Mahua Moitra को अपमानजनक पोस्टर की वकालत करना पड़ा भारी, पार्टी ने किया किनारा

ज़रूर पढ़ें

डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ के पोस्टर में जिस तरीके से हिन्दू धर्म कि आस्था को चोट पहुँचाया गया उसपर विवाद छिड़ना लाजमी था. चुकि यहां देवी के हाथों में सिगरेट और और LGBT का झंडा लहराना अपने आप में बड़ा सवाल है

माँ काली के अपमानजनक पोस्टर को लेकर फिल्ममेकर लीना मणिमेकलई को समर्थन का दौर शुरू हो गया है. लेकिन इस बिच राजनीति ने भी अपनी सक्रियता बढ़ा दी है.

- Advertisement -

डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ के पोस्टर में जिस तरीके से हिन्दू धर्म कि आस्था को चोट पहुँचाया गया उसपर विवाद छिड़ना लाजमी था. चुकि यहां देवी के हाथों में सिगरेट और और LGBT का झंडा लहराना अपने आप में बड़ा सवाल है.

यहां देवी के स्वरुप के साथ जो खिलवाड़ हुआ उसपर सनातन धर्म से जुड़े लोगों में भारी आक्रोश है. लेकिन आपको बता दें कि इस डॉक्यूमेंट्री के पोस्टर को लेकर TMC सांसद महुआ मोइत्रा का समर्थन मिला. लेकिन दूसरी तरफ उनकी खुद कि (TMC) पार्टी ने उनसे किनारा कर लिया है.

Mahua Moitra ने ऐसा क्या कहा?

- Advertisement -

बता दें कि एक इंटरव्यू के दौरान TMC सांसद महुआ मोइत्रा ने कहा था कि”काली के कई रूप हैं. मेरे लिए काली का मतलब मांस प्रेमी और शराब स्वीकार करने वाली देवी है. लोगों की अलग अलग राय होती है, मुझे इसे लेकर कोई परेशानी नहीं है.

वकालत करते हुये यहां मोइत्रा ने यहां तक कह दिया था कि आप अपने भगवान को कैसे देखते हैं. अगर आप भूटान और सिक्किम जाओ तो वहां सुबह पूजा में भगवान को व्हिस्की चढ़ाई जाती है, लेकिन यही आप उत्तर प्रदेश में किसी को प्रसाद में दे दो तो उसकी भावना आहत हो सकती है.

मेरे लिए देवी काली एक मांस खाने वाली और शराब पीने वाली देवी के रूप में है. देवी काली के कई रूप हैं. ‘मुझे मेरी काली को मेरे हिसाब से देखने की आजादी है’.

सोशल मीडिया पर TMC नेता के बयानों से आपत्ति

ऐसे में सोशल मीडिया में TMC सांसद की जमकर खिंचाई होनी शुरू हो गई. उन्हें खूब ट्रोल किया गया. महुआ मोइत्रा तुरंत सोशल मीडिया में ट्रेंड करने लगी. उनपर आरोप लगें कि वो ऐसा बोलकर हिन्दुओं कि भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रहीं हैं.

एक तरफ जहाँ फिल्ममेकर कि गिरफ्तारी की मांग उठ रही है ऐसे में लोगों का कहना है कि आये दिन हिन्दु धर्म के साथ ऐसा खेल खेला जा रहा है जो बर्दाश्त के बाहर है.

पार्टी ने बयान से किया किनारा

इस दौरान महुआ के इस बयान का विरोध बढ़ा तो टीएमसी ने सीधे किनारा कर लिया. TMC पार्टी ने कहा है कि महुआ मोइत्रा की देवी काली पर की गई टिप्पणी उनके निजी विचार हैं. इसका पार्टी समर्थन नहीं करती है. अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस इस तरह की टिप्पणियों की कड़ी निंदा करती है.

विवाद पर आई प्रतिक्रिया

वहीं, अब महुआ मोइत्रा ने कहा है कि आप सभी संघियों के लिए झूठ बोलना आपको बेहतर हिंदू नहीं बना देगा. मैंने कभी किसी फिल्म या पोस्टर का समर्थन नहीं किया. ना ही धूम्रपान शब्द का उल्लेख किया. मेरा एक सुझाव है. आप तारापीठ में मेरी मां काली के पास जाएं, यह देखने के लिए कि भोग के रूप में क्या खाना-पीना दिया जाता है. जय मां तारा.

बिपक्ष ने बोला हमला

महुआ मोइत्रा के बयान पर बीजेपी ने उन्हें निशाने पर ले लिया. नेता विपक्ष सुवेंदु अधिकारी ने एक इंटरव्यू में कहा कि टीएमसी हमेशा हिंदू धर्म का अपमान करती है.

नेता विपक्ष सुवेंदु अधिकारी

हम कानूनी उपायों का विकल्प चुनेंगे और ममता बनर्जी से महुआ मोइत्रा के खिलाफ कार्रवाई करने की उम्मीद करेंगे. हमारी सरकार ने नूपुर शर्मा के खिलाफ कार्रवाई की थी.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...