने हिन्दू धर्म से जुड़े लोगो की भावनाओं को आहात करने का काम किया.


हनुमान मंदिर में मूर्ति को पत्थर से तोड़ने वाले मुस्लिम आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया हैं जहाँ शफी अहमद ने अपना घिनौने अपराध को काबुल कर लिया है.

इसपर ज्यादा जानकारी देते हुये हजारीबाग पुलिस के SP मनोज रतन चौथे ने खुलासा करते हुये मामले पर जानकारी देते हुये कहा “12 फरवरी 2022 को बरही थाना क्षेत्र में तिलैया रोड पर एक मंदिर में हनुमान जी की मूर्ति को क्षतिग्रस्त किया गया था. इस मामले में शफी अहमद को गिरफ्तार किया गया है. उसकी उम्र 20 वर्ष के आसपास है. उसने अपना जुर्म कबूला है. पूछताछ में उसने बताया है कि 12 तारीख को एक झंडे को कुछ लोगों द्वारा जलाने की कोशिश की गई थी. उसी घटना के आक्रोश में उसने इस घटना को अंजाम दिया. इसमें और लोगों की भी संलिप्तता सामने आ रही है. घटना करने में केवल वही शामिल था. लेकिन इसमें साजिश रचने और उकसाने में अन्य लोगों का भी रोल सामने आ रहा है. उस पर जाँच चल रही है.”

PROTESTING FOR JUSTICE OF RUPESH PANDEY


जबकि इस बिच पुलिस अधीक्षक रतन चौथे ने रुपेश पांडेय की हत्या पर भी बयान दिया है. उन्होंने कहा “मृतक रुपेश की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। रिपोर्ट के अनुसार उसके सिर पर वार किया गया था. साथ ही उसकी गर्दन, पेट और तिल्ली पर भी चोट के निशान मिले हैं. यह हत्या मॉब लिंचिंग नहीं है. हत्या की वजह व्यक्तिगत दुश्मनी है.”

मौजूदा समय मंदिर में मूर्ति तोड़ने वाले वाले मुस्लिम युवक के खिलाफ जमकर आक्रोश नजर आ रहा है, साथ हीं रुपेश पांडेय के हत्यारे और मूर्ति पर प्रहार करने वाले आरोपी के लिए कड़ी से कड़ी सजा की मांग की जा रही है.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...