क्या खुद से कर सकते हैं शादी? क्या है Sologamy marriage (Case Study)

ज़रूर पढ़ें

गुजरात के वडोदरा शहर की 24 साल की एक युवती क्षमा बिंदु अपने-आप में एक अनोखी शादी की वजह से सुर्खियों में आ चुकी हैं. 11 जून को वो खुद के साथ ही सात फेरे लेने की तैयारियों में जुटी हुई हैं

क्षमा बिंदू खुद से व्याह करने वाली हैं जो शादी करने के लिए बिल्कुल तैयार हैं. 11 जून को होने वाली क्षमा बिंदू की शादी में फेरे और सिंदूर लगाने सहित सभी रस्मों और समारोहों के साथ पूरी होगी. ऐसा करने वाली क्षमा बिंदु पहली लड़की बन सकती है

- Advertisement -
क्षमा बिंदू 11 जून को गुजरात के वडोदरा शहर के एक मंदिर में पूरे हिंदू रीति-रिवाज के साथ शादी करेंगी

वैसे तो ये कोई बड़ी खबर नहीं है चुकी शादी तो हर किसी की होती है. लेकिन आपको बता दें की गुजरात के वडोदरा की रहने वाली क्षमा शादी तो रचाएंगी लेकिन फर्क बस इतना है की इसमें उनके साथ ना कोई वर होगा और नाही ये समलैंगिगता का मामला है.

क्षमा बिंदू

दरअसल, क्षमा बिंदू खुद से व्याह करने वाली हैं जो शादी करने के लिए बिल्कुल तैयार हैं. आपको बता दें की 11 जून को होने वाली क्षमा बिंदू की शादी में फेरे और सिंदूर लगाने सहित सभी रस्मों और समारोहों के साथ पूरी होगी. ऐसा करने वाली क्षमा बिंदु पहली लड़की बन सकती है.

Sologamy marriage या स्व-विवाह

भले हीं भारत के लिए ये चौंकाने वाला मामला है, लेकिन सच तो ये है कि ऐसा करने वाली वो अकेली नहीं हैं. बल्कि दुनियाभर में ऐसे लोगों की भरमार हैं, जिन्होंने किसी और के साथ जिंदगीभर साथ निभाने का कमिटमेंट करने के बजाये खुद को ही अपना पार्टनर बना लिया और अपने आप से ही शादी कर ली.

- Advertisement -
GUJRAT GIRL KSHAMA BINDU

अब यहां सवाल जरूर उठता है की क्षमा को इस तरह के विवाह के लिए अपने माता-पिता से डांट पड़ी होगी या विरोध का सामना करना पड़ा होगा, तो आपको बता दें की ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. उल्टा गुजरात की लड़की को अपने पैरंट्स से इस फैसले को लेकर पूरा सपोर्ट मिला है.

KSHAMA WITH HER MOTHER

एक निजी फर्म के लिए काम करने वाली क्षमा बिंदू ने बताया कि उनके माता-पिता ने उनके फैसले का समर्थन किया है. सभी रीति-रिवाजों का पालन करने के अलावा, दुल्हन ने खुद से 5 प्रतिज्ञा भी लेगी. अपने विवाह समारोह के बाद, यह दुल्हन गोवा में दो सप्ताह के हनीमून के लिए भी जा रही हैं.

एक इंटरव्यू के दौरान क्षमा बिंदु ने कहा कि ‘मैं कभी शादी नहीं करना चाहती थी. लेकिन, मैं दुल्हन बनना चाहती थी. इसलिए मैंने खुद से ही विवाह करने का फैसला कर लिया.’ उनका कहना है कि ‘शायद अपने देश में सेल्फ-लव का उदाहरण सेट करने वाली मैं पहली हूं.’ उनके मुताबिक, ‘स्व-विवाह खुद से बिना शर्त प्यार करने की प्रतिबद्धता है। यह आत्म-स्वीकृति का भी कार्य है। लोग जिससे प्यार करते हैं, उससे शादी करते हैं. मैं खुद से प्यार करती हूं, इसलिए यह शादी कर हूं.’

क्षमा बिंदु

यहां आपको बता दें की क्षमा बिंदु जो खुद से शादी करने जा रही हैं. दरअसल, ऐसे शादियों को एक टर्म से पुकारते हैं और वो है Sologamy marriage या स्व-विवाह. इसके बारे में आपको आगे बताएंगे की आखिर ये क्या है और ऐसी शादी रचाने का मकसद क्या है?

क्या होती है सोलोगैमी?

सोलोगैमी एक टर्म है जिसमें लोग खुद से ही शादी करते हैं. इसे ऑटोगैमी भी कहा जाता है.

क्या होती है सोलोगैमी?

इसके समर्थन करने वालों का मानना है कि वे खुद से ही प्यार करते हैं और अपने मूल्यों के साथ खुशी-खुशी जीवन बिताना चाहते हैं. ऐसे लोग अपनी किसी अन्य व्यक्ति के बजाय खुद को ही अपना जीवनसाथी चुनते हैं.

कब हुई सोलोगैमी की शुरुआत?

सोलोगैमी की शुरुआत सबसे पहले अमेरिका से हुई थी. साल 1993 में यहां लिंडा बारकर नाम की महिला ने खुद से शादी की थी. हैरानी की बात तो ये है कि उस शादी में 75 मेहमान उपस्थित हुए थे.

पश्चिमी देशों में भी सोलोगैमी का ट्रेंड बढ़ता गया

इसके बाद अन्य पश्चिमी देशों में भी सोलोगैमी का ट्रेंड बढ़ता गया. अब भारत में भी इसका सोलोगैमी का पहला मामला आ गया है.

सोलोगैमी क्यों करते हैं ?

Sologamy marriage या स्व-विवाह के पक्ष में यह भी दलील दी जाती है कि जबतक आप खुद से प्रेम नहीं करेंगे, आप दूसरों से प्यार नहीं कर सकते.

सोलोगैमी शादी

यहां एक क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट गिल एडवर्ड्स ने अपनी किताब ‘वाइल्ड लव’ में इस बात का जिक्र किया है कि ‘लोग रोजी-रोटी के चक्कर में खुद से प्यार नहीं कर पाते और खुद को ही भुला देते हैं. इसलिए अपने लिए कुछ क्यों ना किया जाए ? सोलोगैमी खुद के प्रति संवेदना को खुलकर जाहिर करने का एक माध्यम है और अपने आप को वह सब देने का वादा है, जो आप अक्सर दूसरे लोगों से चाहते हैं.’

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...