पूर्व आईपीएस के घर आयकर विभाग की छापेमारी , 650 लॉकर में बंद थे करोड़ो रुपये

ज़रूर पढ़ें

यहां बताया गया की पूर्व आईपीएस अफसर के बेटे ने अपने घर की बेसमेंट में एक प्राइवेट लॉकर फर्म चलता था, जहाँ ये लॉकर को किराए पर दिए जाते थे

देश में 1 फरवरी को वित् मंत्री निर्मला सीतारमण ने देश का आम बजट पेश करते हुये कई ऐलान किये ऐसे में आम जनता अपने फायदे नुकसान को देखते हुये बजट सत्र में अपनी खर्च का हिसाब लगा रहे हैं, ऐसे में जहाँ एक तरफ देश के नागरिक बजट में संतुलन बनाने में लगे हुये हैं तो कई ऐसे लोग भी हैं, जिन्हे देश के किसी भी बजट से मतलब नहीं है चुकी इन्हे काला धन अर्जित करने में ध्यान होता है और करोड़ो करोड़ो रुपये अपनी जीव में छुपाये घूमते हैं लेकिन इन्हे ये खबर नहीं होती की देश के कानून के हाथ काफी लम्बे हैं. इनकी करस्तानी पुलिस अच्छे से बहार निकालती है. चाहे कोई एक आम आदमी हो या फिर अधिकारी या वो मंत्री हो | यहां एक ऐसी ही पोल खुली है.
नोएडा में यूपी कैडर के पूर्व आईपीएस अफसर के घर में जहाँ बीते 3 दिनों से आयकर बिभाग छापेमारी में लगी हुई है, जी हाँ जिन्हे देश के कानून की अच्छी समझ है और जिन्हे पता है की कानून कहीं से भी भ्रष्टचार को भांप ही लेती है. दरअसल पूर्व आईपीएस अफसर आरएन सिंह के घर में करोड़ो रुपये नगद मिली है, जिसने आयकर बिभाग की नींदे उड़ा दी है. यहां आईटी ने रेड मारी जहाँ घर में ऐसे 650 लॉकर मिले जिसमे सिर्फ पैसे ही पैसे नगदी राखी हुई थी. यहां बताया गया की पूर्व आईपीएस अफसर के बेटे ने अपने घर की बेसमेंट में एक प्राइवेट लॉकर फर्म चलता था जहाँ ये लॉकर को किराय पर दिए जाते थे.

- Advertisement -


फिलहाल आयकर बिभाग बिलकुल गहन छानबीन के साथ पता करने में जुटी हुई है, की पैसे और कहाँ कहाँ छुपे में हैं इन सब के बिच अभी तक आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है, की आखिर ये सारे करोड़ो रुपये आखिर हैं किसके चुकी बता यहां लॉकर की कही जा रही है, कि ये किराये पर दिए जाते हैं | फिलहाल अधिकारी इस पूरे झोलझाल की सच्चाई की तह तक जाने का प्रयास कर रही है, कि आखिर पैसो के पीछे कहानी किसकी गढ़ी हुई है और जहाँ इनकम टैक्स के अधिकारी अभी तलाशी अभियान में जुटे हुये हैं .

आपकी जानकारी के लिए बता दे की यहां जिस पूर्व अधिकारी के घर में छापेमारी हुई है, वो आरएन सिंह यूपी में डीजी अभियोजन रह चुके हैं. ऐसे में फिलहाल पूर्व आईपीएस अफसर आरएन सिंह पर जमकर सवाल किये जा रहे हैं, वही इस मुद्दे पर जबतक अधिकारियो तरफ से पूरी पुष्टि नहीं होती तबतक कुछ कहना हर किसी के लिए जल्दबाजी होगा.

IT RAID IN HOUSE OF FORMER IPS

पूर्व आईपीएस अधिकारी ने दिया अपना पक्ष

- Advertisement -


वही पूर्व आईपीएस आरएन सिंह का पक्ष बताये तो उनका का कहना था की , ‘मेरा बेटा लॉकर किराये पर देता है, जैसे बैंक देते हैं, वह बैंक से ज्यादा सुविधा देता है, इसमें हमारे दो लॉकर निजी है, अंदर जांच चल रही है, लगभग सभी लॉकर चेक कर लिए गए हैं, जो भी मिला है उसका सारा ब्यौरा हमारे पास है, घर के कुछ जेवरात टीम को मिले है, हमारे पास पूरे दस्तावेज हैं.’आयकर विभाग के तरफ से छापेमारी के दौरान आईपीएस आरएन सिंह का कहना था, ‘मैं फिलहाल अपने गांव में था, मुझे सूचना मिली कि घर पर इनकम टैक्स की टीम जांच करने आई है तो मैं तुरंत यहां आ गया, मैं एक आईपीएस अफसर रहा हूं, मेरा बेटा यहां रहता है और हम भी यहां आकर रुकते हैं, मेरा बेटा प्राइवेट लॉकर रखने का काम करता है जो कि बेसमेंट में है.
मौजूदा समय में करोड़ो के मामले में अधिकारी किसी भी तरीके के कोई भी जल्दबाजी नहीं करना चाहते जिसके कारन कोई भ्रम पैदा हो इसलिए अभी तक अपराधियों की पुष्टि पर बयान नहीं आया है.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...