पीएम मोदी के लिए ये क्या बोल गए गुलाम नबी आजाद, उठाए धारा 370 और हिजाब के मुद्दे

ज़रूर पढ़ें

डेमोक्रेटिक आजाद पार्टी के प्रमुख गुलाम नबी आजाद ने प्रधानमंत्री के समर्थन में उनकी जमकर ताऱीफ की. जहाँ पीएम द्वारा लिए ऐतिहासिक फैसलों का भी जिक्र किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) भारत का नेतृत्व साल 2014 से कर रहे हैं. अब 10 साल बाद 2024 में एक बार फिर लोकसभा चुनाव होने वाले हैं. इससे पहले राजनीती में कई उठा पटक देखने को मिल रहे हैं. इस बिच राजनीती के बड़े नेताओं में शुमार गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) के बयान विपक्ष के आरोपों पर पानी फेर रहा है. याद दिला दें कि गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने 26 अगस्त 2022 को कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था.

- Advertisement -

उन्होंने सोनिया गांधी को पांच पन्नों का इस्तीफा भेजा था. जहाँ उन्होंने भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) के बजाय कांग्रेस जोड़ने की बात कही थी. हालाँकि मौजूदा समय में पूर्व राज्यसभा सांसद और डेमोक्रेटिक आजाद पार्टी के प्रमुख गुलाम नबी आजाद ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की जमकर तारीफ की है.

गुलाम नबी आज़ाद ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा

डेमोक्रेटिक आजाद पार्टी के प्रमुख गुलाम नबी आजाद ने प्रधानमंत्री (Prime Minister Narendra Modi) के समर्थन में कहा कि, “मैंने उनके साथ जो किया, उसके लिए मुझे मोदी को श्रेय देना चाहिए. वह बहुत उदार हैं. विपक्ष के नेता के रूप में मैंने उन्हें किसी भी मुद्दे पर नहीं बख्शा, चाहे वह धारा 370 हो या सीएए या हिजाब.”

हमेशा राजनेता की तरह प्रधानमंत्री ने किया व्यवहार

पूर्व राज्यसभा सांसद और डेमोक्रेटिक आजाद पार्टी के मुखिया ने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के कई बिल योजनाओं को पूरी तरह से फेल कर दिया लेकिन उन्होंने कभी भी बदले की भावना से नहीं बल्कि एक राजनेता के तौर पर ही व्यवहार किया. उन्होंने इसका बदला नहीं लिया और इसके लिए मुझे उनकी तारीफ़ करनी चाहिए.

कांग्रेस पर बोला हमला

गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने आगे ये भी कहा कि कांग्रेस (Congress) में रहने के दौरान उनपर और G-23 ग्रुप के नेताओं पर बीजेपी के करीबी होने का आरोप लगा था. उन्होंने कहा कि ऐसा आरोप लगाने वाले लोग मुर्ख हैं. उन्होंने आगे कहा कि अगर G-23 ग्रुप बीजेपी (BJP) का प्रवक्ता होता तो पार्टी उन नेताओं को सांसद, महासचिव और प्रवक्ता और पार्टी में पदाधिकारी क्यों बनाती?

पूर्व राज्यसभा सांसद ने कहा कि ग्रुप में शामिल नेताओं में से केवल मैं ही अकेला हूं, जिसने अपनी पार्टी बनाई है और बाकी के नेता वहीं हैं. इसलिए इस तरह के आरोप बेहद ही दुर्भावनापूर्ण, अपरिपक्व और बचकाने हैं.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...