किस डिलीवरी से जन्म लेने वाले बच्चे होते हैं ज्यादा स्वस्थ?- Cesarean या Normal!

ज़रूर पढ़ें

Nisha
Nisha
--------------------------

किसी भी महिला के लिए सबसे ख़ुशी और पैनफुल भरा वक़्त होता है डिलीवरी. डिलीवरी के माध्यम से ही बच्चा दुनिया में आता है. और उस वक़्त माँ को बारीक़ ऑब्जरवेशन में रखा जाता है. क्यूंकि उस वक़्त हुई छोटी सी चूक भी माँ या बच्चे को खतरे में डाल सकती है. पहले के समय में तो डिलीवरी के लिए कोई साइंस नहीं था जो था वो नेचुरल डिलीवरी ही था. ना ही पहले एक्सपर्ट्स या डॉक्टर्स हुआ करते थे,उनके जगहों पर होती थी दायी माँ. और इतना ही नहीं नैचुरली होने वाले बच्चे भी स्वस्थ होते थे. लेकिन अब बहुत कुछ बदल चूका है. अब बहुत कम ही लोग होंगे जो डिलीवरी के लिए किसी हॉस्पिटल का सहारा नहीं लेते. लेकिन आज कल चीज़ें बदल गयी या यूँ कहें तो कॉम्प्लिकेटेड हो गयी है. आज के इस वीडियो में हम सिजेरियन से जुड़े सवालों और उनके जवाब पर बात करेंगे,जैसे की सिजेरियन सुरक्षित है या नहीं,इसके क्या नुक्सान है और सिजेरियन का सहारा कब लेना चाहिए.  

सिजेरियन एक विकल्प होना चाहिए जिसे लोगों ने चॉइस बना लिया है. दरअसल, सिजेरियन को आसानी से कह सकते हैं बड़ा ऑपरेशन,वो इसलिए क्यूंकि इसमें गर्भवती महिला के पेट पर बड़ा सा कट लगाया जाता है. लेकिन सिजेरियन डिलीवरी का सहारा अक्सर नहीं लेना चाहिए,ये तभी ही लें जब बच्चा नोर्मल्ली बहार न आ सके या बच्चा गर्भ में घूम जाए या तो माँ बच्चे को नोर्मल्ली जन्म देने में सक्षम नहीं है.

- Advertisement -

क्या सिजेरियन डिलीवरी सुरक्षित है?

हां ये सुरक्षित है लेकिन इसके बाद जटिलताएं यानि की समस्याएं बढ़ जाती हैं. क्यूंकि इसमें बहुत से जोखिमों का सामना करना पड़ता है और भविष्य में यानि की डिलीवरी के बाद दिक्कतें बढ़ जाती हैं. कई बार माँ या शिशु की जान बचाने के लिए सिजेरियन ऑपरेशन करना जरुरी होता है।

अब आपको बता देते हैं की अगर कोई सिजेरियन डिलीवरी करता है तो उन्हें किस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

- Advertisement -

-डिलीवरी के बाद दर्द बढ़ जाता है.
-सिजेरियन में खून ज्यादा निकलता है.
-इसमें संक्रमण का खतरा भी बहुत होता है.
-ब्लड क्लॉटिंग यानि की खून के थके जमने की समस्या हो सकती है.
-सिजेरियन में लगा कट असामान्य तरीके से यानि की नोर्मल्ली नहीं भरता.
-इससे उबरने में भी वक़्त लगता है और यहाँ तक की इस कट के दोबारा खुलने का भी खतरा होता है.

जो बात वाकई गर्भवती महिला को सिजेरियन डिलीवरी को अपनाने के बाद होता है वो ये है,की सिजेरियन से होने वाले बच्चों में सांस सम्भंदि समस्या होती है.

इस ऑपरेशन के कीमत की बात करें तो बता दें की सिजेरियन में करीब 45000 से ले कर 1,20,000 तक खर्च आता है.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...