प्रयागराज हिंसा का मास्टरमाइंड था मोहम्मद जावेद, JNU तक पहुंची हिंसा की चिंगारी

ज़रूर पढ़ें

उत्तरप्रदेश के प्रयागराज जिले में हिंसा मामलें में पुलिस ने एक बड़ी कामयाबी हासिल कर ली है, जहाँ मोहम्मद जावेद उर्फ जावेद पंप को गिरफ्तार किया गया है. जानकारी मुताबिक मोहम्मद जावेद को हिंसा फैलाने का मुख्य आरोपी बताया जा रहा है. वहीँ पुलिस पूछताछ में लगी हुई है

बीते शुक्रवार 10 जून को जुमे की नमाज के बाद UP, बिहार, पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब, झारखण्ड, अहमदाबाद समेत कुल 14 राज्यों को हिंसा में तब्दील किया गया.
हिंसक प्रदर्शन के दौरान तोड़फोड़, और जमकर पत्थरबाजी हुई जबकि गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया, इस बिच पुलिस पर बम फेंके गए.

- Advertisement -

प्रदर्शनकारियों ने नूपुर शर्मा के पैगम्बर मोहम्मद पर दिए बयान को लेकर गिरफ़्तारी की मांग कर रहे थे, लेकिन जब हिंसा फैलने लगी. और देखते हीं देखते उत्तरप्रदेश के कई जिले समेत देश के 14 राज्यों को रणयुद्ध में तब्दील कर दिया गया.

ऐसे में बता दे कि UP में नमाज के बाद जो बवाल और हिंसा हुई उसमे पुलिस ने अबतक 227 आरोपियों को अरेस्ट कर चुकी है. जहाँ अभी भी वीडियो फुटेज के आधार पर हिंसा फैलाने वाले प्रदर्शनकारियों की धर पकड़ जारी है.

बता दें कि कार्यवाई करते हुये पुलिस ने अबतक सहारनपुर में 48, प्रयागराज से 68 , हाथरस से 50, मुरादाबाद से 25, फिरोजाबाद से 8 और अंबेडकरनगर से 28 लोगों को अबतक गिरफ़्तार कर चुकी है.

- Advertisement -

यहां आपकी जानकारी के लिए बता दें कि उत्तरप्रदेश के प्रयागराज जिले में हिंसा मामलें में पुलिस ने एक बड़ी कामयाबी हासिल कर ली है, जहाँ मोहम्मद जावेद उर्फ जावेद पंप को गिरफ्तार किया गया है.
जानकारी मुताबिक मोहम्मद जावेद को हिंसा फैलाने का मुख्य आरोपी बताया जा रहा है. वहीँ पुलिस पूछताछ में लगी हुई है.

पुलिस के मुताबिक जावेद के मोबाइल फोन में 10 जून को भारत बंद से जुड़ी और लोगों भड़काने वाली सामग्री मिली है. आपको बता दें इस बिच जावेद का सबसे करीबी इश्तियाक के अवैध निर्माण पर प्रशासन का बुलडोजर चला है.

एसएसपी अजय कुमार ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि उपद्रव करने के आरोप में खुल्दाबाद थाना में 29 गंभीर धाराओं में 70 नामजद और 5000 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. जबकि फ़िलहाल हिंसा वाली जगहों पर पुलिस का फ्लैग मार्च चला रहा रहा.

एसएसपी ने आगे बताया कि मोहम्मद जावेद की एक बेटी जेएनयू में पढ़ती है, जो जावेद को राय देने का काम करती है. अगर वह भी इस मामले में दोषी पाई गई , तो दिल्ली पुलिस से संपर्क कर अपनी टीमें वहां भेजकर उसे हिरासत में लिया जाएगा.

डीएम संजय खत्री ने बताया कि प्रयागराज विकास प्राधिकरण को गिरफ्तार आरोपियों की जानकारी भेज दी गई है. जांच में अगर उनकी कोई अवैध संपत्ति या कब्जा पाया जाएगा तो कार्रवाई करते हुए उस पर बुलडोजर चलाया जाएगा. इसके अलावा सभी के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...