टंकी में तैरते मिली लड़की की नंगी लाश, Los Angeles की खौफनाक कहानी!

ज़रूर पढ़ें

Nisha
Nisha
--------------------------

अमेरिका का अब तक का सबसे संदेह भरा क्राइम सीन,जहाँ टंकी से निकलने वाले पानी का रंग पीला आने लगता है,और जब छानबीन की जाती है तो टंकी में एक लड़की की नंगी लाश तैरती रहती है. 14 माजिला बिलिन्डिंग 700 कमरे,पहुंचने का कोई रास्ता भी नहीं फिर कैसे मिली टेरेस के टंकी में लड़की की ताश?

करीब 20 दिन पहले से शुरू करते हैं, 21 साल की लड़की जिसका नाम था एलिसा लेम,अपने दोस्तों के साथ एलिसा लेम ट्रिप पर कनाडा के वेंकुवर से अमेरिका घूमने आते हैं,
जहाँ वो सभी एलिसा लेम में ही रुकते हैं. वो सभी सैंटियागो से ट्रैन का रास्ता लेते हुए एलिसा लेमपहुँचते हैं एलिसा लेम भी उनके साथ ही होती है. उन सभी के पास पैसे कुछ खास थे नहीं तो उन्होंने कोई सस्ता सा होटल देख वहीँ रुकने का प्लान बने,सारे लोगों ने सेसिल होटल में अपने अपने नाम से एक एक कमरा बुक करवाया. एलिसा अकेले कमरे में रुकने के बजाय अपने कुछ दोस्तों के साथ ही रुकी. दो दिनों बाद उसके दोस्तों ने होटल के मैनेजर से एलिसा के अजीबो गरीब हरकत की शिकायत की,जिसके बात मैनेजर ने एलिसा को दूसरे कमरे रूम नंबर 506 में शिफ्ट कर दिया। फिर अचानक 31 जनवरी को एलिसा गायब हो गयी.

- Advertisement -

एलिसा के गायब होने के बाद दोस्तों ने ये बात होटल मैनेजर को बताई,मैनेजर ने तुरंत लॉस एंजलिस पोलिसे डिपार्टमेंट को इन सब घटनाओं के बारे में इन्फॉर्म कर दिया. वैसे भी इस होटल के मैनेजर के लिए ये पहली बार नहीं था जब उसने होटल में हुए ऐसी आपराधिक घटना के बारे में पुलिस को इन्फॉर्म किया हो और उसके बाद एक्शन हुआ हो. दरअसल,इससे पहले भी 1924 में इसी होटल का नाम हर तरह के अपराध में आ चूका था. सुइसाइड, मर्डर, स्टैबिंग और न जाने क्या-क्या,हर तरह का क्राइम यहाँ इस होटल में हो चूका था.

एलिसा ब्रिटिश कोलंबिया यूनिवर्सिटी की स्टूडेंट थी और काफी समझदार भी.साथ ही वो सोशल मीडिया पर बहुत एक्टिव भी रहती थी. जब वो ट्रिप के लिए निकल कर लॉस एंजेलिस पहुंची थी,उसी वक़्त अपने पहुँचने का अपडेट उसने टंबलर जो एक सोशल प्लेटफार्म है उस पर दे दिया था और कैप्शन में लिखा था,मैं लालैंड पहुंच गई हूं.. जहां ठहरी हूं वहां से गगनचुंबी इमारतें दिखाई दे रही हैं।इस बात से की बेटी अच्छे से दोस्तों के साथ पहुंच गयी जान कर एलिसा के माता पिता भी खुश और निश्चिंत थे,उन्हें क्या पता था की ये बेटी की ज़िन्दगी का आखरी पोस्ट होगा. जिस दिन एलिसा को होटल से चेक आउट करना था उस दिन वो एक बुक स्टोर गयी थी,उस स्टोर का नाम था द लास्ट बुकस्टोर,वहां से एलिसा ने कुछ किताबें खरीदी थी. ये जानकारी छानबीन के वक़्त बुक स्टोर की मैनेजर से पता चला.

इन सब बातों को देख सुन लॉस एंजलिस की पुलिस भी हैरान थी की आखिर अचानक एलिसा होटल में होते हुए गायब कहाँ हो गयी. दो फरवरी से लेकर होटल के सारे सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए. उसमें एक फुटेज पुलिस के हाथ लगा,जिसमें एलिसा दो लड़कों के साथ होटल में एंटर करते दिखती है लेकिन वो दोनों लड़के होटल के एंट्रेंस से ही वापस लौट चुके होते हैं. एलिसा के कमरे से ढूंढने पर एक पर्ची मिली जो द लास्ट बुक स्टोर की थी जहाँ से एलिसा ने किताबें खरीदी थी.

- Advertisement -

पुलिस को कुछ समझ नहीं आ रहा था क्यूंकि एलिसा के फिर होटल से बाहर जाने का कोई फुटेज नहीं मिला. एलिसा एक मिस्त्री बनती जा रही थी. होटल के 700 कमरों की तलाशी के लिए 40 पुलिस वाले जुटे हुए थे. 5 फरवरी तक पुलिस तलाशी और पूछताछ करती रही लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा.

