राजधानी में बढ़ रहा Pollution का स्तर, इस दिन से बदलेगा मौसम, लगातार होगी बारिश

ज़रूर पढ़ें

Nisha
Nisha
--------------------------

Delhi Weather 2022: देश भर में जल्द ही अब ठण्ड दस्तक देगी. भारत में बर्फीले क्षेत्रों के अलावा कुछ राज्य भी ऐसे हैं जो अधिक ठण्ड के कारण बहुत तरीकों से प्रभावित होते हैं. वहीँ सबसे अधिक परेशानी बढ़ा देते हैं ठण्ड में बढ़ता pollution. वहीँ आपको जानकारी दे दें की ठण्डे हवाओं के साथ देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में पॉल्युशन का अधिक मात्रा में आगाज़ हो चूका है. चेतावनी जारी कर दी गयी है.

दिल्ली का कौन-सा क्षेत्र पॉल्युशन से अधिक प्रभावित?

आपको बताते चले की इस सोमवार दिल्ली में पहली ढूंढ देखि गयी. दुरसी तरफ आज भी यानि की मंगलवार को AQI (Air Quality Index) चिंता में डालने वाला है. दिल्ली के कई इलाकों में AQI 418 तक पहुंच गया है. इतना ही नहीं हमेशा की तरह दिल्ली का आनद विहार राजधानी का सबसे प्रदूषित इलाका रहा. ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है की आने वाले दिनों में AQI और बढ़ सकता है और स्थिति ख़राब हो सकती है.

- Advertisement -
Commuters are seen amid heavy smog in New Delhi on November 8, 2018. – Air pollution in New Delhi hit hazardous levels on November 8 after a night of free-for-all Diwali fireworks, despite Supreme Court efforts to curb partying that fuels the Indian capital’s toxic smog problem. (Photo by Money SHARMA / AFP)

AQI के बढ़ने से क्या है खतरा?

AQI का बढ़ना किसी खतरे से कम नहीं. ये लोगों के हेल्थ पर काफी बुरा असर डालता है. बढ़ते AQI कई बिमारियों का दरवाज़ा होता है. और तो और गंभीर बिमारियों का भी शिकार बनता है. खास कर सांस सम्बंधित दिक्कतें होती है. AQI का 100 से ऊपर बरकरार रहना मतलब फेफड़ों, अस्थमा और हृदय रोगों वाले लोगों को सांस लेने में तकलीफ जैसी दिक्कतें हो सकती हैं.

21 सितम्बर से बारिश के आसार

साथ ही आपको जानकारी दे दें. बीते सप्ताह हालत ठीक थी क्यूंकि राजधानी में लगातार 3 दिनों तक मौसम बरसात का रहा और अच्छी खासी बारिश हुई जिसके चलते AQI में सुधर देखा गया था. यहाँ तक की फैले हुए पॉल्यूटेड हवा की भी प्राकृतिक सफाई हो गयी थी. बारिश के ही चलते AQI 50 रहा ये बेहतर कंडीशन है. इतना ही नहीं SAFAR के मुताबिक 21 सितम्बर से हवाओं की गति बढ़ेगी, उनमें नमी होगी और कहीं कहीं बूंदा बांदी भी रहेगी. इन सब का परिणाम होगा की तापमान में गिरावट आएगी और पॉल्युशन का स्टार भी नीचे रहेगा. बता दें कि शून्य से 50 के बीच एक्यूआई अच्छा, 51 से 100 के बीच संतोषजन 101 से 200 के बीच मध्यम, 201 से 300 के बीच खराब, 301 से 400 के बीच बहुत खराब और 401 से 500 के बीच एक्यूआई गंभीर माना जाता है.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...