महिला आरक्षण बिल पर PM मोदी का करिश्माई कारनामा, PM ने जब महिलाओं के पैर छुए!

ज़रूर पढ़ें

लोकसभा और विधानसभा में 33 फीसदी के साथ महिला आरक्षण बिल को पास किया गया. ऐसे में आज पीएम मोदी बीजेपी मुख्यालय पहुंचे तो उन्होंने महिलाओं से आशीर्वाद लिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 27 सालों से लटका महिला आरक्षण बिल को एक नई दिशा मिली है. महिलाओं के लिए लोकसभा और विधानसभा में 33 फीसदी आरक्षण के प्रावधान वाला महिला आरक्षण बिल लोकसभा और राज्यसभा से पास हो गया है. बीते दिन इस ख़ुशी में महिलाओं सांसदों ने उनका संसद के में गेट पर खड़े होकर आभार व्यक्त किया. पीएम मोदी इस सफलता के बाद 22 सितंबर को बीजेपी मुख्यालय पहुंचे. वहां पहले से महिला कार्यकर्त्ता मौजूद थी. महिला कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया.

- Advertisement -

पीएम मोदी ने महिलाओं से लिया आशीर्वाद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 11 बजे दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय पहुंचे. हालाँकि महिला कार्यकर्त्ता सुबह से ही पीएम का स्वागत करने के लिए जुट रही थी. भाजपा मुख्यालय में जश्न का माहौल बना हुआ था. इसके अलावा रंग गुलाल भी लगाए जा रहे थे. इस बिच महिला कार्यकर्ताओं ने मिठाई बांटकर बिल के पास होने का जश्न मनाया. वहीँ प्रधानमंत्री मोदी ने महिला कार्यकर्ताओं से आशीर्वाद भी लिया. इस दौरान उनके साथ बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण समेत अन्य मौजूद थे.

पीएम मोदी की ख़ास बातें

प्रधानमंत्री मोदी ने बीजेपी मुख्यालय से देश को सम्बोधित करते हुए इसे एक ऐतिहासिक क्षण बताया। बता दें कि महिला आरक्षण बिल को सरकार ने नारी शक्ति वंदन अधिनियम नाम दिया है. ऐसे में पीएम ने कहा कि दोनों सदनों से पास होना इस बात का भी साक्षी है कि जब पूर्ण बहुमत वाली स्थिर सरकार होती है, तो देश कैसे बड़े फैसले लेता है, बड़े पड़ावों को पार करता है. उन्होंने कहा कि महिला आरक्षण को लागू करने में तमाम अड़चनें थी, लेकिन जब नीयत साफ होती है तब सब अच्छी चीजें होती हैं.

लोकसभा और राज्यसभा में वोटिंग की संख्या

लोकसभा और राज्यसभा में महिला आरक्षण बिल पर बहुमत मिली. ऐसे में पीएम मोदी ने कहा कि पूरे देश की माताएं बहनें खुशियां मना रही हैं. महिला आरक्षण बिल कानून कोई सामान्य कानून नहीं है बल्कि नए भारत कि नई लोकतान्त्रिक प्रतिबद्धता का उद्घोष है. बता दें कि 20 सितंबर को 7 घंटे के कार्यवाही के बाद लोकसभा से पास हुआ. महिला आरक्षण बिल पर लोकसभा में कुल 454 पक्ष और 2 विपक्ष में वोट पड़ा. वहीँ 21 सितंबर को 214 समर्थन के साथ महिला आरक्षण बिल पास हुआ. राज्यसभा में ख़ास बात ये रही की महिला आरक्षण बिल खिलाफ एक भी वोट नहीं हुई.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...