बिना दाम बढाए PARLE-G बिस्किट की कंपनी कैसे कमाती है मुनाफा? जानें वजह

ज़रूर पढ़ें

PARLE-G बिस्किट सालों से एक ही दाम में बिक रही हैं. आपके मन में ये सवाल तो ज़रूर आया होगा की ये कैसे हो सकता है की किसी चीज़ का दाम 25 सालो से बदला न हो

जब भी हम बिस्किट खाने की बात करते हैं तो PARLE-G उस लिस्ट में सबसे पहले आता हैं. PARLE-G सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हैं. आज भी कई परिवार PARLE-G को खाने से दिन की शुरुआत भी करते हैं. यहां तक की नवशिशुओं को भी इसे दूध के साथ खिलाया जाता हैं. शायद ही ऐसा कोई घर छूठा हो जो चाय के साथ PARLE-G न लें. यह बिस्किट सस्ता होने के साथ-साथ स्वादिष्ट भी हैं. समय के साथ इसके आकार, इसके साइज़ में कई परिवर्तन भी हुए हैं. लेकिन इसका स्वाद वैसा ही है जैसे पहले था.

- Advertisement -

महंगाई में भी पार्ले जी है हिट

इस महंगाई के दौर में जहाँ 1 रूपए का सामान 10 रूपए में  मिलता हैं. वही सालों से PARLE-G बिस्किट एक ही दाम में बिक रही हैं. आपके मन में ये सवाल तो ज़रूर आया होगा की ये कैसे हो सकता है की किसी चीज़ का दाम 25 सालो से बदला न हो? मुनाफे के लिए तो आज लोग दूध,धनिया सभी में 1,2 रूपए बढ़ा ही देते हैं. लेकिन ऐसा क्या है जो PARLE-G बिस्किट एक ही दाम में बिकती चली आ रही हैं. ऐसे में सवाल ये उठता है की आखिर एक ही दाम में बेचने से ये कंपनी मुनाफा कहाँ से कमाती हैं?

25 सालो से नहीं बदल रहे PARLE-G के दाम

PARLE-G की कंपनी का इतिहास करीब 82 साल पुरानी हैं. PARLE शब्द पोषकतत्व, अच्छा स्वाद और गुणवत्ता को व्यक्त करता हैं. साल 1994 में आखिरी बार इसके पैकेट का दाम बढ़ा था. जिसके बाद आज तक इसके मूल्य में कोई भी बदलाव नहीं आया है. कोरोना महामारी के वक़्त इस बिस्कुट की सबसे ज़्यादा बिक्री हुई थी. यह सिर्फ एक बिस्कुट नहीं बल्कि इसमें ग्लूकोस की और दूध की मात्रा भी पायी गयी हैं. COVID-19 के बाद साल 2021 में इसके दाम पर 1 रूपए की बढ़ोतरी हुई थी. तब जाकर ये 5 रूपए का हुआ.

बिना दाम बढाए कैसे मुनाफा कमाती है PARLE-G कंपनी

पिछले कई दशकों से इतनी महंगाई बढ़ी की जिसका अंदाज़ा लगाना हमारे लिए मुश्किल होगा. लेकिन PARLE-G की कंपनी ने बिस्किट के दाम अभी तक नहीं बढ़ाये हैं. लेकिन फिर भी यह कंपनी मुनाफा कमा ही रही हैं. लॉकडाउन के दौरान इस कंपनी का कुल मार्केट शेयर करीब 5 प्रतिशत बढ़ा है और जिसमे  PARLE-G से 80 से 90 प्रतिशत  ग्रोथ पारले जी की हुई. और ये रिकॉर्ड करीब 82 साल बाद टुटा हैं. एक साल पहले तक इस कंपनी ने  14,923 करोड़ का सेल किया जिसमे इन्होने 1,366 करोड़ का मुनाफा कमाया.

मुनाफा कमाने का राज़

PARLE-G कंपनी ने मुनाफा कमाने एक एक अलग तरीका ढूंढा है. जिसमे कंपनी ने अपने दाम को बरकरार रखने के लिए उसकी कीमत को बढ़ाने के बजाए इसके साइज को कम किया हैं. मतलब यह है की कंपनी ने रेट बढ़ाने के बजाए बिस्किट के वजन कम कर दिया. सालो पहले बिस्किट का  पैकेट 100g का आता था. फिर कुछ सालो बाद उस प्रोडक्‍ट का वेट  92.5g हो गया. पिछले कुछ सालों में महंगाई बढ़ने के बाद कंपनी ने बिस्किट के वजन को सीधा आधा कर दिया. यानि की लोग 55g के बिस्किट को 5 रूपए में खरीदते हैं. 

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...