Nupur Sharma ने फिर कहा उन्हें जान का खतरा, बिहार में उदयपुर और अमरावती जैसी वारदात!

ज़रूर पढ़ें

राजस्थान और महाराष्ट्र जैसे राज्यों से नूपुर समर्थक का गला रेतने के बाद अभी एक बार फिर एक व्यक्ति को नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर भुगतना पड़ा है. ख़बरों के मुताबिक नूपुर शर्मा का वीडियो देखने पर बिहार के सीतामढ़ी में एक व्यक्ति को चाकू मार दिया गया

कट्टर सोच, मारने काटने कि मानसिकता अब कब तक देश में चलेगी? खुदा के नाम पर और कितनी लाशें बिछेंगी? कब तक नंगी तलवारे मासूम लोगों के गर्दन पर चलेगी? सर तन से जुदा और भारत कि पवित्र धरती पर खून कि होली खेलते हैवान अब और किसका सर कलम करेंगे?

- Advertisement -

पैगम्बर मोहम्मद पर विवादित टिपण्णी मामलें में नूपुर शर्मा को लेकर पूरी दुनिया में जैसे घमासान मच गया. और जगह जगह हंगामा हो गया. इसके बाद अब एक बार फिर नूपुर शर्मा का एक और बयान सामने आ गया है. ऐसे में कट्टरपंथियों में खलबली मच गई है. सर तन से जुदा नारा लगाने वाले कट्टर विचारधारक तलवार लहराने लगे हैं. और नूपुर शर्मा की मौत कि चाहत में बैठे हैं.

उदयपुर हत्याकांड के आरोपी

राजस्थान और महाराष्ट्र जैसे राज्यों से नूपुर समर्थक का गला रेतने के बाद अभी एक बार फिर एक व्यक्ति को नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर भुगतना पड़ा है. ख़बरों के मुताबिक नूपुर शर्मा का वीडियो देखने पर बिहार के सीतामढ़ी में एक व्यक्ति को चाकू मार दिया गया. बाजार में दौड़ा-दौड़ाकर अंकित नाम के युवक पर 6 बार चाकू से हमला किया गया. ऐसे में फिलहाल उसकी हालत बहुत गंभीर बताई जा रही है.

नूपुर शर्मा कि वीडियो देखने पर बिहार में भी युवक पर हुआ हमला!

- Advertisement -

इसी बिच खबर सामने आई कि बिहार के सीतामढ़ी में नूपुर शर्मा के समर्थन पर अंकित नाम के एक युवक के साथ उदयपुर और अमरावती जैसी घटना को अंजाम देने कि कोशिश हुये जहाँ ख़बरों के मुताबिक अंकित एक पान की दुकान पर पान खाने गया था. इसी दौरान नूपुर शर्मा का वीडियो मोबाइल में देख रहा था. मोहम्मद बिलाल सहित 3 लोग पान की दुकान पर आए और नूपुर शर्मा का वीडियो मोबाइल पर देखते ही गुस्सा हो गए. और युवकों ने पहले अंकित के चेहरे पर सिगरेट का धुआं उड़ाया। इसके बाद गाली-गलौज करने लगे. विरोध करने पर अंकित के दाहिने तरफ कमर के पास चाकू से तीनों ने हमला कर दिया.

बिहार के सीतामढ़ी में नूपुर शर्मा के समर्थन पर अंकित नाम के युवक पर हमला

कन्हैयालाल और उमेश कोल्हे को कट्टरपंथियों ने बनाया निशाना

लोकतंत्र और संविधान कट्टरपंथियों के लिए एक खेल है, कानून क्या होता है उसकी कोई परवाह नहीं है. सच क्या है इंसानियत क्या चीज है इन्हे उससे कोई लेना देना नहीं. कन्हैयालाल जी हाँ वहीँ राजस्थान का बेटा कन्हैया लाल जिसका दो हत्यारों ने गला रेत दिया इसके बाद इन्ही कट्टरपंथियों ने कहा कि इन्हे किसी का डर नहीं. अमरावती में भी उमेश कोल्हे नाम के व्यक्ति कि हत्या कर दी. और इनका सीधा उनलोगों से है जो सिर्फ खून बहाना जानते हैं. ऐसे में देश के अलग अलग जगहों से कट्टर विचार वाले लोगों ने दहशत फैलाने कि कोशिश कि. हिन्दुओं को जगह जगह निशाना बनाया गया.

