पीएम मोदी ने चंद्रयान-3 के लैंडिंग पॉइंट को दिया शिवशक्ति नाम, भड़क उठे मौलाना

ज़रूर पढ़ें

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा चंद्रयान 3 के लैंडिंग पॉइंट को शिवशक्ति नाम दिए जाने पर अब विवाद शुरू हो गया है. लखनऊ स्थित शिया मौलाना सैफ अब्बास नकवी ने इसपर आप्पति जताई है

चंद्रयान-3 (Chandrayan-3) मिशन को ISRO ने कामयाब बनाया है. भारत, दुनिया का पहला देश है जिसने चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव की सतह पर कदम रखा है. विक्रम लैंडर ने शाम 6 बजकर 4 मिनट पर ये कामयाबी हासिल की. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) 23 अगस्त को लॉन्चिंग के समय वर्चुअली जुड़े थे. बता दें कि पीएम मोदी ब्रिक्स सम्मेलन के लिए साउथ अफ्रीका के दौरे पर थे. ऐसे में अब विदेश दौरे से लौटे पीएम मोदी आज दिल्ली जाने के बजाय सीधे बेंगलुरु में स्थित ISRO सेंटर पहुंचे. बता दें कि इस दौरान पीएम (PM Modi) ने ऐलान किया की चंद्रयान-3 (Chandrayan-3) चन्द्रमा के जिस सतह पर लैंड हुआ उस जगह को शिवशक्ति के नाम से जाना जायेगा. ऐसे में अब शिवशक्ति नाम पर विवाद शुरू हो गया है.

पीएम ने किया ऐलान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) 26 अगस्त को अपने विदेश दौरे से लौटते हीं चंद्रयान-3 (Chandrayan-3) को सफल बनाने वाली सभी वैज्ञानिकों से गर्मजोशी से मिले. पीएम ने भारतीय वैज्ञानिकों का आभार व्यक्त किया. वहीँ पीएम (Prime Minister Narendra Modi)ने ISRO सेंटर से ऐलान किया कि चंद्रयान-3 लैंडर ने जिस जगह लैंड किया है उसका नाम शिवशक्ति होगा. पीएम ने ये भी कहा कि जिस जगह चंद्रयान 2 की छाप है उसे तिरंगा पॉइंट कहा जायेगा. यहीं नहीं पीएम ने ऐलान करते हुए कहा की 23 अगस्त को हिंदुस्तान नेशनल स्पेस डे मनाएगा.

मौलाना को शिवशक्ति नाम पर हुआ ऐतराज

चंद्रयान-3 (Chandrayan-3) की सफलता से जहाँ एक तरफ पूरा विश्व भारत को शुभकामनाएं दे रहा है. पीएम मोदी के ISRO पहुंचने की चर्चा हो रही है. वहीँ भारत के कारनामे पर तालियां बजाई जा रही है. हालाँकि प्रधानमंत्री (Prime Minister Narendra Modi) द्वारा चांद्रायान-3 (Chandrayan-3) के लैंडिंग पॉइंट को शिवशक्ति नाम देने पर बवाल मच गया है. लखनऊ स्थित शिया मौलाना सैफ अब्बास नकवी ने इसपर आप्पति जताई है.

मौलाना ने क्या कुछ कहा?

मौलाना सैफ अब्बास नकवी ने शिवशक्ति पॉइंट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, हमारे मुल्क के साइंटिस्टों ने और भारतीय रिसर्च ओर्गनइजेशन (ISRO) ने जो कामयाबी हासिल की है ये सफलता भारत की है. इसको इस तरह से कहना सही नहीं है. इसका नाम हिंदुस्तान होना चाहिए था. विक्रम लैंडर ने जहाँ लैंड किया है, उसका नाम भारत रखना चाहिए था. अगर रखना था तो हिंदुस्तान रखते, इंडिया रखते, ये मुनासिब होता. फिलहाल लखनऊ के मौलाना सैफ के इस बयान पर विवाद बढ़ता जा रहा है.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...