हिजाब VS भगवा : पाकिस्तान की शर्मनाक हरकत, नापाक मनसूबे लेकर रच रहा साजिश

ज़रूर पढ़ें

‘मार्टिन लुथर किंग ने एक बार कहा था- नफरत को नफरत से खत्म नहीं किया जा सकता, नफरत को केवल प्यार से खत्म किया जा सकता है. इस दृश्य को देखिए..एक अकेली … मुस्लिम लड़की को कट्टरपंथी हिंदुओं की एक बड़ी भीड़ परेशान कर रही है. अकेली लड़कियों को घेरकर नफरत को मत बढ़ाओ’

बदहाल अर्थव्यवस्था, कर्ज पर जिनका पेट पल रहा, जिनका काम दिन रात दहशत फैलाना हो. जिनके मुल्क में हिन्दू धर्म, सिख धर्म, ईसाई यहां तक की मुल्क के गरीब मुस्लिमों पर जुल्म किये जातें हो. मंदिरो को तोड़ा जाता हो, और अगर वो भारत की खूबसूरती अपनी दागदार पहचान देने की कोशिश करें तो इससे ज्यादा बेशर्मी की बात कुछ और हो ही नहीं सकता, और उन्ही में से एक मुल्क है पाकिस्तान. जिसकी जितनी पापों की कहानियों का जिक्र करे तभी वो उसकी नियत की सिमा पर कड़ी नहीं उतरेगी क्यूंकि जिल्लद पाकिस्तान के रोम रोम में बसा हुआ है.

- Advertisement -


बीते एक महीने से कर्णाटक के उड्डुपी जिले में हिजाब बनाब भगवा स्कार्फ़ का मामला गरमाया हुआ है जहाँ ये मामला तब सामने आया था जब छात्रों को क्लास के अंदर हिजाब के बदले प्रॉपर शिक्षा प्रणाली की यूनिफार्म में पहुंचने की बात कही गई थी, इस मामले के बाद जिले के कई स्कूल और कॉलेजेज में हिजाब पर बैन लगा जहाँ शिक्षा के मंदिर में व्यवस्थित नियम लागू लगाने वाले प्रशासन ने साफ़ तौर पर कहा था की जहाँ शिक्षा मिलती है वो जगह छात्रों के लिए है और किसी भी तरीके से मजहबी रंग नहीं दिया जायेगा, जिसके बाद से छात्रों के खिलाफ हिन्दू समुदाय से जुड़े छात्रों ने भी भगवा स्कार्फ़ पहन कर उनका विरोध किया, ये मामला अभी हाई कोर्ट में पहुंचा है. लेकिन एक तरफ हिजाब के समर्थन में मुस्लिम छात्राये और उनके सहपाठी साथ ही भगवा स्कार्फ़ डेल हिन्दू समुदाय के छात्र दोनों को साफ़ कहना है की उन्हें न्याय प्रणाली के फैसले का इंतजार है जहाँ उन्हें भारतीय न्याय व्यवस्था पर भरोसा भी है लेकिन इन सब में पाकिस्तान को चैन नहीं आया, वहां से ताबतोड़ ट्वीट्स आ रहे हैं, जब वहां में स्थिति बाद से बदतर है, लेकिन फिर भी उन्हें हमारे देश के अंदुरुनी मामले में ताक झांक करनी है.

बीते दिनों हिजाब वर्सेज भगवा मामले में एक मुस्लिम छात्रा जय श्री राम के नारे लगा रहे हिन्दू धर्म से जुड़े छात्रों के सामने अल्लाह हु अकबर का नारा लगते हुये अकेली दिखी जिसके बाद से ये मामला और गरमाया लेकिन एक तरफ जहाँ विवादों के कीचड़ में छात्रों को शांत करने के साथ साथ उन्हें शिक्षा पर ज्यादा ध्यान देने की बात पर भारत ध्यान दे रहा है तो वहीँ पाकिस्तान इस मामले में अपनी टांग ऐडा कर ये साबित कर चूका है की इस मुल्क का एक ही उद्देश्य है जिसके आधार पर इनका मुल्क चलता है और वो है भारत की अंदुरुनी समस्या. जहाँ इनके न्यूज़ चैनल्स को चटपटी खबरे मिल रही है, जिससे इनकी टीआरपी की भूख मिट सके और वहां के कुछ ऐसे लोग जिन्हे सोशल मीडिया में थोड़ी बहुत इम्पोर्टेंस यानी कुल मिलाकर अटेन्शन का भूखा पाकिस्तान किइस भी हद तक जा सकता है.


यहां अल्लाह हु अकबर का नारा लगते हुये छात्रा का वीडियो बड़ी हीं तेजी से वायरल हो रहा है, जिसका पाकिस्तान सबसे ज्यादा फायदा उठा रहा है. बीते दिनों इस वीडियो की घटना पर भारतीय पत्रकार स्वाति चतुर्वेदी ने इसे साझा किया जिसपर तुरंत रीट्वीट करते हुये पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर का रिएक्शन आ गया जहाँ महाशय ने लिखा ‘मार्टिन लुथर किंग ने एक बार कहा था- नफरत को नफरत से खत्म नहीं किया जा सकता, नफरत को केवल प्यार से खत्म किया जा सकता है. इस दृश्य को देखिए..एक अकेली … मुस्लिम लड़की को कट्टरपंथी हिंदुओं की एक बड़ी भीड़ परेशान कर रही है. अकेली लड़कियों को घेरकर नफरत को मत बढ़ाओ.’

- Advertisement -


ऐसे दरियादिली की मिसाल बनने का नाटक करने वाले पत्रकार जैसे कई और लोग भी थे,जो इसी बहाने लाइक्स और कमैंट्स की चाहत में दोहरे चरित्र का प्रदर्शन किया, यहां एक पाकिस्तानी ज़ेर जिसका नाम जीशान सईद नाम है, उसने कहा ‘भारत की हर मुस्लिम महिला को खासकर इस वक्त बुर्का पहनना चाहिए.’ जबकि इस बिच मुजामिल नाम के एक यूजर ने अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन को टैग करते हुए लिखा, ‘सर, देखिए, भारत में मुसलमानों के साथ क्या हुआ.’ यानी कुल मिलकर पाकिस्तान से एक बार फिर भारत को बदनाम करने की अच्छी साजिश रची जा रही है, जाहिर है ये इनका सबसे मनपसंद काम रहा है. नापाक मुल्क को फ़िलहाल इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता की इनका मुल्क आने वाले दिनों दिवालिया होने वाला है, जहाँ इनके मुल्क के वजीरेआजम कोने में पड़े पड़े नाउम्मीद सपने देख रहे हैं.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...