30 हजार की सैलरी, 44 लाख का बीमा, 4 साल की नौकरी. जानिए युवाओं के लिए क्या है अग्निपथ योजना?

ज़रूर पढ़ें

यह योजना रक्षा बलों के खर्च और आयु प्रोफाइल को कम करने की दिशा में सरकार के प्रयासों का एक हिस्सा है. योजना के तहत सशस्त्र बलों का युवा प्रोफाइल तैयार करने का प्रयास किया जा रहा है. यह उन्हें नई तकनीकों के लिए प्रशिक्षित करने और उनके स्वास्थ्य के स्तर में सुधार करने में मदद करेगा

भारत को मजबूत बनाने में एक अहम भूमिका देश के वीर जवानों की होती है. बीते कुछ सालों में सेना के अंदर कई महत्वपूर्ण नियमों में सुधार किये गए.

- Advertisement -

देश के युवा सपने संजोते हैं कि सेना में भर्ती हों. ऐसे में भारत में सुरक्षा के हिसाब से अब एक सराहनीय कदम उठाया गया है. आज केंद्रीय रक्षा मंत्री ने सैनिकों की भर्ती के लिए आज औपचारिक तौर पर अग्निपथ योजना का ऐलान कर दिया.

यहां केंद्र सरकार ने सेना भर्ती के नियमों में बड़ा बदलाव किया है. अब भारत सरकार सेना में अग्निपथ योजना के तहत भर्तियां करेगी. जिसमे खासतौर पर युवाओं को एक बड़ा तोहफा दिया गया है.

अग्निपथ स्किम क्या है

- Advertisement -

अग्निपथ योजना या स्किम आपको देश की सेवा करने का एक सुनहरा मौका देता है. भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 14 जून 2022 के दिन भारत की तीनों सेनाओं के लिए ‘अग्निपथ योजना’ शुरू की है.

इस योजना पर चारो तरफ से सरकार की पहल को सराहा जा रहा है. यहां Agnipath Yojana के तहत देश की तीनों सेनाओं में बड़ी संख्या में युवाओं की भर्ती की जाएगी, इस स्कीम के तहत उन लोगों को भारत की रक्षा करने का अवसर मिलेगा जो डिफेंस सर्विस में जाना चाहते हैं.

भारत के Defense Minister Rajnath Singh ने देश के तीनों सेना के सेनाध्यक्षों के नाम प्रेस नोट जारी करते हुए इस योजना के बारे में बताया है.

भारतीय सेना में भर्ती के लिए नए नियम लागू हुये. केंद्र सरकार ने आज से ‘अग्निपथ भर्ती योजना’ शुरू की है. केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने नई योजना लॉन्च करते हुए कहा कि इससे युवाओं को सेना में भर्ती होने का मौका मिलेगा.

केंद्रीय रक्षा मंत्री ने कहा कि यह योजना रक्षा बलों के खर्च और आयु प्रोफाइल को कम करने की दिशा में सरकार के प्रयासों का एक हिस्सा है.

योजना के तहत सशस्त्र बलों का युवा प्रोफाइल तैयार करने का प्रयास किया जा रहा है. यह उन्हें नई तकनीकों के लिए प्रशिक्षित करने और उनके स्वास्थ्य के स्तर में सुधार करने में मदद करेगा.

महिलाओं को भी मिला बराबर अवसर

अग्निपथ योजना के तहत सेना में शामिल होने वाले युवाओं को ‘अग्निवीर (Agniveer)’ कहा जाएगा. सैनिकों की भर्ती में महिलाएं भी अप्लाई कर सकती हैं.

क्या होगी नामांकन प्रक्रिया?

. उम्मीदवारों का नामांकन सेवा अधिनियम के तहत 4 साल के सेवाकाल के लिए

. चयन प्रक्रिया में फिलहाल कोई बदलाव नहीं होगा

. मेरिट और 4 साल के सेवाकाल के दौरान किए प्रदर्शन के आधार पर केंद्रीयकृत और पारदर्शी मूल्यांकन

. 100% उम्मीदवार वालंटियर के तौर पर रेगुलर काडर के लिए आवेदन कर सकते हैं.

अग्निपथ योजना के तहत ‘अग्निवीरों’ की भर्ती

योजना की शुरुआत भारतीय थल सेना (Indian Army) भारतीय वायुसेना (Indian Air force) और भारतीय नौसेना ( Indian Navy) की उपस्थिति में हुई. इसमें बताया गया की सेना में अग्निपथ योजना के तहत ‘अग्निवीरों’ की भर्ती होगी.

