एक ऐसी जगह जहां नहीं होता कभी अँधेरा, रात 2 बजे भी सड़क पर खेलते हैं बच्चे!

ज़रूर पढ़ें

दुनिया में एक ऐसी रहस्य्मयी जगह भी मौजूद है, जहां सूरज डूबता ही नहीं है. बच्चे यहां रात-रात भर सड़क किनारे खेलते हुए नज़र आते हैं

इस रहस्य से भरी दुनिया में हर दिन का सूरज कई चौका देने वाले तथ्यों के साथ उगता है. पर इसी दुनिया में एक ऐसी जगह भी है जहां सूरज ढलता ही नहीं. अगर हम आपसे कहे की एक पल के लिए आप मान लीजिये की अगर सूरज न ढले तो आप क्या कहेंगे? प्रकृति की एक ही रीत है, सुबह सूरज से रात चाँद से. अगर सूरज न ढले तो हम चांदनी रात का कभी आनंद ही नहीं उठा पाएंगे. लेकिन आपको क्या पता है एक ऐसी जगह है जहां लोग रात को नहीं देख पाते हैं? जहाँ बच्चे रात होने पर भी 2-2 बजे सड़कों पर खेलते हैं.

जगह जहां नहीं होती रात!

कभी आपने ये सोचा है की अगर रात न हो तो हम आराम कब करेंगे? हम सोयेंगे कब, और रात का खाना कब खाएंगे? दिन और रात होने वाले कांसेप्ट के कारण हम अपने 24 घंटे को अलग-अलग हिस्सों में बाट पाते हैं. लेकिन क्या हो जब ऐसा हो ही न? जब एक समयानुसार दिन और रात की परस्पर गतिविधियां न चल रही हो. तो हमारे सामने कई मुश्किलें बढ़ जाती है. लेकिन इस दुनिया में ही एक ऐसी जगह है जहां आपको रात देखने को नहीं मिलेगा. चलिए जानते हैं की वो जगह आखिरकार है कौनसी?

सूरज को लेकर चौका देने वाली बात

नॉर्वे में एक ऐसा आइलैंड मौजूद है, जहां साल के कुछ महीने ऐसे गुजरते हैं, जिसमें सूरज ढलता ही नहीं है. बता दें की Sommarøy  पर मई से लेकर जुलाई तक का कुल 70 दिन ऐसा होता है, जहां सूरज कभी डूबता ही नहीं.

ये बात तो हैरान करने वाली है ही, लेकिन अब जो हम आपको बताएँगे उसे सुनकर आपकी आँखे खुली की खुली रह जाएंगी. बता दें की इन 70 दिनों के बाद अगले 3 महीने कुछ इस प्रकार होते हैं, जब सूरज ही नहीं निकलता. मतलब 70 दिन के 24 घंटे में उजाला रहता है और 3 महीने के 24 घंटे में सिर्फ अंधेरा रहता है.

घड़ी का नहीं करते इस्तेमाल!

नॉर्वे में मौजूद इस आइलैंड Sommarøy में जब सूरज को लेकर ही चमत्कारी घटना जुडी है, तो यहां के लोगों का मानना है की 70 दिनों का उजाला इनके लिए बहुत कम समय है, वो कहते हैं की रात-रात भर किसी भी काम को कर सकते हैं. कई लोगों का कहना ये है की वो घड़ियों का इस्तेमाल नहीं करते क्योंकि उनके पास समय की कोई पाबंदी नहीं है. लेकिन कई बिज़नेस और होटल के काम में घड़ी का इस्तेमाल करते हैं.

CONTENT: NIKITA MISHRA

- Advertisement -

Latest News

अन्य आर्टिकल पढ़ें...