तभी पुलिस की नज़र उस फुटेज पर पड़ी,जिसमें एलिसा नज़र आयी. ये फुटेज पांचवें फ्लोर पर लिफ्ट एरिया की होती है. उसमें दिखता है की एलिसा पहले लिफ्ट में जाती है,ताबड़तोड़ लिफ्ट के बटन दबती है,फिर बहार निकलती है,फिर लिफ्ट में घुसती है,लेकिन लिफ्ट बंद नहीं होती है. ये दो मिनट की फुटेज क्लिप पुलिस को हैरान कर देती है.

इस क्लिप में एलिसा बहुत परेशां दिखती है और ऐसा लगता है जैसे कोई बहार से लिफ्ट को रोक रहा हो. हर किसी को लगने लगा था की कोई था जिसने एलिसा का मर्डर किया है.

अब सवाल लॉस एंजलिस के पुलिस पर ही उठने लगी थी क्यूंकि काफी दिन तक कोई सुराग नहीं मिला था. सभी स्टाफ तक की जांच की गई लेकिन सारे क्लीन निकले।
पुलिस ने उधर एलिसा की बहन, मां और पापा को मीडिया के सामने पेश किया। वो शॉक में थे। कोई ज्यादा जानकारी उनसे नहीं मिल पाई। सिर्फ इतना बताया कि एलिसा एक दवा लेती थी और कभी-कभी दवा खाना भूल जाती थी।

यहाँ तक की होटल की छत को पुलिस के हेलिकॉप्टर ने दूरबीन के जरिए खंगाला लेकिन वहां भी कुछ नहीं मिला।

इसी बीच एक कपल होटल में हनीमून पर आये थे। दोनों आठवें फ्लोर पर कमरा लिए हुए थे। उन्होंने मैनेजमेंट से पानी के लो प्रेशर की शिकायत की। फिर शिकायत के बाद उन्हें तीन फ्लोर ऊपर भेज दिया गया।

एलिसा के गायब हुए 14 से 15 दिन हो चुके थे. कुछ दिनों बाद कपल ने टंकी से आने वाले पानी के पिले रंग में होने की शिकायत की. मैनेजर ने एक प्लम्बर को बुला कर पाइपलाइन चेक करवाए लेकिन कहीं कुछ नहीं मिला. फिर टेरेस पर मौजूद टंकी को चेक करने की बारी आयी. टेरेस पर 4 टंकी मौजूद थे जिसमें से एक का ढक्कन खुला था. चेक करने आये लोगों में से एक शख्स ने टंकी में जैसे ही झाँका,उसी चीख निकल गयी. ये तारीख थी 19 फरवरी. उसमें एक लड़की की नंगी लाश थी जो पानी में तैर रही थी. होटल मैनेजर ने तुरंत पुलिस को इन्फॉर्म किया,मौके पर पुलिस पहुंची. टंकी के ढक्कन की गोलाई इतनी थी की एलिसा उसमें आसानी से चली गयी होगी लेकिन अब एलिसा को उससे बहार निकाल पाना ना मुमकिन सा लग रहा था,क्यूंकि इतने दिनों में एलिसा की लाश बहुत ज्यादा फूल का फ़ैल गयी थी. इसलिए टंकी को काट कर लाश बाहर निकालनी पड़ी. लोगों ने इस पूरी घटना की तुलना डार्क वाटर मूवी से कर और सभी ने कहा की एलिसा का मर्डर हुआ है,किसी ने एलिसा जबरदस्ती यहाँ उठा कर ले आया,उसके साथ रेप की कोशिश की गयी और फिर टंकी में दाल दिया गया. लेकिन मुमकिन नहीं हो सकता था क्यूंकि टेरेस पे जाने का दो ही रास्ता था,एक जो हमेशा बंद होता है और उसकी चाभी केवल सिक्योरिटी के पास होती है,अगर कोई गलत तरीके से जाने की कोशिश भी करता तो अलार्म बजने लगता और दूसरा फायर सेफ्टी वाला रास्ता था जहाँ सीढ़ियों के सहारे छत तक जाया जा सकता था लेकिन ये मुमकिन नहीं था की कोई जबरदस्ती एलिसा को उठा कर टेरेस तक जा सके.

पुलिस दोबारा शुरूआत में पहुंच गयी थी,गुथी सुलझी ही नहीं,फिर पुलिस ने एलिसा के लाइफ के बारे में जानना शुरू किया।
एलिसा अजीबगरीब पोस्ट किया करती थी. जब पेरेंट्स से पूछताछ हुआ तो पता चला की एलिसा का बहुत दिनों से इलाज़ चल रहा था. तब जा कर पता चला एलिसा बाइपोलर डिसॉर्डर की शिकार थी। दवा मिस कर दी जाए तो कई तरह के हैलुसिनेशन को जन्म देती है। साइको साइंटिफिक टेस्ट से ये पता चला कि लिफ्ट में एलिसा की हरकत दरअसल उसका दिमागी फितूर था। ऐसे मरीजों को लगता है को उसकी जान चली जाएगी और उसे ऐसी जगह पर जाना चाहिए जहां शांति मिले। एलिसा फायर सेफ्टी वाले रास्ते छत पर इसी की तलाश में पहुंची। और टंकी में कूद गई।

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...