जहाँ देश के 45 हज़ार युवाओं को 4 साल के लिए थल, नभ और जल सेना में भर्ती किया जाए, इससे देश में यंग आर्म्स फाॅर्स तैयार होगी, इससे सरकार को भी यह फायदा होगा कि हर साल डिफेन्स में खर्च होने वाली सैलरी और पेंशन का बजट कम होगा और नए लोगों को रोजगार मिलेगा।

आवेदकों की योग्यता

अग्निपथ स्‍कीम में भर्ती के लिए आवेदकों की आयु 17 साल 6 महीने से 21 महीने के बीच होनी जरूरी होगी.

युवाओं को ट्रेनिंग पीरियड समेत कुल 4 वर्षों के लिए आर्म्‍ड सर्विसेज़ में सेवा का मौका मिलेगा. भर्ती सेना के तय नियमानुसार की जाएगी.

आर्थिक पैकेज क्या होगी?

सरकार द्वारा तय नियमों के अनुसार हर साल 45 हज़ार युवाओं को तीनों सेनाओं में भर्ती करने के बाद उन्हें हर महीने 30-40 हज़ार रुपए की तनख्वाह दी जाएगी, इसके अलावा वह सभी लाभ मिलेगें जो एक सैनिक को मिलते हैं. जैसे सम्मान, मेडल, इंश्योरेंस कवर जैसे लाभ प्राप्त कर पाएंगे.

भत्ता क्या मिलेगा?

यहां आवेदकों को एनुएल पैकेज के साथ कुछ भत्‍ते भी मिलेंगे जिसमें रिस्‍क एंड हार्डशिप, राशन, ड्रेस और ट्रैवल एलाउंस शामिल होंगे. सेवा के दौरान डिसेबल होने पर नॉन-सर्विस पीरियड का फुल पे और इंट्रेस्‍ट भी मिलेगा. ‘सेवा निधि’ को आयकर से छूट दी जाएगी.

अग्निवीर ग्रेच्युटी और पेंशन संबंधी लाभों के हकदार नहीं होंगे. अग्निवीरों को भारतीय सशस्त्र बलों में उनकी अवधि के लिए 48 लाख रुपये का गैर-अंशदायी जीवन बीमा कवर प्रदान किया जाएगा.

इतने महीने की होगी ट्रेनिंग

कोरोना महामारी के आक्रमण के चलने पिछले 2 साल से सेना में भर्ती रुकी है. ऐसे में अग्निपथ स्किम के तहत राष्ट्र सेवा करने वाले युवाओं को 6 महीने की ट्रेनिंग दी जाएगी.

बता दें कि पहले नए सैनिकों को 9 महीने की ट्रैनिंग लेनी होती थी और वेतनमान भी कम मिलता था. लेकिन भारत सर्कार के इस नयी योजना में काफी कुछ बदलाव हो रहा है.

अग्निपथ योजना की कुछ खास बातें

. पहली बहाली में करीब 46500 वैकेंसी

. 40 हजार पद आर्मी के लिए बाकी अन्य सेवाओं के लिए

. सेवा निधि पैकेज के तहत करीब 12 लाख रुपये मिलेंगे

. शहीद होने पर 48 लाख अंशदायी बीमा, 44 लाख अनुग्रह राशि और सेवा अवधि का बकाया वेतन

. सामान्य मृत्यु होने पर 48 लाख का बीमा मिलेगा

4 साल बाद अग्निवारों को मिलेगा खास मौका

देश सेवा की अवधि के दौरान, अग्निवीरों को विभिन्न सैन्य कौशल और अनुभव, अनुशासन, शारीरिक फिटनेस, नेतृत्व गुण, साहस और देशप्रेम की ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी. कार्यकाल के बाद, अग्निवीरों को नागरिक समाज में शामिल किया जाएगा जहां वे राष्ट्र निर्माण की प्रक्रिया में योगदान दे सकते हैं.

यहां हर एक अग्निवीर द्वारा प्राप्त कौशल को उसके यूनीक बायोडाटा का हिस्सा बनने के लिए एक प्रमाण पत्र सौंपा जायेगा.

- Advertisement -

Latest News

PM मोदी से आम आदमी कैसे कर सकता है बात? जाने नंबर, एड्रेस से लेकर ईमेल आईडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इतने लोकप्रिय हैं कि उनके सोशल मीडिया साइट्स पर करोड़ो फॉलोवर्स हैं. ऐसे में उनसे जुड़े...

अन्य आर्टिकल पढ़ें...