Rishabh Pant Accident: सीएम धामी ने खोला ऋषभ पंत के एक्सीडेंट की वजह का खुलासा, झपकी या स्पीड नहीं थी वजह…

ज़रूर पढ़ें

ऋषभ पंत से मिलने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बीते रविवार (1 जनवरी 2023) को अस्पताल पहुंचकर उनसे मुलाकात की और हाल चाल जाना. इसके साथ हीं धामी ने पंत की सड़क दुर्घटना पर बातचीत की

ऋषभ पंत (Rishabh Pant) के एक्सीडेंट के बाद से पूरे देश में उनके लिए प्राथना की जा रही है. दुनिया के कई बड़े खिलाड़ी अबतक अपनी चिंता जाहिर कर चुके हैं. जबकि भारतीय क्रिकेटर ऋषभ पंत (Rishabh Pant) के साथी लगातार परिवार के संपर्क में हैं. पंत अभी मैक्स हॉस्पिटल देहरादून (Max Hospital Dehradun) में हीं भर्ती हैं. जहाँ उनसे मिलने उत्तराखंड (Uttrakhand) के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) ने बीते रविवार (1 जनवरी 2023) को अस्पताल पहुंचकर उनसे मुलाकात की और हाल चाल जाना. इसके साथ हीं धामी ने पंत (Rishabh Pant) की सड़क दुर्घटना पर बातचीत की.

- Advertisement -

CM धामी ने बताया दुर्घटना का कारण

ऋषभ पंत (Rishabh Pant) का इलाज फ़िलहाल देहरादून में हीं किए जाने का फैसला लिया गया है. बता दें कि भारतीय खिलाड़ी डॉक्टरों की खास निगरानी में हैं. इसके साथ हीं उनके स्वास्थ्य में सुधार भी देखा जा रहा है. बीते दिन पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) ने ऋषभ पंत (Rishabh Pant) से मुलाकात कर उनकी माँ और परिवारजनों को सांत्वना दी. इस दौरान धामी ने सड़क दुर्घटना के कारण को लेकर भी बात की.

सीएम पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) ने जानकारी देते हुये बताया कि इस हादसे को लेकर पंत (Rishabh Pant) की मां से उनकी बातचीत हुई थी. उन्होंने बताया कि गड्ढे (Pothole) से बचने के क्रम में ये हादसा हुआ.

- Advertisement -

पंत की जान बचाने वालो को मुख्यमंत्री का उपहार

ऋषभ पंत (Rishabh Pant) के सड़क दुर्घटना के वक़्त उन्हें बचाने के लिए मसीहा के रूप में हरियाणा रोडवेज के ड्राइवर सुशील (Sushil Kumar) और कंडक्टर परमजीत (Paramjeet) सामने आये थे. दोनों ने बहुत बहादुरी से ऋषभ (Rishabh Pant) की जान बचाई. उन्होंने तुरंत उपचार के लिए अस्पताल लेकर गए. ऐसे में देश विदेश में दोनों की तारीफ की जा रही है. बता दें बीते दिन उत्तराखंड (Uttrakhand) पुलिस ने भी दोनों को सम्मानित करने की घोषणा की थी.

ऐसे में सीएम धामी (Pushkar Singh Dhami) ने गणतंत्र दिवस के मौके पर हरियाणा रोडवेज के ड्राइवर सुशील (Sushil Kumar) और कंडक्टर परमजीत (Paramjeet) को सम्मानित करने का भी एलान किया है. यहां धामी ने कहा कि ड्राइवर और कंडक्टर ने ऋषभ पंत (Rishabh Pant) की जान बचाने के लिए अपनी जान जोखिम में डाल दी. अगर सही समय पर मदद नहीं मिली होती तो कुछ भी हो सकता था.

30 दिसंबर को ऋषभ हुए हादसे का शिकार

ऋषभ पंत (Rishabh Pant) 30 दिसंबर को सुबह करीब 5.30 बजे पंत दिल्ली से अपनी मां को सरप्राइज देने के लिए उत्तराखंड (Uttrakhand) के रुड़की जा रहे रहे थे. इस दौरान उनकी गाड़ी म्मादपुर झाल के पास रुड़की के नारसन बॉर्डर पर डिवाइडर से टकरा गई. इस दुर्घटना में ऋषभ (Rishabh Pant) बुरे तरीके से घायल हो गए. गंभीर दुर्घटना का शिकार हुए पंत (Rishabh Pant) को तुरंत अस्पताल पहुँचाया गया. इस दौरान उनके पीठ, माथे और पैर में चोटें आई हैं. फिलहाल उनके कई जांच किये जा रहे हैं.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...