पैगंबर मुहम्मद पर 5000 के इनाम पर निबंध प्रतियोगिता, अभिवावकों ने हेडमास्टर अब्दुल पर लगाया धर्मान्तरण का आरोप

ज़रूर पढ़ें

लोक निर्देश के अतिरिक्त आयुक्त सिद्रमप्पा एस. बिरादर ने बताया, “प्रारंभिक जाँच के दौरान हेडमास्टर के खिलाफ आरोप सही साबित हुए. यही वजह है कि उन्हें निलंबित कर दिया गया है.”

कर्नाटक (Karnatak) के धरवाड़ क्षेत्र के एक सरकारी स्कूल में गुप्त रूप से इस्लाम के पैगंबर मुहम्मद (Prophet Muhammad) पर निबंध प्रतियोगिता आयोजित कराने का मामला सामने आया है. ऐसे में कर्णाटक के नागवी के सरकारी हाईस्कूल में भारी बवाल मचा हुआ है. मामलें पर कार्यवाई की गई और गडक जिले में स्थित सरकारी स्कूल के हेडमास्टर अब्दुल मुनाफ को निलंबित कर दिया गया है. मौजूदा समय में स्कूल के हेडमास्टर पर कई आरोप लग रहे हैं. इस बिच सवाल उठता है की आखिर स्कूल में पैगम्बर मोहम्मद पर निबंध लिखने का आयोजन क्या पहले भी हो चूका है? वहीँ हेडमास्टर की मनसा क्या थी? ऐसे कई सवाल हैं.

- Advertisement -

कैसे खुली पोल

लोक निर्देश के अतिरिक्त आयुक्त सिद्रमप्पा एस. बिरादर ने बताया, “प्रारंभिक जाँच के दौरान हेडमास्टर के खिलाफ आरोप सही साबित हुए. यही वजह है कि उन्हें निलंबित कर दिया गया है.” यहां कर्णाटक के स्कूल में हेडमास्टर अब्दुल मुनाफ का बच्चों के लिए पैग़म्बर मोहम्मद पर निबंध लिखने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. मामले का खुलासा हिंदू संगठन श्रीराम सेना के सदस्यों द्वारा प्रधानाध्यापक के विरोध के बाद हुई. इसके बाद बुधवार (28 सितंबर 2022) को घटना की जाँच शुरू की गई. खंड शिक्षा अधिकारी ने बताया कि एक शिकायत दर्ज की गई थी और वह शिकायत की एक प्रति राज्य शिक्षा विभाग के उप-निदेशक को भेजेंगे.

जांच में बात आई सामने

- Advertisement -

जाँच में पाया गया कि प्रधानाध्यापक मुनाफ ने अन्य शिक्षकों या विभाग को बताए बिना कक्षा 8 के 43 छात्रों को पैगंबर मुहम्मद (Prophet Muhammad) पर एक पुस्तक देकर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया था। प्रधानाध्यापक अब्दुल मुनाफ ने कथित तौर पर बच्चों को किताबें दीं और इस प्रतियोगिता के लिए 5,000 रुपए के नकद पुरस्कार की भी घोषणा की.

पैगंबर मुहम्मद पर किताबें बांटने का भी आरोप

बताया जा रहा है कि स्कूल के कुल 43 छात्रों ने कक्षा में ‘मुहम्मद फॉर ऑल’ और ‘लास्ट पैगंबर मुहम्मद (Prophet Muhammad)’ पुस्तक वितरित की और शिक्षा विभाग और शिक्षकों को सूचित किए बिना एक निबंध प्रतियोगिता आयोजित की. कहा जाता है कि उन्होंने ईनाम भी दिया है. लोक शिक्षा विभाग के अतिरिक्त आयुक्त सिद्रमप्पा एस. बिरादरा ने कहा कि अब्दुल मुनाफ बीजापुर जिम्मेदारी की स्थिति में थे और आरोप प्रथम दृष्टया सही साबित हुए

अभिवावकों ने बताई सच्चाई

कर्नाटक के धरवाड़ क्षेत्र के एक सरकारी स्कूल में गुप्त रूप से इस्लाम के पैगंबर मुहम्मद (Prophet Muhammad) पर निबंध प्रतियोगिता को लेकर और हेडमास्टर अब्दुल मुनाफ का जिक्र करते हुये एक अभिभावक शरणप्पा गौड़ा हापलाद ने कहा, “मुझे पता चला कि स्कूल के प्रधानाध्यापक निबंध लेखन प्रतियोगिता आयोजित करके और 5,000 रुपए का नकद पुरस्कार घोषित कर छात्रों के दिमाग में इस्लाम थोपने की कोशिश कर रहे थे. लड़के और लड़कियों को 5,000 रुपए जीतने की उम्मीद में निबंध लिखने के लिए कहा गया था.”

उन्होंने छात्रों का धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाते हुए आगे बताया, “हेडमास्टर अब्दुल मुनाफ का इरादा छात्रों का धर्म परिवर्तन कराना था. इसलिए मैंने श्रीराम सेना के कार्यकर्ताओं को सूचित किया। मैं जानना चाहता हूँ कि पैगंबर मुहम्मद (Prophet Muhammad) पर निबंध प्रतियोगिता आयोजित करने के पीछे और क्या इरादा हो सकता है.”

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...