दिल्ली को दहलाने वाले आरोपी का हिजाब विवाद पर भड़काऊ ऑडियो वायरल, हुआ बड़ा खुलासा

ज़रूर पढ़ें

“आज पूरे दिन ट्विटर पर अल्लाह-हु-अकबर ट्रेंड हुआ है, लेकिन आप अभी भी कहीं चलें जाएँ…. मैं खुद ओखला में रह रहा हूँ तो बहुत सारे लोग मिले हैं, बहुत सारे स्टूडेंट ऐसे मिले हैं, जिन्हें वीडियो वायरल होने से पहले पता ही नहीं है कि कर्नाटक में क्या हो रहा है. यहाँ की मुस्लिम आबादी को पता ही नहीं है कि कर्नाटक में हिजाब का क्या इश्यू है. हमें इस इश्यू को कम-से-कम घर-घर तक ले जाने की जरूरत है. यह हमारे अधिकारों और हमारी पहचान की बात है. सीएए और तीन तलाक के मामलों में भी हमने ये कहा था कि ये मुस्लिम महिलाओं के अधिकार, उनकी पहचान और शरिया पर सीधे अटैक है. इसी तरह यह हिजाब का मुद्दा है, जो आज कर्नाटक में है, कल कहीं और होगा”

कर्नाटक के उड्डुपी जिले से उठा हिजाब विवाद इस वक़्त पूरे देश का मुद्दा बन गया है, क्या राजनीति और क्या फ़िल्मी जगत हर कोई जमकर इसपर अपनी अपनी राय और प्रतिक्रिया दे रहा है. हिजाब मसले से जुड़े पल पल की खबरे सोशल मीडिया पर हंगामा मचा रहा है. ऐसे में कर्नाटक में चल रहे हिजाब पहनकर क्लासरूम के अंदर प्रवेश को लेकर चल रहे प्रदर्शन अब देश के अलग अलग राज्यों तक पहुंच चूका है, जहाँ मुस्लिम छात्रों ने इस संवेदनशील मामले में नारेबाजी करना देश के भविष्य से ज्यादा जरुरी समझ लिया है. मौजूदा समय में उत्तरप्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) और पश्चिम बंगाल के आलिया यूनिवर्सिटी में भी जमकर नारेबाजी हो रही है. ऐसे में कई ऐसे लोग भी हैं जो देश का माहौल खराब करने की जद्दोजहत में लगे हैं. अपना प्रोपेगंडा साबित करने लिए खुलकर छात्रों को उकसा रहे हैं.

- Advertisement -

ऐसे में बहुत बड़े साजिश का पर्दाफाश हुआ है जिसने कट्टरवादी और दंगाई की घटिया मानसिकता को उजागर करके रख दिया है. दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी (JMI) का छात्र और दिल्ली दंगों के आरोपित आसिफ इकबाल तन्हा जिसने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हर तरफ तबाही का मंजर मचा दिया था. भड़काऊ भाषण देकर लोगो को बरगलाना आसिफ इकबाल तन्हा का शुरुआत से ही काम रहा है. ऐसे में कर्णाटक में चल रहे हिजाब मामले में जुड़ा एक ऑडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है. यहां दिल्ली दंगो का आरोपी वही है जिसने तालिबान के प्रति खूब प्यार बरसाया था. यहां बीते 15 अगस्त 2021 को एक ट्वीटर स्पेस में तन्हा ने ‘क्या देश का मुसलमान आजाद है?” नाम से ऑडियो से संवाद किया था जिसमे उसने कहा था की “मैं आप सभी को एक शुभ समाचार देता हूँ। अशरफ गनी ने इस्तीफा दे दिया है. अल्लाह का शुक्रिया है कि तालिबान इमारत-ए-इस्लामिया स्थापित कर रहा है. अल्हम्दुलिल्लाह! हमें तालिबान से सीखना चाहिए कि आजादी हासिल करने के लिए किस तरह की जद्दोजहद और कोशिश करनी चाहिए.” बता दें कि इसी दिन तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्ज़ा किया था.


