Sri Lanka में राष्ट्रपति भवन के भीतर घुसी गुस्साई भीड़, प्रधानमंत्री ने बुलाई आपात्तकाल बैठक

ज़रूर पढ़ें

”बैरिकेड्स को तोड़ते हुए हजारों प्रदर्शनकारी आवास के मुख्य द्वार पर पहुंचे और पुलिस को इस इलाके से पीछे हटते हुए देखा गया. हवा में चलाई गई गोलियों की आवाज सुनी गई और लगातार आंसू गैस के गोले दागे जाते रहे”

आर्थिक संकट से जूझ रहा श्रीलंका इस वक़्त पाई पाई के लिए मोहताज हो गया है. सरकार पर जनता का प्रेशर बढ़ा हुआ है. हालात नियंत्रण से बाहर है. वहीँ श्रीलंका में शनिवार को प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के आवास को घेर लिया. यहां प्रदर्शनकारियों ने देश के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के आवास के आस पास जमकर नारेबाजी कि.

- Advertisement -

कहा जा रहा है कि राजपक्षे घर छोड़कर भाग गए हैं. कुछ समय पहले जब भारी बवाल के बीच श्रीलंका के पूर्व प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने इस्तीफा दिया था तो उन्हें आगजनी और हिंसक प्रदर्शनकारियों से बचने के लिए परिवार सहित घर छोड़कर भागना पड़ा था. 11 मई को तत्कालीन प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे पूरी परिवार के साथ भाग गए थे. उग्र भीड़ ने कोलंबो में राजपक्षे के सरकारी आवास को घेर लिया था.

मौजूदा हालातों को देखें तो श्रीलंका में सबकुछ बदतर स्थिति में हैं. सरकार, प्रशासन स्थितियों को काबू नहीं कर पा रहे हैं.
यह रक्षा सूत्रों की ओर से श्रीलंका के राष्ट्रपति राजपक्षे के भागने का दावा किया गया है. जबकि दूसरी तरफ प्रदर्शनकारियों ने सांसद रजिता सेनारत्ने के घर पर भी हमला किया है.

राष्ट्रपति भवन में घुसे प्रदर्शनकारी

- Advertisement -

श्रीलंका के अखबार कि रिपोर्ट्स अनुसार प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति भवन के भीतर घुस चुके हैं और उस पर कब्जा कर लिया है. जबकि इस बिच मीडिया टीवी चैनल के रिपोर्ट्स में देखा गया कि फुटेज में श्रीलंकाई झंडा और हेलमेट पकड़े प्रदर्शनकारियों को राष्ट्रपति भवन के भीतर घुसते हुए देखा जा सकता है. यहां दावा है कि सैंकड़ों प्रदर्शनकारी श्रीलंका के राष्ट्रपति भवन के भीतर नारे लगा लगा रहे हैं.

प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए हुआ हवाई फायरिंग

रिपोर्ट्स के मुताबिक राष्ट्रपति भवन को घेरी गुस्साई भीड़ को रोकने के लिए पुलिस ने हवा में फायरिंग की लेकिन उन्हें रोक नहीं पाई.

रिपोर्ट में कहा गया, ‘बैरिकेड्स को तोड़ते हुए हजारों प्रदर्शनकारी आवास के मुख्य द्वार पर पहुंचे और पुलिस को इस इलाके से पीछे हटते हुए देखा गया. हवा में चलाई गई गोलियों की आवाज सुनी गई और लगातार आंसू गैस के गोले दागे जाते रहे.

प्रधानमंत्री ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग

बिगड़ते हालात के बिच श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने स्थिति पर चर्चा करने और त्वरित समाधान के लिए पार्टी नेताओं की आपात बैठक बुलाई है.

प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे ने स्पीकर से संसद सत्र बुलाने की अपील की है. श्रीलंका पोदुजाना पेरामुना (एसएलपीपी) के 16 सांसदों ने एक पत्र में राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे से तत्काल इस्तीफा देने का अनुरोध किया है.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...