हिन्दू युवक की मौत का मास्टरमाइंड मौलाना उस्मानी के कट्टर सोच का उदहारण है ये वायरल वीडियो

ज़रूर पढ़ें

“मैं हिरासत में लिया जा रहा हूँ। मैं पुलिस का सहयोग करूँगा अगर कोई जाँच हुई… तुम मुस्लिमों को डरने की जरूरत नहीं है आप जिस तरह से तहरीक फरोग-ए-इस्लाम के साथ आप खड़े थे अपने संवैधानिक अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए आगे बढ़ते रहें। अधिक ताकत से आगे आएँ, क्योंकि इनकी जो प्लानिंग है उस प्लांनिंग को सफल नहीं होने देना है। मैं कहीं भी रहूँ, लेकिन आपको मिशन नहीं छोड़ना है। जो अभी भारत में हो रहा है वो सब न हो, जैसे हम पहले रहते थे शांतिपूर्ण ढंग से वैसे ही रहें। एक दूसरे के साथ रहते थे वैसे रहें”

अभी हाल ही में गुजरात में किशन भरवाड नाम के एक हिन्दू युवक की कट्टरपंथियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी,जिसके बाद कुछ तथाकथित बड़े और प्रतिष्ठित मौलानाओं का नाम सामने आया,जिन्होंने जिहादी विचार के साथ खास तौर पर हिन्दू समुदाय से जुड़े लोगो के साथ अपराध किये.जिसका ताजा उदाहरण किशन भरवाड हैं जिन्हे बाइक सवार मुस्लिम युवको ने एक प्लानिंग के तहत निर्मम हत्या कर दी.इस मामले में गुजरात एटीएस ने मौलाना कमर गनी उस्मानी को गिरफ्तार किया गया.यहां जबसे मौलाना गनी का नाम सामने आया है तभी से उसके कई खुलासे धीरे धीरे उसकी कट्टर और वामपंती सोच को उजागर कर रहा है.सोशल मीडिया में उसके कई वीडियोस आपको मिल जायेंगे जिसमे मौलाना लोगो को भड़काते हुये दिख रहा है.

- Advertisement -

कई वायरल वीडियो में देखा गया की वो मुस्लिम समुदाय से जुड़े लोगो को कह रहा है की जो भी पैगम्बर मोहम्मद यानी यहां आपको बता दे की इस्लाम धर्म में अल्लाह के बाद का पैगम्बर मोहम्मद को दर्जा दिया गया.वहीँ मौलाना गनी मुस्लिम युवकों को अक्सर इसी आड़ में भड़काता था और पैगंबर की शान में गुस्ताखी करने वालों के खिलाफ़ उन्हें खड़ा करता था.इस्लामिक लड़को वाले इस मौलाना की अब कई वीडियो वायरल हो रही हैं जहाँ उसकी गिरफ़्तारी के बाद एक वीडियो जो वायरल हुआ उसमे मौलाना गनी झगड़ता देखा गया,पुलिस लगातार उसे समझाने की कोशिश कर रही थी की वो ऐसे प्रदर्शन या कार्यक्रम में न जाये जहाँ वो लोगो को भड़काए लेकिन इस बिच मौलाना बार-बार कहता नजर आया की वो चुप नहीं बैठेगा.


यहां अब एक वीडियो और सामने आया है जिसमे वो कहता है “मैं हिरासत में लिया जा रहा हूँ.मैं पुलिस का सहयोग करूँगा अगर कोई जाँच हुई… तुम मुस्लिमों को डरने की जरूरत नहीं है आप जिस तरह से तहरीक फरोग-ए-इस्लाम के साथ आप खड़े थे अपने संवैधानिक अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए आगे बढ़ते रहें.अधिक ताकत से आगे आएँ,क्योंकि इनकी जो प्लानिंग है उस प्लांनिंग को सफल नहीं होने देना है.मैं कहीं भी रहूँ,लेकिन आपको मिशन नहीं छोड़ना है.जो अभी भारत में हो रहा है वो सब न हो,जैसे हम पहले रहते थे शांतिपूर्ण ढंग से वैसे ही रहें.एक दूसरे के साथ रहते थे वैसे रहें.”


वहीँ मौलाना उस्मानी इसी वीडियो में आगे कहता है की  “अगर आपको लगता है कि आप लोग सुरक्षित हैं.तो बता दूँ कोई सेफ नहीं है.सबकी तैयारी की गई है.अगर आज हम कानूनी ढंग से अपने पैगंबर मुहम्मद की शान में नहीं खड़े होंगे,तो सबका समय आएगा.वो किसी को नहीं छोड़ेंगे.उनकी तैयारी पूरी है.” उस्मानी अपने समर्थकों को बताता है,“ये जरूरी है कि हम अपने अधिकारों का इस्तेमाल करें और उन्हें रोकें जो गैरकानूनी तौर पर कुछ करने का इरादा रखें.”

- Advertisement -
MASTERMIND OF HINDU BOY MURDER CASE MAULANA GANI VIRAL VIDEO


जबकि यहीं नहीं मौलाना जो अपने आप को इस्लाम का जानकर समझता है उसका एक और वीडियो सामने आया है जहाँ लिस्ट पर चर्चा करता नजर आया जिसके बारे में उसने बताया की वो रिकॉर्ड है की कब-कब सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म पर गुस्ताखी हुई.इनमें से 1500 की लिस्ट मौलाना ने अपने पास रखा है.उसने इस वीडियो में कहा ये जो गुस्ताखियाँ हो रही हैं ये कोई इत्तेफाक से नहीं हैं बल्कि तारीख गवाह है कि जब-जब मुसलमानों को बर्बाद करने की कोशिश हुई है तो सबसे पहले मुसलमानों का तापमान नापा गया है.


जबकि इस मौलाना का वो चेहरा भी उजागर इन्ही जैसे अन्य वीडियो में हुआ जहाँ ये हिन्दू युवक कमलेश तिवारी की निर्मम हत्या को जायज ठहराते हुये कहा की उसका हत्यारा कोई नहीं है.मौलाना बौखलाए हुये ये भी कहता है की 5 सालों में जितनी गुस्ताखी हुई है वो पिछले 100 सालों में कभी नहीं हुई है.
समर्थकों को उपदेश झारने वाले मौलाना गनी कट्टरपंथियों की फ़ौज तैयार करने के लिए मुस्लिम युवको से कहता है की वो घर जाएँ,अपने वालिद-वालिदा से कहें कि भले ही उनके उसपर बहुत एहसान हैं लेकिन जब भी बात किसी गुस्ताख को सजा देनी की होगी तो वो (उस्मानी का अनुयायी मुस्लिम) किसी परवाह किए बिना आगे निकल लेगा. कई ऐसी वीडियोज हैं जिसमें मौलाना कमर गनी के स्वागत में कट्टरपंथी राहों में फूल बरसा रहे हैं.साथ ही साथ ‘गुस्ताख-ए-नबी की एक ही सजा,सर तन से जुदा’ के नारे बुलंद कर रही है.
मौजूदा समय में उस्मानी को लेकर सोशल मीडिया में सवाल उठ रहे हैं की आखिर इसे पहले गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया,कम से कम हिन्दू युवक किशन भरवाड की आज जान तो बच पाती.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...