जब रोहित शर्मा ने दिया विराट का साथ || ROHIT SHARMA ON VIRAT KOHLI

ज़रूर पढ़ें

भारतीय टीम के रन मशीन नाम से मशूर और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान विराट कोहली इस वक़्त अपने करियर के सबसे मुश्किल दौर से गुज़र रहे है।तमाम कोशिशों के बावजूद उनका खामोश बल्ला नहीं चल रहा । उनकी खरब प्रदर्शन को देखते हुए अब पूर्व क्रिकेटर्स उनके खराब फॉर्म पर सवाल उठा रहे है। पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव, सुनील गावस्कर के बाद अब अजय जडेजा ने भी विराट कोहली के फॉर्म पर सवाल खड़े किये है । एक टीवी प्रोग्राम में जडेजा ने यह तक कह दिया कि अगर मैं टीम इंडिया का सिलेक्टर होता, तो विराट कोहली को टी-20 टीम में नहीं चुनता। तो वही एक दिन पहले 1983 वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के कप्तान कपिल देव ने कहा था कि यदि आर. अश्विन खराब प्रदर्शन के कारण टीम से ड्रॉप किए जा सकते हैं तो विराट कोहली क्यों नहीं। इस बीच सुनील गावास्कर ने कोहली की आलोचना की थी न किसी रूप में दर्शकों का मनोरंजन करते रहते हैं।

- Advertisement -

इसी बिच मज़ा तो तब आया जब रोहित शर्मा ने कपिल देव को दिया जवाब कहा उन्हें नहीं पता अंदर क्या हो रहा है, एक-दो सीरीज कोहली को खराब खिलाड़ी नहीं बनाती।भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने विराट कोहली का बचाव किया है। भारत-इंग्लैंड तीसरे टी-20 के बाद रोहित ने कहा है कि एक-दो खराब सीरीज कोहली को खराब खिलाड़ी नहीं बनाती है। हमने उनके पिछले प्रदर्शन को नजर अंदाज नहीं कर सकते हैं। पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए रोहित ने कहा कि वे बाहर से खेल देख रहे हैं और नहीं जानते हैं कि अंदर क्या हो रहा है।

- Advertisement -

रोहित शर्मा ने कहा कि वे बाहर से खेल देख रहे हैं और नहीं जानते हैं कि अंदर क्या हो रहा है। हमारी अपनी विचार प्रक्रिया है। हम अपनी टीम बनाते हैं और इसके पीछे काफी सोच होती है। हम लड़कों का समर्थन करते हैं और उन्हें अवसर देते हैं। ऐसे में ये बातें आपको बाहर से पता नहीं चलतीं। इसलिए बाहर जो हो रहा है, वह महत्वपूर्ण नहीं है, लेकिन भीतर जो हो रहा है, वह हमारे लिए अधिक महत्वपूर्ण है। इंग्लैंड के साथ हुए दूसरे टी-20 से पहले डेविड मलान का बड़ा बयान सामने आया था जिसमे उन्होंने कहा था की कोहली बेस्ट हैं; जरूरी नहीं कि वे शतक लगाएं, लेकिन टीम को मजबूती देंगे।

कैसा रहा विराट का आकड़ा :

वही विराट कोहली के आकड़ो पर नज़र डाले तो भारत के लिए कोहली ने ने 3 साल में 65 मैच खेले, एक शतक तक नहीं लगा पाए; पिछली 10 पारियों में बेस्ट स्कोर 52 रन था। तीन साल पहले तक भारतीय बल्लेबाजी की रीढ़ माने जाने वाले विराट कोहली इस समय करियर के सबसे बुरे दौर से गुजर रहे हैं। इस बीच उनके सामने एक और विशाल चुनौती आन खड़ी हुई है। चुनौती यह है कि अगर उन्हें भारत की टी-20 टीम में बने रहना है तो 160+ के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करनी होगी।

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...