कट्टरपंथियों ने कन्हैयालाल और उमेश कोल्हे कि बेरहमी से हत्या कर दी थी

”उदयपुर में जो दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई है, वह नूपुर के बयान का नतीजा है”

वहीँ नूपुर शर्मा ने खुद कहा था कि उनके जान का खतरा चुकी लगातार सोशल मीडिया में धमकियाँ मिलने लगी कि नूपुर शर्मा जहाँ मिलेगी उसे वहीँ मार दिया जायेगा। गला काटने पर इनाम घोषित होने लगे. ऐसे में 1 जुलाई को नूपुर की याचिका पर सुनवाई कि बात आई थी, जिसमे उन्होंने पैगम्बर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी मामले में अपने खिलाफ अलग-अलग राज्यों में दर्ज मामलों को दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की थी. लेकिन कोर्ट ने याचिका सुनने से मना कर दिया था. वहीँ सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगते हुये कहा था कि देश के बिगड़े हालात के लिए वह अकेले ज़िम्मेदार है. कोर्ट ने यह भी कहा था कि उदयपुर में जो दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई है, वह नूपुर के बयान का नतीजा है.

सुप्रीम कोर्ट ने लगाई नूपुर शर्मा फटकार

यहां जजों ने ये भी कहा था, “आपके चलते देश की स्थिति बिगड़ी हुई है. आपने देर से माफी मांगी, वह भी शर्त के साथ कि अगर किसी की भावना आहत हुई हो तो बयान वापस लेती हूँ. आपको राष्ट्रीय टीवी पर आकर पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए.”

नूपुर शर्मा ने अब कहा ऐसा

इन हालातों के बिच अब नूपुर शर्मा ने फिर कहा है कि उनकी जान को और खतरा बढ़ चूका है. बीते सोमवार को नूपुर की ओर से दाखिल नई याचिका में कहा गया है कि कोर्ट की टिप्पणी के बाद उनकी जान का खतरा और अधिक बढ़ गया है. ऐसे में उनके खिलाफ 8 राज्यों में दर्ज मुकदमे में गिरफ्तारी से राहत दी जाए। याचिका में केंद्र के अलावा महाराष्ट्र, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, जम्मू-कश्मीर और असम को पक्ष बनाया गया है.

नूपुर शर्मा ने बताया जान का खतरा

निजामुद्दीन दरगाह के दीवान बनाया नूपुर को निशाना

सर तन से जुदा का नारा लगाने वाले कट्टर सोच अपनी नीचता कि हद हर रोज पार कर रहे हैं. ये खून के इतने प्यासे हो चुके हैं कि धर्म कि आड़ में संविधान मखौल बना रहे हैं. अफ़सोस तो उन लोगों कि सोच से होती है जो खुद को मुस्लिम स्कॉलर कहते हैं, इसके बाबजूद छोटी सोच का प्रदर्शन करते हैं. इन सब में दिल्ली की हजरत निजामुद्दीन दरगाह के दीवान अली मूसा निजामी ने भी बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद पर टिपण्णी को लेकर कहा कि, “नूपुर शर्मा ने जो कहा उसके लिए उसे इस्लाम माफ नहीं करेगा. इसकी सजा मौत है. भारत में जम्हूरियत है, इसलिए वह जिंदा है. उसे अपने बयान के लिए खुलेआम माफी माँगनी चाहिए। मैं तो कहूँगा कि उसे मंदिर में जाकर माफी माँगनी चाहिए। जो कहा उसके लिए तौबा करनी चाहिए. इसका बड़ा असर होगा.”

नूपुर शर्मा को लेकर निजामुद्दीन दरगाह के दीवान ने दी प्रतिक्रिया
- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...