BJP सांसद साध्वी प्रज्ञा ने किया नूपुर शर्मा का समर्थन, कहा- ‘सच कहना अगर बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं’

ज़रूर पढ़ें

“सच कहना अगर बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं. जय सनातन, जय हिंदुत्व…” ट्वीट के बाद साध्वी प्रज्ञा ने नूपुर शर्मा के समर्थन में खुलकर बयान दिया. उन्होंने कहा कि मुसलमानों को असलियत बताने पर इतनी तकलीफ क्यों होती है? कमलेश तिवारी का जिक्र करते हुए साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि जो कहा उसके बाद उनकी हत्या कर दी गई

बीजेपी से निलंबित नूपुर शर्मा कि पैग़म्बर मोहम्मद पर बयान के बाद चरों तरफ से गिरफ़्तारी की मांग की जा रही है, साथ हीं जमकर विरोध हो रहा है. बीजेपी ने इसे लेकर बयान भी जारी किया था और नूपुर के बयान से किनारा करते हुए ये भी साफ कहा था कि इस तरह की टिप्पणी पार्टी के मूल विचार के खिलाफ है.

- Advertisement -
BJP PRAGYA THAKUR

वहीँ बयान को लेकर देश में में विपक्षी नेता और बाहरी इस्लामिक मुल्कों की तरफ से आवाज आ रहे हैं उसपर अब भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान सामने आया है.

साध्वी प्रज्ञा ने ट्वीट किया, “सच कहना अगर बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं. जय सनातन, जय हिंदुत्व…” ट्वीट के बाद साध्वी प्रज्ञा ने नूपुर शर्मा के समर्थन में खुलकर बयान दिया. उन्होंने कहा कि मुसलमानों को असलियत बताने पर इतनी तकलीफ क्यों होती है? कमलेश तिवारी का जिक्र करते हुए साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि जो कहा उसके बाद उनकी हत्या कर दी गई.

TWEET

उन्होंने कहा कि मैं शायद इस बात से बदनाम हूं कि मैं सत्य बोलती हूं, चाहे कुछ भी हो. यह भी एक सत्य है कि वहां (ज्ञानवापी) शिव मंदिर था, है और रहेगा. उसको फव्वारा कहना हमारे हिंदू मानदंड, हमारे हिंदू देवी-देवता, सनातन के मूल पर कुठाराघात है, इसलिए हम असलियत बताएंगे.

- Advertisement -
PRAGYA THAKUR SUPPORT NUPUR SHARMA

बीजेपी सांसद की नाराजगी यहां नहीं थमी उन्होंने आगे कहा कि हमारी असलियत तुम बता दी, हमें स्वीकार है. लेकिन तुम्हारी असलियत हम बता रहे हैं तो क्यों तकलीफ है? इसका मतलब कहीं ना कहीं इतिहास गंदा है. हमेशा विधर्मियों ने ऐसा किया है. साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि ये हमारे देवी-देवताओं को लेकर फिल्म बनाते हैं, डायरेक्शन करते हैं, प्रोड्यूस करते हैं और गालियां देते हैं. उन्होंने कहा कि आज से नहीं, इनका पूरा इतिहास है.

साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि ये भारत है. ये हिंदुओं का है. यहां सनातन जिंदा रहेगा और सनातन को जिंदा रखना हम लोगों की ज़िम्मेदारी है और हम इसे निभाएंगे. विधर्मी जो हैं, वे अपनी मानसिकता को हर जगह स्टैंड करना चाहते हैं. लेकिन सनातनी अपने धर्म को स्थापित करता है जो मानवीय हित के लिए है.

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...