Jurassic World Dominion Review

ज़रूर पढ़ें

Nisha
Nisha
--------------------------

जुरासिक वर्ल्‍ड के फैंस का इंतजार खत्‍म हो गया है। हॉलीवुड की नई फ‍िल्‍म जुरासिक वर्ल्ड: डोमिनियन सिनेमाघरों में अनवील हो गया है। अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी, तमिल और तेलेगु भाषाओं में आया है,जुरासिक वर्ल्‍ड फ‍िल्‍म खूब सारे एक्‍शन और अतीत की यादों से भरी है। यूनिवर्सल पिक्चर्स की यह फिल्म ‘जुरासिक वर्ल्ड’ फ्रैंचाइजी की तीसरी मूवी है। 2015 में इस फ्रैंचाइजी की पहली फ‍िल्‍म आई थी। आज हम जुर्रासिक वर्ल्ड के पार्ट 3 का रिव्यु करेंगे और बताएंगे की ये फिल्म पहले वाले से और भी ज्यादा कितनी अमेजिंग है.

इस मूवी में कास्टिंग की बात करें तो आपको Chris Pratt,Bryce Dallas Howard,Laura Dern
इस फिल्म को डायरेक्ट किया है कॉलिन ट्रिवॉरो ने.
जुर्रासिक वर्ल्ड के सांग्स को आवाज़ दिया है माइल जियाशिनो ने.

- Advertisement -

फिल्म के बारे में बताये…यानि की स्टोरी के बारे में तो… अपने पहले पार्ट से इस बार की कहानी बस थोड़ी ही अलग लगती है। वही पार्क है, उसी तरह के डायनोसोर हैं, उन्हें देखने की उसी तरह की दीवानगी है, उसी तरह के खतरे हैं, झटके हैं वगैरह वगैरह। फिर भी दो घंटे की यह फिल्म बांधे रखती है। शुरू से लेकर अंत तक बस रोमांच ही रोमांच। ये रोमांच है 3डी का। कुछ अन्य 3डी फिल्मों के मुकाबले इस फिल्म में हमला कर देने वाले या अपनी ओर लपकने वाले पल कम हैं, लेकिन एक जंगल की खूबसूरती, विशालकाय डायनोसोर की लड़ाई वगैरह 3डी में काफी अच्छे लगते हैं।
उन बच्चों को शायद ज्यादा मजा आएगा, जिन्होंने इसके पहले दो भागों की सिर्फ कहानी सुनी है। उन्हें कभी सिनेमाघर में नहीं देखा।

फिल्म की कहानी ठीक-ठाक है। जब तक डायनासोर्स को बचाने का मिशन चलता है, तब तक पटरी पर रहती है, लेकिन जानवरों की नीलामी वाली बात ठीक तरह से दर्शाई नहीं गई है। क्यों इन खतरनाक जानवरों को लोग खरीदना चाहते हैं? उनका क्या मकसद है? इनके जवाब संतुष्ट नहीं करते।

सबसे अहम बात यह कि इस फिल्म में आप जिस तरह के दृश्यों की उम्मीद लेकर जाते हैं वो भरपूर देखने को मिलते हैं इस वजह से खामियों की तरफ ज्यादा ध्यान नहीं जाता।

- Advertisement -

मेकर्स ने कुछ नए एक्सपेरिमेंट भी किए हैं, दर्शकों को चौंकाया और डराया भी है।

पूरी फिल्म क्रिस प्रैट और ब्राइस डलास हॉवर्ड के कंधों पर टिकी हुई है और उन्होंने अपनी दमदार शख्सियत और अभिनय से फिल्म को विश्वसनीय बनाया है। कुछ नए एक्टर्स को भी जोड़ा गया है, लेकिन इससे फिल्म को विशेष फायदा नहीं हुआ है।

फिल्म के सीजीआई और स्पेशल इफेक्ट्स लाजवाब है। एकदम वास्तविक लगते है, कहीं भी नकलीपन नजर नहीं आता। इसके •लिए तकनीशियन बधाई के पात्र हैं।

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...