Besharm Rang: पठान फिल्म पर देवकीनन्दन ठाकुर ने उठाए सवाल, बॉलीवुड को जमकर लताड़ा

ज़रूर पढ़ें

बेशर्म रंग (Besharm Rang) गाने में दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) के भगवा बिकनी पर सुप्रसिद्ध कथाकार देवकीनन्दन ठाकुर (Devkinandan Thakur) ने तल्ख़ अप्पति जताई है

बेशर्म रंग (Besharm Rang) गाने में दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) के भगवा बिकनी पर सुप्रसिद्ध कथाकार देवकीनन्दन ठाकुर (Devkinandan Thakur) ने तल्ख़ अप्पति जताई है. यहां पठान (Pathaan) फिल्म का गाना बेशर्म रंग (Besharm Rang) जो फिलहाल विवादों में हैं, अबतक कई बड़े कथावाचकों ने बहिष्कार की मांग की है. ऐसे में मशहूर कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर (Devkinandan Thakur) ने भी आक्रोश जताया है. यहां मुंबई में कांदिवली पश्चिम में महावीरनगर स्थित सप्ताह ग्राउंड पर शिवमहापुराण कथा में देवकीनंदन ठाकुर (Devkinandan Thakur) लोगों को संबोधित कर रहे थे. यहां उन्होंने आवाहन करते हुये सभा में कहा की जो फिल्में हमारी संस्कृति पर हमला करती हों उन्हें ना देखा करें.

- Advertisement -

‘सनातन संस्कृति का हर बार होता है अपमान’

शाहरुख़ खान (Shah Rukh Khan) और दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) का पठान (Pathaan) फिल्म के बेशर्म रंग गाने को लेकर देवकीनंदन ठाकुर (Devkinandan Thakur) बॉलीवुड (Bollywood) पर जमकर बरसे. उन्होंने दीपिका पादुकोण (Deepika Padukone) के भगवा बिकनी और गाने में अश्लीलता का आरोप लगते हुये कहा की, बॉलीवुड (Bollywood) हमारी संस्कृति का नाश करना चाहता है. फिल्मों के माध्यम से भारत की सनातन संस्कृति का बारंबार अपमान करने का प्रयत्न होता है. यह ठीक नहीं है.

इसी के साथ देवकीनंदन ठाकुर (Devkinandan Thakur) ने सभा में मौजूद लोगों को कहा की जो सनातन का अपमान करता है उसकी फ़िल्में दें.

ट्वीट कर भरी हुंकार

देवकीनंदन ठाकुर (Devkinandan Thakur) अपने मुखर विचार के लिए जाने जाते हैं. यहां उन्होंने पठान (Pathaan) फिल्म पर दृश्यों को लेकर सख्त विरोध किया वहीं उन्होंने ट्वीट करते हुये लिखा, #बॉलीवुड के #बेशर्म रंग में नहीं बल्कि #कान्हा रुपी रंग में रंगना चाहिए. इस ट्वीट पर जमकर लोगों की प्रतिक्रिया आ रही है.

ईशनिंदा कानून की मांग करते रहे हैं कथावाचक

पठान (Pathaan) फिल्म से पहले देवकी नंदन ठाकुर (Devkinandan Thakur) ने बॉलीवुड (Bollywood) पर सनातन परंपरा को खत्म करने का आरोप लगा चुके हैं. उन्होंने इंटरव्यू के दौरान कहा, ”बॉलीवुड (Bollywood) हमारे भगवान और सनातन धर्म को टारगेट कर रहा है. कई जगह तो ऐसे दृश्य दिखाये जा रहे हैं जो बहुत ही गलत हैं. जिस तरह भगवान शंकर का बॉलीवुड (Bollywood) ने अलग दृश्य दिखाया गया. मां काली को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया, जो अपमान है. इस पर अंकुश लगाने के लिए सरकार को ईश निंदा कानून बनाना चाहिए.” गौरतलब है कि प्रसिद्ध कथावाचक देवकीनन्दन ठाकुर (Devkinandan Thakur) ने सनातन धर्म के अपमान पर अंकुश लगाने के लिए कई बार सामने आ चुके हैं. फिलहाल बॉलीवुड में पठान (Pathaan) फिल्म को लेकर उनकी नाराजगी देखी जा रही है.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...