अरविंद केजरीवाल को 51 दिन बाद कैसे मिली जमानत? 2 जून को करेंगें सरेंडर

ज़रूर पढ़ें

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को लगभग 51 दिनों बाद सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को सुनवाई करते हुए 1 जून तक अंतरिम जमानत दे दी है

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कथित आबकारी घोटाले से संबंधित मनी लांड्रिंग के सिलसिले में 21 मार्च को ED ने गिरफ्तार किया था. लगभग 51 दिनों बाद सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को सुनवाई करते हुए उन्हें 1 जून तक उन्हें जमानत दे दी है. बता दें कि इस अंतरिम जमानत के विरोध में ED ने सुप्रीम कोर्ट के सामने कई दलीलें पेश की थी हालांकि, शीर्ष अदालत ने अरविंद केजरीवाल के को राहत दी है. फैसले के तहत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 2 जून को सरेंडर करना पड़ेगा.

- Advertisement -

शीर्ष अदालत ने की सुनवाई

10 मई को जस्टिस संजीव खन्ना और दीपंकर दत्ता की खंडपीठ ने लोकसभा चुनाव के प्रचार के मद्देनजर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 1 जून तक अंतरिम जमानत दी है. पीठ ने अपने फैसले के दौरान कहा कि हमें कोई समान लाइन नहीं खींचनी चाहिए. अरविंद केजरीवाल मार्च में गिरफ्तार किए गए थे और गिरफ्तारी पहले या बाद में भी हो सकती थी. वही कोर्ट ने यह भी कहा कि अब 21 दिन इधर से कोई फर्क नहीं पड़ेगा. 2 जून को अरविंद केजरीवाल सरेंडर करेंगे.

ED ने जताया था विरोध

दिल्ली उत्पाद शुल्क नीति मामले में अरविंद केजरीवाल की रिहाई पर पिछले दिनों सुनवाई करते हुए दिल्ली उच्च न्यायालय ने याचिका खारिज कर दी थी. इसके बाद CM केजरीवाल के वकील अभिषेक मनोज सिंघवी ने सुप्रीम कोर्ट की ओर रुख किया था. गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आबकारी नीति घोटाले मामले में तिहाड़ जेल में बंद थे.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...