मॉब लिंचिंग (MOB LYNCHING) का शिकार हुये रुपेश कुमार की हत्या पर न्याय मांगने की आवाज हुई तेज, एबीवीपी (ABVP) का सीएम (CM) हेमंत सोरेन (HEMANT SOREN) के खिलाफ जमकर नारेबाजी

ज़रूर पढ़ें

झारखंड की हेमन्त सोरेन की सरकार निकम्मी साबित हो रही है. यह सरकार गरीब, युवा और महिला विरोधी सरकार है. एक तरफ सरकार मॉब लिंचिंग के खिलाफ कानून लाने की बात कर रही है. वहीं दूसरी तरफ एक हिंदू नाबालिग लड़के की हत्या के बाद कोई बयानबाजी नहीं कर रही है

झारखण्ड के हाजीराबाग में मॉब लिंचिंग का शिकार हुये 17 वर्षीय रुपेश कुमार के न्याय की गूंज अब पूरे भारत में सुनाई दे रही है. मुस्लिम कट्टरपंथियों ने जिस तरीके से सरस्वती विसर्जन में शामिल हुई बच्चे रुपेश कुमार की हत्या की उससे आज हर एक हिन्दू धर्म के लोग बेहद आक्रोशित हैं. 6 फरवरी को रुपेश कुमार पांडेय (RUPESH KUMAR PANDEY) और उनके अन्य साथियो के साथ मुस्लिम कट्टरपंथियों ने कहा सुनी की और रुपेश को जमकर मारा गया, ऐसे हालात में हिन्दू बच्चे को अस्पताल तो ले जाया गया लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत पाया। आज सोशल मीडिया हो या सड़क हर जगह रुपेश की हत्या करने वाले हत्यारों को फ़ासी पर लटकाएं जाने की मांग हो रही है. उधर रुपेश की माँ भी अपने लाल के लिए दिन रात प्रशासन के आगे कट्टर मुस्लिम अपराधियों को सजा देने की गुहार लगा रही है.

- Advertisement -


ऐसे में ये मामला संसद तक पहुंच चूका है जहाँ झारखण्ड से दो बीजेपी सांसदों ने रुपेश पांडेय की घटना को सबके सामने रखा, जिनमे रांची से भाजपा सांसद संजय सेठ और चतरा से भाजपा सांसद सुनील कुमार सिंह शामिल हैं लेकिन दूसरी तरफ जिनके राज्य में एक छोटे बच्चे की कट्टर मुस्लिमों ने हत्या की उसपर अभी तक राज्य सरकार हेमंत सोरेन (HEMANT SOREN) की तरफ से कोई बयान नहीं आया है इसलिए सीएम के खिलाफ भी जगह जगह विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं.


बीते दिन राजधानी रांची के अल्बर्ट एक्का चौक पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने झारखण्ड के सीएम (CM) हेमंत सोरेन (HEMANT SOREN) के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. और आवाज उठाते हुये एबीवीपी (ABVP) रूपेश पांडेय के हत्यारों को जल्द से जल्द सजा दिलाने की मांग कर रहे थे . रांची में भरी हुजूम उम्दा हुआ था, जहाँ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता सड़कों पर उतरकर झारखण्ड के बरही में हुई रूपेश पांडेय की मौत पर सभी प्रदर्शन कर रहे थें.


इस दौरान अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के जिला संयोजक प्रेम प्रतीक ने कहा कि झारखंड की हेमन्त सोरेन की सरकार निकम्मी साबित हो रही है. यह सरकार गरीब, युवा और महिला विरोधी सरकार है. एक तरफ सरकार मॉब लिंचिंग के खिलाफ कानून लाने की बात कर रही है. वहीं दूसरी तरफ एक हिंदू नाबालिग लड़के की हत्या के बाद कोई बयानबाजी नहीं कर रही है. जबकि आक्रोशित होकर उन्होंने आगे कहा कि जब झारखंड में तबरेज नाम के एक चोर की हत्या होती है तो उसका मामला यूएन (UN) तक उठाया जाता है. वहीं रूपेश पांडेय (RUPESH PANDEY) की हत्या के मामले में कोई भी कुछ नहीं बोल रहा क्यों कि रूपेश एक हिंदू लड़का है. उन्होंने कहा कि यदि सरकार जल्द ही कोई ठोस कदम नही उठाती है तो अखिल भारतीय हिन्दू परिषद देश भर में चरणबद्ध आंदोलन करेगी. वहीं उन्होंने कहा कि इस बार के चुनाव में झारखंड के युवा हेमंत सोरेन का बहिष्कार भी करेंगे.

- Advertisement -


मौजयदा समय में स्थिति दिन प्रतिदिन बिगड़ती चली जा रही है जहाँ झारखण्ड के साथ अब दूसरे राज्यों से भी मृतक रुपेश के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं, जबकि नारेबाजी करते हुये हिन्दू धर्म से जुड़े लोग और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के आलावा अन्य भी रुपेश कुमार पांडेय के साथ इन्साफ की लड़ाई में डटे हुयें हैं.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...