Nupur Sharma की टिप्पणी ने देशभर में लोगों की भावनाओं को भड़का दिया है: सुप्रीम कोर्ट

ज़रूर पढ़ें

नूपुर शर्मा और उनकी हल्की जबान ने पूरे देश में आग लगा दी है. वो उदयपुर में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के लिए जिम्मेदार हैं. नूपुर शर्मा को टीवी पर आकर माफी मांगनी चाहिए

भारतीय जनता पार्टी की निलंबित प्रवक्ता नूपुर शर्मा के पैग़म्बर मोहम्मद पर विवादित टिपण्णी के बाद से देश में हर जगह प्रदर्शन हुये. उनके टीवी डिबेट के दौरान दी गई पैगम्बर मोहम्मद पर विवादित बोल को लेकर अब सुप्रीम कोर्ट ने अब अहम् टिपण्णी दी है. इसके साथ हीं देश में चल रहे हंगामें को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा को जिम्मेदार माना है.

- Advertisement -

सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि निलंबित प्रवक्ता को सबके सामने टीवी पर आकर माफ़ी मांगनी चाहिए। आपको बता दें कि नूपुर शर्मा ने जब पैगम्बर मोहम्मद पर अप्पतिजनक बयान दिया उसके बाद शहर शहर आगजनी, पत्थरबाजी और हिंसा की खबरे सामने आई.

इस मामले ने देश के बाहर भी हंगामा मचाया. कुवैत, यूएई, कतर समेत तमाम मुस्लिम मुल्कों ने बयान को की निंन्दा की. हालाँकि इस बिच नूपुर शर्मा ने माफ़ी मांगी और जबकि बीजेपी ने महिला प्रवक्ता समेत नविन जिंदल को बीजेपी ने पार्टी से निष्काषित कर दिया.

hgbबता दें कि यहां महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में उनके खिलाफ मामले भी दर्ज कराए गए हैं. वहीं, नूपुर शर्मा ने सभी मामलों को दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी, जिसे खारिज कर दिया गया है. सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें हाई कोर्ट जाने के लिए है. बताया जा रहा कि उन्होंने अपनी याचिका वापस ले ली है. 

- Advertisement -

SC ने कहा कि उनकी शिकायत पर एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. लेकिन कई FIR के बावजूद उन्हें अभी तक दिल्ली पुलिस ने उनको छुआ तक नहीं है.

आपको बता दें कि यहां आज सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उनकी टिप्पणी ने देश भर में लोगों की भावनाओं को भड़का दिया है. आज जो कुछ देश में हो रहा है, उसके लिए वो जिम्मेदार हैं.

आगे कोर्ट ने कहा कि हमने डिबेट को देखा है, उसको भड़काने की कोशिश की. लेकिन उसके बाद उन्होंने जो कुछ कहा, वो और ज्यादा शर्मनाक है. नूपुर शर्मा और उनकी हल्की जबान ने पूरे देश में आग लगा दी है. वो उदयपुर में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के लिए जिम्मेदार हैं. नूपुर शर्मा को टीवी पर आकर माफी मांगनी चाहिए.

सुनवाई के दौरान वकील ने जब उनकी क्षमायाचना और पैगंबर पर की गई टिप्पणियों को विनम्रता के साथ वापस लेने की दुहाई दी तब पीठ ने कहा कि वापस लेने में बहुत देर हो चुकी थी. 

यहां कई बार खबरे आ चुकी है कि नूपुर शर्मा की जान को खतरा है जहाँ लगातार बीजेपी कि पूर्व प्रवक्ता ने कहा भी है कि उन्हें धमकियाँ मिल रही हैं, जहाँ कोर्ट जब ये बात आई तो कोर्ट ने सवाल खड़ा करते हुए कहा कि नूपुर शर्मा को खतरा है या वह सुरक्षा के लिए खतरा बन गई हैं? आगे कहा गया कि उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या के के लिए ऐसी बयानबाजी ही जिम्मेदार है.

गौरतलब है कि नूपुर शर्मा ने सख्त रवैया अपनाते हुये अपनी पार्टी की नेता को पैग़म्बर मोहम्मद पर विवादित टिपण्णी देने को लेकर निलंबित कर दिया गया था.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...