Yogi के गढ़ पर हमला करने वाले मुर्तजा का ISIS कनेक्शन, सामने आएं बड़े खुलासे 

ज़रूर पढ़ें

आरोपी मुर्तजा अब्बासी को गिरफ्तार कर पुलिस ने उसके लैपटॉप को जब्त कर लिया था, हालाँकि इस बिच अचरज की बात ये है कि आरोपी मुंबई से इंजीनियरिंग में बीटेक कर चूका है

‘उत्तरप्रदेश’ देश का बड़ा राज्य है, और यहां जबसे Yogi Adityanath ने मुख्यमंत्री का कारभार संभाला है. बड़े से बड़े गैंगस्टर्स का पर्दाफाश हुआ है.

- Advertisement -

पक्ष और विपक्ष हर एक व्यक्ति का होता है लेकिन आप अगर गौर करें तो सीएम योगी को लेकर अलग हीं दीवानगी देखी जाती है. उन्हें चाहने वाले लोग अपनी आस्था से जोड़ कर सीएम योगी को देखते हैं, चुकी सीएम योगी खुद गोरखनाथ के गोरक्ष पीठ के महंथ हैं.

लेकिन 3 मार्च 2022 को इसी गोरखनाथ मंदिर में मुर्तजा अब्बासी ने हमले जैसी घटना को अंजाम दिया.

मंदिर परिसर में धारधार हथियार लिए युवक ने घुसने की कोशिश की, दो PAC कॉन्सटेबल उसके हमले से घायल हो गए.

- Advertisement -

अल्लाह हु अकबर जैसे सम्प्रदाई नारे लगते हुये युवक के इस हरकत के बाद पूरे देश में हड़कंप मच गया, हालाँकि उसे तुरंत पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. लेकिन अब जो खबर साने आई है वो आतंक पर सबसे बड़ा सबुत बनकर सामने आ रहा है, देश के अंदर हीं गद्दारों का हुजूम एक गंभीर चिंता बन रहा है.

पुलिस के गिरफ्त में आरोपी अहमद मुर्तजा अब्बासी

योगी आदित्यनाथ काफी आरसे आतंकियों और कट्टरपंथियों के निशाने पर रहे हैं, वहीँ हाल हीं में एक और सनसनीखेज खुलासा हुआ था कि पीएम मोदी को जान से मारने की साजिश का पर्दाफाश हुआ है.

नरेंद्र मोदी-योगी आदित्यनाथ

वहीँ बीते दिनों गोरखपुर मंदिर पर हमले के बाद से पुलिस प्रशासन अलर्ट मोड पर आ चुकी है.

यहां आरोपी मुर्तजा अब्बासी को गिरफ्तार कर पुलिस ने उसके लैपटॉप को जब्त कर लिया था, हालाँकि इस बिच अचरज की बात ये है कि आरोपी मुंबई से इंजीनियरिंग में बीटेक कर चूका है.

यहां आपको बता दें कि गोरखपुर मंदिर पर हमले से पहले खुफिया एजेंसियों ने इस प्लॉनिंग का पता लगा लिया था.

ऐसे में राज्य पुलिस के साथ बैठक में 16 नाम भी साझा किए थे जिनपर सभी को गंभीर आशंका थी.

ISIS CONNECTION OF GORAKHNATH TEMPLE ATTACKER MURTAZA ABBASI

बता दें कि इस लिस्ट में मुर्तजा अब्बासी का भी नामा दर्ज था. जिनका मकसद गोरखनाथ मंदिर को निशाना बनाना था.

जी हाँ, आरोपी को लेकर पहचान साफ़ जाहिर करती है कि उसके लिंक सीधे आईएसआईएस से जुड़े हुये हैं. राज्य गृह विभाग ने प्राप्त सबूतों के आधार पर इसे आतंकी हमला बताया.

गोरखनाथ मंदिर में घुसने की कोशिश करने और दो पुलिसकर्मियों पर हमला करने वाला आरोपी अहमद मुर्तजा अब्बासी

खबरों के मुताबिक बात सामने आई है की ये अब्बासी आईएसआईएस के संपर्क में था और उन्हें भारत से फंड भेजता था.

इसी बिच जब्त लैपटॉप और मोबाईल से जो जानकारी सामने आई है, जहाँ वो ऑनलाइन अपनी इन्हीं हरकतों के चलते वह डिजिटल रडार पर आ चूका था.

ऑनलाइन एक्टिविटीज से ये बात सामने आई कि अब्बासी यूट्यूब पर जिहादी साइटें सर्च से जुड़ी वीडियो को जमकर सर्च कर चूका है जहाँ वो जिहादी Videos खूब देखता था.

उसकी सर्च हिस्ट्री में कई जिहादी विचारधारा वाले मजहबी उलेमाओं के वीडियो सर्च के सबूत मिले हैं जो जाहिर करते हैं कि अब्बासी की सोच कितने घातक हैं.

आरोपी अहमद मुर्तजा अब्बासी

यहां इन सब में साबुत कहते हैं कि वो लोन वोल्फ के वीडियोज भी देखता था.

बता दे क़ी आरोपी मुर्तजा अब्बासी जिस गेट गोरखनाथ मंदिर के जिस गेट नंबर 3 पर हमला की साजिश पर काम कर चूका है, ठीक यही गेट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अपने आने-जाने के लिए प्रयोग करते हैं.

मौजूदा समय में आरोपी मुर्तजा अब्बासी को कोर्ट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में रखने का आदेश सुना चुकी है.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...