महिला आरक्षण बिल पर मल्लिकार्जुन खड़गे के बयान पर भड़की वित मंत्री, दिया करारा जवाब

ज़रूर पढ़ें

महिला आरक्षण को लेकर मल्लिकार्जुन खरगे के बयान पर वित मंत्री भड़क उठी. सदन में उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष को करारा जवाब दिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते दिन विशेष सत्र को ऐतिहासिक निर्णय वाला सत्र बताया था. आज नए संसद भवन में कार्यवाही की शुरुआत हुई. सबसे पहले कैबिनेट ने महिला आरक्षण बिल संसद में पेश किए जाने पर मुहर लग गई. महिला आरक्षण बिल को पेश करने का मकशद लोकसभा और विधानसभा में महिला सदस्यों की भागीदारी को बढ़ावा देना है. हालाँकि इस बिल पर चर्चा करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने महिलाओं पर ऐसा बयान दे दिया है की अब उसे अपमानजनक करार दिया जा रहा है. इसके जवाब में वित मंत्री निर्मला सीतारामन भड़क उठी और उन्होंने सदन में मलिकार्जुन खड़गे को जवाब दे दिया.

- Advertisement -

मलिकार्जुन खड़गे ने क्या कहा जो मचा हंगामा?

महिला आरक्षण बिल को लेकर खींचतान शुरू हो गई है. एक तरफ जहाँ मोदी सरकार इस प्रस्ताव को लोकसभा में पेश किया है तो वहीँ विपक्ष इस बात को साबित करने जुटा है की ये कांग्रेस की देन है. हालाँकि इसी बिच आज नए सदन में महिला आरक्षण बिल पर चर्चा हो रही थी. इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष मलिकार्जुन ने कहा की ये बिल साल 2010 में पास हो गया था लेकिन बाधा के कारण रुक गई. उन्होंने कहा कि पहले बैकवर्ड क्लास को रिजर्वेशन देने की बात थी. शेड्यूल कास्ट तो आसान था. क्यूंकि उन्हें आलरेडी कंटीटूशन रिजर्वेशन रहने की वजह से वन थर्ड जगह मिली. लेकिन बैकवर्ड क्लासेस में आगे पीछे होने का संभव इसलिए है की अनलेस कोंस्टीटूशनल अमेंडमेंट वन थर्ड बैकवर्ड को देने का अगर नहीं होता तो नैचरली वहां के महिलाओं को नहीं मिलता. और वो आप नहीं करेंगे तो सिर्फ उन बैकवर्ड क्लासेज के साथ अन्याय होगा.

कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा की, बैकवर्ड क्लास की महिलाएं और शेड्यूल कास्ट की महिलाओं में उतने पढ़े लिखे नहीं है उनकी साक्षरता बहुत काम है. कम रहने की वजह से और सभी राजनितिक पार्टियों की आदत है की महिला बोले तो कमजोर महिला को दे देते हैं। वन थर्ड की बात चल रही है. मुझे मालूम है स्केड्यूल कास्ट और बैकवर्ड के लोगों किस ढंग से पार्टियां चुनती है. मैं वो बोल रहा हूँ

निर्मला सीतारमन ने दिया करारा जवाब

मलिकार्जुन खड़गे के इस बयान के बाद सदन में हंगामा मच गया. वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन ने इसपर जवाब देते हुए कहा कि, हम विपक्ष की इज्जत करते हैं लेकिन जो बयान उन्होंने दिया है उसकी मैं कड़े शब्दों में निंदा करती हूँ. मैं सभी महिलाओं की तरफ से जवाब देती हूँ की हमें हमारी पार्टी सशक्त करती है, हमारे प्रधानमंत्री के तरफ से प्रोत्साहित किया जाता है. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू जी और हमारे पार्टी की हर एक महिला सांसद एक सशक्त महिला हैं.

- Advertisement -

मलिकार्जुन खड़गे ने यहां निर्मला सीतारमन के जवाब के बाद कहा की, पिछड़ी हुई महिलाओं को ऐसा मौका नहीं मिलता जैसे इनको मिल रहा है. ये हम कह रहे हैं. इस बात को सुनते हीं वित् मंत्री निर्मला सीतारमण ने जवाब पूछा, तो फिर हमारे देश की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू जी कौन हैं? माफ़ कीजिये लेकिन विपक्ष इस तरीके से अपमान नहीं कर सकते. महिलाओं में भेदभाव नहीं निकाल सकते.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...