मरने के बाद कैसे जिंदा रह सकता है एक इंसान? फैक्ट्स जानकर चौंक जायेंगे आप

ज़रूर पढ़ें

यह सब इसलिए है क्योंकि उबलने की प्रक्रिया हवा और पानी से अन्य अशुद्धियों को खत्म करती है, जिससे बर्फ साफ हो जाती है

मरने के बाद कैसे जिंदा रह सकता है एक इंसान? नल के पानी से बने बर्फ के टुकड़े में और उबले पानी से बने बर्फ के टुकड़े में क्यों दिखता है अंतर? चलिए इन सभी सवालों का जवाब देते हैं फैक्ट्स के साथ.

- Advertisement -
HOW CAN HUMANS REMAIN ALIVE EVEN AFTER DEATH

(1) जब हम जँभाई लेते हैं तो यह केवल एक चेतावनी नहीं है कि हम थके हुए हैं, यह भी एक तंत्र है जिसे मानव शरीर मस्तिष्क को ताज़ा करने और तंत्रिका तनाव को कम करने के लिए उपयोग करता है.

(2) अगर दिमाग़ से “Amygdala” नाम का हिस्सा निकाल दिया जाए तो इंसान का किसी भी चीज से हमेशा के लिए डर खत्म हो जाएगा.

(3) जब एक व्यक्ति मर जाता है तो उसका दिमाग 7 मिनट तक जिंदा रहता हैं जिसमे वो अपने जीवन कि सभी यादें एक सपने की तरह देखता हैं.

- Advertisement -

(4) बाघ की जीभ पर सेकड़ो धारदार मुड़े हुए शख्त बाल होते है. अगर बाघ हमारी चमड़ी को सिर्फ जीभ से चाटता है तो भी हमारी चमड़ी शरीर से निकल जाएंगी.

(5) नल के पानी से बने बर्फ के टुकड़े में बादल जैसा दिखते हैं, जबकि उबले पानी से बने पानी पारदर्शी दिखते हैं. यह सब इसलिए है क्योंकि उबलने की प्रक्रिया हवा और पानी से अन्य अशुद्धियों को खत्म करती है, जिससे बर्फ साफ हो जाती है.

(6) क्या आप जानते हैं किन्नरों के अंतिम संस्कार को गैर-किन्नरों से छिपाकर किया जाता है. इनकी मान्यता के अनुसार अगर किसी किन्नर के अंतिम संस्कार को आम इंसान देख ले, तो मरने वाले का जन्म फिर से किन्नर के रूप में ही होगा.

(7) सांप अपने शिकार को चबा नहीं सकते. सांपों के पेट में बहुत मजबूत एसिड द्वारा भोजन पच जाता है. एक बड़े भोजन के बाद सांप में बहुत धीमी चयापचय दर के कारण एक और भोजन के बिना कई महीनों तक जीवित रह सकता है.

(8) चांद पर इंसान को भेजने और ओसामा बिन लादेन को मारने में बराबर समय और पैसा लगा था 10 साल और 100 बिलियन डॉलर.

(9) भारतीय न्यायालय ने देव आनंद जी के काला सूट पहनने पर प्रतिबंध लगाया हुआ था. क्योंकि जब भी वे काला सूट पहनते थे लड़कियाँ उन्हें देखने मात्र के लिए छत से कूद जाया करती थी.

(10) मार्सल आर्ट के बादशाह माने जाने वाले ब्रूस ली की किक की रफ्तार इतनी तेज थी कि एक फिल्म की शूटिंग के दौरान उन्हें एक शूट को 34 फ्रेम धीरे करना पड़ता था ताकि स्क्रीन पर यह न लगे कि ब्रूस नकली एक्टिंग कर रहे हैं. क्योंकि किसी भी आम शख्स के लिए इतनी गति में लात चलाना लगभग नामुमकिन था.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...