संयुक्त राष्ट्र (UN) में भारत ने पाकिस्तान को किया बेनकाब, आतंकी मुल्क की खुल गई पोल पट्टी

ज़रूर पढ़ें

जहाँ उन्होंने कहा ‘दुनिया ने 2008 मुंबई आतंकी हमला, 2016 पठानकोट आतंकी हमला और 2019 पुलवामा आतंकवादी हमले की त्रासदी को झेला है. हम सभी को पता है कि इन हमलों के अपराधी कहां से आए थे

पाकिस्तान की फजीहत भारत आये दिन करता है. आतंक को पालने वाले इस घटिया मुल्क की औक़ात आज किस पैमाने पर है पूरी दुनिया जानती है. अंतरास्ट्रीय स्तर पर भारत के नाम से डरने वाला पाकिस्तान आँखे उठाकर भारतीय प्रधानमंत्री की तरफ देख भी नहीं पाता.

- Advertisement -

14 फरवरी बीते सोमवार को गुजरा लेकिन शहीदों की शहादत को देश हर एक दिन पल पल याद रखता है. जब भी फरवरी 2019 में पुलवामा अटैक की यादे जहन में आती है, रूह कांप जाती है.

ऐसे में पाकिस्तान के करतूतों पर उनसे नफरत करने पर और भी मजबूर करता है. पाकिस्तान जिस तरीके से ढोंग करता है, उसके हर एक चाल को दुनिया समझ चुकी है, चुकी इमरान खान सिर्फ आतंकियों को पनाह देने का काम करते हैं.

NARENDRA MODI AND IMRAN KHAN

- Advertisement -


यहां बीते सोमवार को हीं संयुक्त राष्ट्र यानी यु एन के अंदर भारत ने पाकिस्तान को उसकी असली औक़ात दिखाई, भजिहत करते हुये भारत ने पाक के चेहरे से वो झूठ का नकाब अंतरष्ट्रीय स्तर पर उतार कर रख दिया. हिंदुस्तान की ताकत से एक बार और हर कोई वाकिफ हो गया. ऐसे में नापाक मुल्क की हालात खराब हो गई. थार थार कांपते इमरान खान भी अपने घर में बैठे सर खुजलाते रहे क्यूंकि उनका सच सबके सामने और भी बेहतरीन तरीके से आ गया था. भारत ने पाकिस्तान के आतंकी खेल पर उसे जमकर लताड़ लगाई.


बता दे की संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में पाकिस्तान की घाटियां मनसूबे पर निशाना साधते हुए भारत ने कहा कि ‘आतंकवाद का यह केन्द्र’ आतंकी संगठनों को पालता-पोषता है जो संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित 150 से ज्यादा संगठनों और व्यक्तियों से जुड़े हैं.

INDIA: RAJESH PARIHAR IN UN


ऐसे में संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई मिशन के काउंसलर राजेश परिहार ने ‘काउंटर टेररिज्म कमेटी’ (सीटीसी) (आतंकवाद निरोधी समिति) में अपने देश का प्रतिनिधत्व करते हुये शुरुआत, तीन साल पुरानी 14 फरवरी, 2019 में हुये पुलवामा अटैक से की. जब पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद द्वारा किए गए आतंकवादी हमले में भारत के 40 बहादुर जवान शहीद हो गए थें, जिसने देश की आबरू पर गहरी चोट पहुंची। वीर जवानों को याद करते हुये राजेश परिहार ने सभी को श्रद्धांजलि दी.


आपकी जानकारी के लिए बता दे की दक्षिण और दक्षिण-पूर्व एशिया के सदस्य देशों के साथ सीटीसी कार्यकारी निदेशालय (सीटीईडी) के कामकाज के ऊपर यहां राजेश परिहार भारत का राष्ट्रीय बयान और आधिकारिक बयान सबके सामने दे रहे थें.


जहाँ उन्होंने कहा ‘दुनिया ने 2008 मुंबई आतंकी हमला, 2016 पठानकोट आतंकी हमला और 2019 पुलवामा आतंकवादी हमले की त्रासदी को झेला है. हम सभी को पता है कि इन हमलों के अपराधी कहां से आए थे.’


उन्होंने कहा कि यह ‘निराशाजनक’ है कि इन कायराना हमलों के पीड़ितों को अभी तक न्याय नहीं मिला है और इन हमलों के सरगना, साजिश रचने वाले और धन मुहैया कराने वाले आजाद घूम रहे हैं. उन्होंने पाकिस्तान की घटिया और नीच हरकत को लेकर कहा कि हमले के जिम्मेदार लोगों को अभी भी ‘देश का समर्थन और मेजबानी मिल रही है.’


आपको याद दिला दे की अल-कायदा का आतंकी ओसामा बिन लादेन के मरने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने उसे शहीद बताया था जो साफ़ तौर पर जाहिर करता है, की जनाब और उनका मुल्क किस कदर आतंक से मोह्हबत करता है, ऐसे में संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई मिशन के काउंसलर राजेश परिहार ने कहा, ‘आतंकवाद का केन्द्र आतंकी संगठनों को पालता-पोषता है जो संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित 150 से ज्यादा संगठनों और व्यक्तियों से जुड़े हैं और उसके नेताओं को, क्रूर आतंकवादियों को ‘शहीद’ बताता है.’


मौजूदा समय में भारत के इस तेवर के बाद पाकिस्तान बेहद ख़ौफ़ में है, जबकि दुनिया ने बीते सोमवार को हिंदुस्तान के हर पहलुओं साफ़ और स्पस्ट तरीके से समझा और पाकिस्तान की नीचता की हर हदों की पहचान भारत ने सभी देशो के सामने रखा है.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...