मौलाना का ‘The Kashmir Files’ फिल्म को बैन करने की मांग, कहा- ‘हमने 800 साल हुकूमत की, खुदा कसम तुम मिट जाओगे’?

ज़रूर पढ़ें

‘हमने इस देश पर 800 साल राज किया है, इन लोगों ने 70 साल राज किया है, हमारी पहचान मिटाना संभव नहीं है

कश्मीरी पंडितो के साथ बर्बरता की जाती है लेकिन तत्कालीन सरकार मौन होकर अत्याचार होते हुये छोर देते रहे. कश्मीर घाटी से कश्मीरी पंडितों को कत्लेआम के बिच अपना आशियाना छोड़कर जाना पड़ गया.

- Advertisement -

हिन्दुओ के साथ होते इस जुर्म से पर्दा उठा कर आज पूरी दुनिया के सामने एक फिल्म आई द कश्मीर फाइल्स जिसने उस दबी हुये सच्चाई को सबके सामने उधर कर रख दिया.

ऐसे में विरोध की आवाज उठी. बौखलाए हुये अशांति पसंद लोगो को तेज मिर्ची लग गई. कट्टरपंथी पुरजोर इस फिल्म का विरोध कर रहे हैं. सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा.

THE KASHMIR FILES STAR CAST

बीते दिनों से एक वीडियो जमकर वायरल हो रही है. जहाँ एक मौलाना नफरत का बीज बोते हुये दिखाई पड़ रहे है. लोगों के बिच मौलाना भाषणों में धमकियाँ दे रहे हैं.

- Advertisement -

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के राजौरी जिले की जामा मस्जिद के मौलवी फारूक ने कई संख्या में जुटे लोगो के बिच द कश्मीर फाइल्स फिल्म पर बैन लगाने की मांग की है. यहां मौलवी फारूक (Maulana Farrukh) ने कहा है कि कश्मीरी मुसलमानों के दर्द को नजरअंदाज किया गया है.

MAULANA’S DEMAND TO BAN THE FILM ‘THE KASHMIR FILES’

यहां मस्जिद जैसे पाक साफ़ जगह पर मौलवी फारूक ने मस्जिद के अंदर लोगों को संबोधित करते हुए कहा है कि कश्मीरी मुसलमानों के दर्द और पीड़ा को भुला दिया गया है.

हजारों मुसलमान मारे गए, उनकी कोई चर्चा नहीं है, लेकिन आज समाज को बांटने के लिए एक फिल्म बनाई गई है.

मौलवी फारूक ने कहा कि हमने इस देश पर 800 साल राज किया है, इन लोगों ने 70 साल राज किया है, हमारी पहचान मिटाना संभव नहीं है.

जबकि मौलाना साहब यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि 32 साल बाद उन्होंने कश्मीरी पंडितों का खून देखा, लेकिन 32 साल में इतने मुसलमान मारे गए, महिलाएं वीरान हो गईं, घर तबाह हो गए लेकिन उन्होंने मुसलमानों का खून नहीं देखा. क्योंकि यह कलमा पढ़ने वालों का खून था. उन्होंने कहा कि पूरे भारत में दहशत फैलाने की कोशिश की जा रही है. हजारों कश्मीरी मुसलमान मारे गए लेकिन उन्होंने उनका दर्द नहीं देखा.

मौलवी फारूक

मौलवी फारूक आगे ये कहा कि इस फिल्म में मुसलमानों के खिलाफ साजिश की गई है, हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं, हम दिल्ली में बैठी केंद्र सरकार की भी निंदा करते हैं.

इस फिल्म के जरिए एक दीवार बनाने की कोशिश की गई है, हम इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि जो लोग हिंदू-मुसलमान से लड़कर राजनीति करना चाहते हैं, उन्हें शर्म आनी चाहिए.

द कश्मीर फाइल्स फिल्म को लेकर मौलवी फारुख ने आगे कहा कि हम अमनपसंद लोग हैं, हमने इस मुल्क पर 800 साल हुकुमत की है, तुम्हें 70 साल हुए हैं शासन करते हुए. तुम हमारा निशान मिटाना चाहते हो, तुम मिट जाओगे लेकिन हम नहां मिटेंगे.

जी हाँ और वायरल वीडियो को लेकर लोगो गुस्सा फुट परा है, लगातार यूज़र्स मौलाना पर सवाल उठा रहे हैं.

जबकि द कश्मीर फाइल्स फिल्म के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने भी इस वीडियो को शेयर करते हुये अपनी बात रखी, जहाँ लोगो की जमकर प्रतिक्रियां आ रही है.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...