ऐसे में कर्नाटक के हिजाब मामले पर उसका ऐसा ही एक ऑडियो वायरल हुआ दिल्ली दंगे के आरोपी तन्हा के इस ऑडियो को वीडियो फॉर्मेट में @TheAngryLord नाम के ट्विटर हैंडल से ट्वीटर पर साझा किया गया. जहाँ इस स्पेस का टाइटल रखा गया ‘कर्नाटक हिजाब रोक, क्या हाईकोर्ट न्याय देगा?’ आपकी जानकारी के लिए बता दे की यहां इसे जमात-ए-इस्लामी हिन्द की छात्र शाखा स्टूडेंट्स इस्लामिक ऑर्गेनाइजेशन (SIO) द्वारा होस्ट किया गया था, जिसमे पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (PFI) और उसकी स्टूडेंट विंग कैम्पस फ्रंट ऑफ़ इंडिया (CFI) के सदस्य मौजूद थे. स्पीकर के तौर पर राष्ट्रीय राजधानी को जलने वाला आरोपी आसिफ इकबाल तन्हा ने कहा “हम इसे (हिजाब विवाद को) सिर्फ कर्नाटक का इश्यू न बना करके इस पूरे इंडिया में फैलाना है.

दिल्ली को सेेंटर ऑफ एजिटेशन बनाना है. आज सुबह जब से वह वीडियो (कर्नाटक में पुलिस कार्रवाई का) वायरल हुआ है, तब से काफी डिस्टर्बिंग रहा है. उस वक्त से मैं कई मुस्लिम संस्थाओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं से लगातार बात कर रहा हूँ कि आखिर हम लोग दिल्ली में क्या कर सकते हैं, इस इश्यू को लेकर के. मुझे सकारात्मक परिणाम मिल रहे हैं कि इस पर हमें भी कुछ करना चाहिए और जल्दी ही हम लोग उनके समर्थन में सड़कों पर उतरेंगे.” जबकि आसिफ ने यहां स्पीकर की भूमिका निभाते हुये आगे कहा, “आज पूरे दिन ट्विटर पर अल्लाह-हु-अकबर ट्रेंड हुआ है, लेकिन आप अभी भी कहीं चलें जाएँ…. मैं खुद ओखला में रह रहा हूँ तो बहुत सारे लोग मिले हैं, बहुत सारे स्टूडेंट ऐसे मिले हैं, जिन्हें वीडियो वायरल होने से पहले पता ही नहीं है कि कर्नाटक में क्या हो रहा है. यहाँ की मुस्लिम आबादी को पता ही नहीं है कि कर्नाटक में हिजाब का क्या इश्यू है. हमें इस इश्यू को कम-से-कम घर-घर तक ले जाने की जरूरत है. यह हमारे अधिकारों और हमारी पहचान की बात है. सीएए और तीन तलाक के मामलों में भी हमने ये कहा था कि ये मुस्लिम महिलाओं के अधिकार, उनकी पहचान और शरिया पर सीधे अटैक है. इसी तरह यह हिजाब का मुद्दा है, जो आज कर्नाटक में है, कल कहीं और होगा.”

- Advertisement -


भड़काऊ भाषण का मास्टरमाइंड आसिफ इकबाल तन्हा ने आगे कहा “SIO (स्टूडेंट इस्लामिक ऑर्गेनाइजेशन) के छात्र और मुस्लिम के जिम्मेदाराना लोग पहले से ही इस इश्यू को लेकर जमीनी स्तर पर काम कर रहे हैं. हमारे जीआईओ के छात्र लगातार सड़कों पर हैं. दूसरे स्टेट में भी, मुंबई में भी हमारी मुस्लिम बहनों ने प्रोटेस्ट की है. एक मुस्लिम संस्था का होने के नाते हम इस मामले को बहुत ही गंभीरता से ले रहे हैं.”
ऐसे में माहौल को बिगाड़ने वाले आसिफ इकबाल तन्हा की इस ऑडियो की सच्चाई क्या है उसपर पुलिस ही स्पष्टीकरण दे सकती है, लेकिन मौजूदा समय में किसी कार्यवाई की बात सामने नहीं आई है, लेकिन जल्द ही इसपर हो ना हो एक्शन लिया जायेगा चुकी आसिफ इकबाल तन्हा दिल्ली दंगो का आरोपी है और वहीँ दूसरी तरफ कर्नाटक मामला समय में सबसे ज्यादा बवाल मचा रहा है.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...