PAKISTAN की दोहरी राणिनीति, RUSSIA के साथ मुलाकात तो अमेरिका से खौफ

ज़रूर पढ़ें

24 फरवरी को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच व्लादिमीर पुतिन (Imran Khan Vladimir Putin Meeting) से मुलाकात करने पहुंचे, जहाँ इमरान खान दो दिवसीय दौरे पर रूस पहुंचे (Imran Khan Russia Visit) हुए हैं


‘पाकिस्तान’ वो मुल्क जिसका अपना आस्तित्व कभी था हीं नहीं, जिसने कभी खुद की खामिया या खुद की तलाश नहीं की.

- Advertisement -


मौजूदा वक़्त पूरी दुनिया के लिए भयावह है, रूस और यूक्रेन में महाजंग छिड़ चूका है, देश दुनिया की अर्थव्यवस्था अभी से चरमराने लगी है. सेंसेक्स गिरने लगे हैं जबकि शेयर बाजार में हाहाकार मच गया है.

IMRAN KHAN RUSSIA VISIT


यूक्रेन पर हमला बोलते हुये रूस ने भारी तबाही मचाई, लोगो की मौते हों रही है. चारो तरफ देश में मिसाइलों की गूंज सुनाई दे रही है. पूरा विश्व वर्ल्ड वॉर 3 की आहाट को महसूस कर चुकी है. हो न हो ये जंग नहीं थमा तो ग्लोबली दुनिया का हर मुल्क दो हिस्सों में बात जायेगा.


इस पूरे माजरे के बिच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की छवि दुनिया के सामने साफ़ नजर नहीं आ रही. हर कोने से जिल्लत खाने के बाबजूद इमरान खान सुधरने का नाम नहीं ले रहे.

- Advertisement -

मुल्क सँभालने के समय रूस के राष्ट्रपति के आगे पीछे मंडरा रहे हैं जबकि अमेरिका जो यूक्रेन का समर्थन कर रहा है उसकी तरफ आँखे उठाकर देखने की हिम्मत भी नहीं हो रही.


दरअसल, 24 फरवरी को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच व्लादिमीर पुतिन (Imran Khan Vladimir Putin Meeting) से मुलाकात करने पहुंचे, जहाँ इमरान खान दो दिवसीय दौरे पर रूस पहुंचे (Imran Khan Russia Visit) हुए हैं.

RUSSIA-PAKISTAN MEETING

इस दरम्यान रिपोर्ट्स कह रही है की पाकिस्तान यहां अपने व्यापार सम्बन्धी मुद्दों पर बातचीत करने आई है. अब ऐसे में सवाल उठता है की महानुभाव को जहाँ सुलह कर यूक्रेन के साथ मामला ठंडा करने की कोशिश करनी चाहिए वहीँ इमरान खान किस कदर रोल प्ले कर रहे हैं.

ऐसे समय जब लोगो की जाने जा रही है, यूक्रेन की स्थिति बाद से बदतर हो रही है वहीँ इमरान खान इसकी बिना परवाह किये रूस के राष्ट्रपति से व्यापारों के मसले पर बात करने पहुंचे हैं.

हालाँकि इस सब में दुनिया को साफ़ नजर आ रहा है की इमरान खान पाकिस्तान की फजीहत करते करते इतने थक गए की अमेरिका का साथ छोड़कर अब वो चीन भैया के राह पर रूस का साथ देने में लगे हुये हैं.


पाकिस्तान, चीन के अलावा किसी दूसरे मुल्क का सगा नहीं हो पाया, चुकी थोड़ी बहुत जो खर्च उनके मुल्क का चल रहा है वो चीन के बदौलत वरना सपने ये हमेशा मुंगेरीलाल का देखते हैं.


कंगाल पाकिस्तान की टरमोलॉजी भले हीं आधिकारिक रूप से सामने नहीं समझ आई हो, लेकिन यहां दुनिया को इस नापाक मुल्क के मनसूबे के बारे में साफ़ पता है कि ये अपने लालच को हमेशा सही गलत सही के ऊपर रखता है. पाकिस्तान अपने दहशत भरे मानसिकता के लिए किसी भी हद तक जा सकता है.

जिसका सबसे बड़ा उदहारण अभी का देख सकते हैं, जहाँ हर एक मुल्क को ये पता है की वर्ल्ड वॉर 3 जैसे हालात बन गए हैं.

रूस और यूक्रेन में जंग हो चूका है, जहाँ अमेरिका भी सम्मिलित हो चुकी है.भारत जहाँ शांति वार्ता करना चाहती है, कोशिश की जा रही है की हालात पर काबू करने के पूरे प्रयास करे वहीँ पाकिस्तान राणिनीति कर रूस के साथ बैठके कर रहा है

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...