कैसे हैं देश भर में कोरोना के हालात,मकरसंक्रांति पर माघ मेले को लेकर क्या हैं आदेश ?

ज़रूर पढ़ें

Nisha
Nisha
--------------------------
Testing

देश भर में कोरोना से हालात बेकाबू है,आये दिन कोरोना के केसेस एक लाख के पर आ रहे हैं,बढ़ते अकड़े बेहद डरने वाले हैं.वहीँ दूसरी ओर ओमिक्रोण का दशषट भी बढ़ रहा है. ओमिक्रोण के हलके लक्षण के बीच संक्रमितों की संख्या में तेज़ी से इजाफा हो रहा है.अगर आकड़ों की बात करें तो केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान देश में 2,47,417 नए मामले सामने आए हैं, 380 लोगों की जान गई है जबकि 84,825 लोग इस बीमारी से ठीक हुए है। वहीं यदि दैनिक पोसिटिविटी रेट की बात की जाए तो वो बढ़कर 13.11 फीसदी पर पहुंच गई है।वहीँ टेस्टिंग की बात करें तो अब तक देश में 69.7 करोड़ कोरोना टेस्ट किए जा चुके हैं।    

साथ ही आपको जानकारी दे दें की पिछले 24 घंटे के दौरान सक्रिय मामलों की संख्या में 162,212 का इजाफा हुआ है, जिससे सक्रिय मामलों का आंकड़ा बढ़कर 11,17,531 पर पहुंच गया है। इस समय महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 243,849 मामले सक्रिय हैं, पश्चिम बंगाल में 116,251, कर्नाटक में 93,128, तमिलनाडु में 88,959 और दिल्ली में 87,445 मामले अभी भी सक्रिय हैं।

- Advertisement -

एक और जानकारी है जो सामने आ रही है की 14 जनवरी को मकर संक्रांति का पावन त्योहार मनाया जा रहा है और प्रयागराज में इस दिन गंगा में आस्था की डुबकी लगाने की पुरानी परंपरा है. यहां आज देश के कोने-कोने से लोग गंगा में डुबकी लगाने के लिए पहुंचते हैं. हालांकि इसी बीच बुरी खबर ये है कि माघ मेला क्षेत्र में 38 नए करोना मरीज मिले हैं जिसके बाद प्रशासन अलर्ट पर है. इस इलाके में बुधवार तक 29 पुलिसकर्मी कोरोना से संक्रमित मिले थे जबकि आज 7 और पुलिसकर्मी संक्रमित पाए गए हैं.

आपको बता दें की माघ मेले में हर शिविरों में रजिस्टर रखने, वैक्सीन की दोनों डोज लेने का सर्टिफिकेट लेकर आने जैसी सख्ती के बीच जहां श्रद्धालुओं को प्रोटोकॉल के पालन के लिए जागरूक करने की बात कही जा रही है, वहीं आस्थावानों की भीड़ पहुंचने लगी है. प्रयागराज मेला प्राधिकरण के मेलाधिकारी शेषमणि पांडेय के मुताबिक हर चेक प्वाइंट पर स्वास्थ्य विभाग की टीमें तैनात रहेंगी.

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए हर स्तर पर कड़े और सजग प्रबंध किए गए हैं. संतों-भक्तों को कोविड अनुरूप व्यवहार के पालन के लिए लगातार प्रेरित किया जा रहा है. जो लोग अभी तक संक्रमण की चपेट में आए हैं, उन्हें आइसोलेट करा दिया गया है. मेला कोविड प्रोटोकॉल के ही तहत होगा. कोरोना संक्रमण केबढ़ते खतरे को देखते हुए माघ मेला में आने वाले लोगों के लिए 48 घंटे पहले की आरटीपीसीआर रिपोर्ट रखना अनिवार्य किया गया है.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...